Header 300×250 Mobile

रोहतास जिले में शराब पार्टी करते 6 मुखिया समेत 19 गिरफ्तार

रोहतास में पंचायत प्रतिनिधियों की कॉकटेल पार्टी तो मधुबनी में भाजपा जिलाध्यक्ष ने छलकाये जाम

- Sponsored -

548

- Sponsored -

- sponsored -

रोहतास जिले के दरिगांव में छह मुखिया के साथ एक पैक्स अध्यक्ष भी धराया

पुलिस ने नशे में धुत कुल 19 लोगों को दबोचा, मेडिकल जांच में शराब पीने की हुई पुष्टि

पार्टी में जुटे थे सासाराम व चेनारी प्रखंड के पंचायत प्रतिनिधि, छापेमारी में पिस्टल भी बरामद

सासाराम (voice4bihar news)। जिस राज्य में शराबबंदी कानून लागू हो, वहां के जनप्रतिनिधि ही अगर शराब का खुल्लम-खुला सेवन करें तो कानून की प्रासंगिकता पर सवाल उठना लाजिमी है। रोहतास जिले के दरिगांव थाना क्षेत्र में शराब पार्टी करते 6 पंचायतों के मुखिया/मुखिया पति व एक पैक्स अध्यक्ष समेत कुल 19 लोगों को पुलिस ने धर दबोचा है। यह पार्टी ऐसे वक्त में आई है, जब कोरोना काल के कारण स्थगित पंचायत चुनाव की फिर से आहट सुनाई देने लगी है। उधर मधुबनी के झंझारपुर में भाजपा जिलाध्यक्ष का जाम छलकाते वीडियो वायरल हो रहा है।

त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों की शराब पार्टी का दूसरा बड़ा मामला उजागर

करीब दो माह पूर्व भोजपुर जिला मुख्यालय आरा में नगर निगम के वार्ड पार्षदों की ग्रैंड शराब पार्टी का मामला अभी थमा भी नहीं था कि राज्य के मधुबनी व रोहतास जिलों में जनप्रतिनिधियों की शराब पार्टी जगजाहिर हो गयी। रोहतास जिले के दरिगांव थाना अंतर्गत दरिगांव कस्बे में स्थित एक मकान में ग्रैंड पार्टी चल रही थी। इसमें स्थानीय मुखिया राजू पासवान समेत छह मुखिया/मुखिया पति व एक पैक्स अध्यक्ष के अलावा अन्य लोग शामिल थे। इस बात की भनक लगते ही स्थानीय पुलिस ने दबिश देकर 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया। मौके से शराब की बोतलों के अलावा दो पिस्टल व कारतूस भी बरामद हुए हैं।

SDPO ने कहा-पंचायत सरकार भवन में पुलिस ने की छापेमारी

बताया जाता है कि दरिगांव में शराब पार्टी आयोजित होने की सूचना पर पुलिस ने छापेमारी की। सासाराम अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (SDPO) अरविंद प्रताप सिंह ने बताया कि पुलिस टीम ने दरिगांव स्थित पंचायत सरकार भवन में दबिश दी, जहां नशे की हालत में 19 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार लोगों में दरिगांव पंचायत के मुखिया राजू पासवान, आलमपुर के मुखिया विजय पासवान, हाटा (चेनारी) के मुखिया पारस पासवान, बिश्रामपुर के मुखिया धर्मेंद्र सिंह, छोटका केनार पंचायत के अनिल सिंह, सदोखर पंचायत के मुखिया मुन्ना सिंह, उगहनी पंचायत के राजवंश पासवान के अलावा सदोखर पैक्स पंचायत के अध्यक्ष कृष्णा सिंह शामिल हैं।

सिर्फ शराब पीना था मकसद…, या किसी बड़ी सियासत का मोहरा बने मुखिया!

SDPO एपी सिंह ने बताया कि छापेमारी में गिरफ्तार पंचायत प्रतिनिधियों समेत सभी 19 लोगों का अल्कोहल टेस्ट कराया गया। ब्रेथ एनाइजर मशीन से शराब पीने की पुष्टि होने के बाद इन्हें रोहतास मंडल कारा भेज दिया गया। मौके से बरामद पिस्तौल के बारे में SDPO ने बताया कि यह लाइसेंसी पिस्तौल है, जिसे पुलिस ने सीज कर लिया है। हालांकि पुलिस अब तक स्पष्ट नहीं कर पाई है कि शराब की पार्टी में पिस्तौल के साथ बैठे जनप्नतिनिधियों को मकसद सिर्फ शराब पीना था, या कुछ और! इस बीच क्षेत्र में तरह-तरह की सियासी चर्चाएं चल रही है।

कई धाराओं में दर्ज होगी FIR, लंबे समय के लिए जेल भेजने की तैयारी

विज्ञापन

बहरहाल पुलिस इस मामले में एफआईआर दर्ज करने की प्रक्रिया में लगी है। आशंका है कि पंचायत चुनाव की आहट के बीच किसी बड़े राजनीतिक सांठगांठ के तहत इतने सारे जनप्रतिनिधि एकत्र हुए थे। जल्द ही होने वाले विधान परिषद चुनाव को लेकर भी चर्चा से इनकार नहीं किया जा सकता। ऐसे में इनके खिलाफ कई धाराओं में केस दर्ज कर लंबे वक्त के लिए सलाखों के पीछे डाला जा सकता है। इस बात का संकेत देते हुए SDPO एपी सिंह कहा कि पुलिस का प्रयास यह होगा कि सभी आरोपी आगामी पंचायत चुनाव के पहले रिलीज न हो पाएं।

राजू पासवान व रवींद्र सिंह थे पार्टी के आयोजक, विजय ने उपलब्ध कराई थी खस्सी

बताया जाता है कि शराब पार्टी के आयोजक राजू पासवान व रवींद्र सिंह थे। रवींद्र के मकान में ही पार्टी का आयोजन किया गया था। दारू के साथ मीट खाने का इंतजाम रखा गया था, इसके लिए आलमपुर के मुखिया विजय पासवान ने खस्सी का इंतजाम किया था। सूत्रों की मानें तो रवींद्र सिंह मनरेगा योजना का वेंडर है और दरिगांव पंचायत के मुखिया राजू पासवान का करीबी मित्र होने के कारण पंचायत के संचालन में भी हस्तक्षेप रखता था। माना जा रहा है कि किसी स्रोत से बड़ी धनराशि मिलने की खुशी में पार्टी का आयोजन किया गया था।

पहले भी जेल जा चुके हैं कई लोग, कुछ के खिलाफ दर्ज हैं संगीन मामले

सूत्रों ने बताया कि दरिगांव पंचायत के मुखिया राजू पासवान व उनके दोस्त रवींद्र सिंह तथा बिश्रामपुर के धर्मेंद्र सिंह धर्मेंद्र सिंह पहले भी अलग-अलग मामलों में जेल जा चुके हैं। इसके अलावा कई मुखिया के खिलाफ संगीन मामले दर्ज हैं। राजू मुखिया पर नल जल योजना में गड़बड़ी करने के साथ ही पूर्व डीएम पंकज दीक्षित के निरीक्षण के दौरान शराब पीकर सामने आने का केस दर्ज है। विश्रामपुर के धर्मेंद्र सिंह भी दो बार जेल जा चुके हैं।

आरा में एक वार्ड पार्षद व चार पार्षद पतियों समेत 18 की हुई थी गिरफ्तारी

विगत 26 मई को भी भोजपुर जिला मुख्यालय आरा में जनप्रतिनिधियों की शराब पार्टी का खुलासा हुआ था। इसमें एक वार्ड पार्षद, चार पार्षद पति और एक पार्षद का भाई शामिल था। यह गिरफ्तारी आरा नगर थाना क्षेत्र के भलुहीपुर में हुई थी, जहां पुलिस ने एक राइफल, 133 गोलियां, साढ़े सात लाख रुपए और शराब की भरी व खाली बोतलें भी बरामद की थी।

यह भी देखें : आरा में शराब पार्टी मनाते पार्षद और पार्षद पति सहित 18 गिरफ्तार

मधुबनी में भाजपा जिलाध्यक्ष ने भी टकराया जाम, वीडियो वायरल

मधुबनी में वायरल वीडियो में शराब की बोतल व ग्लास के साथ दिख रहे भाजपा जिलाध्यक्ष।

दूसरी ओर बिहार के मधुबनी जिला अंतर्गत भाजपा के झंझारपुर जिलाध्यक्ष सीयाराम साह का शराब एवं सिगरेट पीते हुए वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। वायरल वीडियो में एक टेबल पर विदेशी शराब की आधा से अधिक खाली शराब की बोतल और ग्लास में शराब भरा हुआ दिखाई दे रहा है। पार्श्व में अंग्रेजी गाने के बोल भी सुनाई दे रहे हैं। हालांकि इस पार्टी में सीयाराम साह के अगल-बगल बैठे लोगों का चेहरा वायरल वीडियो में नहीं दिख रहा है। हालांकि सीयाराम साह ने वायरल वीडियो को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि हम अतिपिछड़ा वर्ग से आते हैं और साजिश के तहत मुझे फंसाने के लिए जाल बिछाया जा रहा है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT