Header 300×250 Mobile

शराब पार्टी में गिरफ्तार सभी मुखिया की मुखियागिरी भी जाएगी, परामर्श समिति के अध्यक्ष पद से धोना पड़ेगा हाथ !

पंचायत परामर्श समिति से हटाने के लिए सरकार को अनुशंसा करेगा जिला प्रशासन

- Sponsored -

528

- sponsored -

- Sponsored -

रोहतास के दरिगांव में शराब पार्टी करते पकड़े गए थे 7 जनप्रतिनिधियों समेत 19 लोग

गिरफ्तार लोगों में 4 मुखिया , 2 मुखिया पति , एक पूर्व पैक्स अध्यक्ष व पार्टी का आयोजक शामिल

रोहतास से अभिषेक कुमार के साथ बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news। रोहतास जिले के दरिगांव में शराब पार्टी के दौरान पकड़े गए छह मुखिया की मुखियागिरी पर भी संकट आ गया है। पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल खत्म होने के बाद भी परामर्श समिति के अध्यक्ष के रूप में इनकी मुखियागिरी बरकरार है, लेकिन यह अधिक दिनों तक चलने वाला नहीं है। जिला प्रशासन ने ऐसे मुखिया को पद से हटाने के लिए राज्य सरकार को अनुशंसा भेजने की कवायद शुरू कर दी है।

इस प्रकरण के सामने आने के बाद रोहतास के जिलाधिकारी धर्मेन्द्र कुमार ने कहा कि यह काफी गंभीर मामला है। पुलिस की कार्रवाई के साथ – साथ जिला प्रशासन ने भी इस मामले में संज्ञान लिया है। डीएम ने कहा कि पंचायती राज संस्थाओं के संचालन के लिए पंचायत में मुखिया को पंचायत परामर्श समिति का अध्यक्ष बनाया गया है। ऐसे में नशे के हालत में पकड़े गए सभी मुखिया को परामर्श समिति से हटाने के लिए राज्य सरकार को पत्र लिखा जाएगा।

जिले के चार मुखिया पर गिर सकती है गाज

उल्लेखनीय है कि रविवार की रात दरिगांव थाना क्षेत्र के दरिगांव में शराब पार्टी कर रहे लोगों में चार मुखिया , दो मुखिया पति के अलावा एक पूर्व पैक्स अध्यक्ष शामिल थे। यहां पकड़े गए कुल 19 लोगों को ब्रेथ एनालाइजर से जांच कराने पर 18 लोगों में शराब पीने को पुष्टि हुई है। छापेमारी में 1.25 लीटर देशी शराब के अलावा दो लाइसेंसी पिस्टल व 23 कारतूस भी बरामद किये गए थे। सोमवार को जहां इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के बाद जेल भेजने की कार्रवाई में पुलिस अफसर लगे रहे, तो दूसरी तरफ जिले की सियासत में भी हलचल देखने को मिली।

विज्ञापन

शराब पार्टी में शामिल इन लोगों को हुई है गिरफ्तारी

पुलिस अधीक्षक आशीष भारती ने मीडिया को पूरे मामले की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि अपने घर में शराब पार्टी करने वाले दरिगांव निवासी रविंद्र सिंह व दरिगांव पंचायत के मुखिया राजू पासवान समेत 19 लोगों को पकड़ा गया है। इनमें आलमपुर के रहने वाले राम प्रवेश पासवान, शिवसागर थाना क्षेत्र के शाहपुर निवासी दीनानाथ सिंह, चेनारी थाना क्षेत्र के रहने वाले मुखिया पति पारस पासवान, गोविंद पासवान, आलमपुर पंचायत के मुखिया विजय पासवान के नाम शामिल हैं।

शराब पार्टी के स्पॉट पर छापेमारी में बरामद आर्म्स।
शराब पार्टी के स्पॉट पर छापेमारी में बरामद आर्म्स।

इसके साथ ही भोजपुर जिले के पीरो निवासी लालबाबू सिंह, शिवसागर थाना क्षेत्र के शाहपुर निवासी संजय सिंह, चोर बड्डी के रंजीत सिंह, उगहनी पंचायत के मुखिया राजवंश पासवान, चेनारी के वैरिया के उमाशंकर सिंह, सासाराम मुफस्सिल थाना क्षेत्र के विश्रामपुर निवासी मुखिया पति धर्मेंद्र सिंह, नहौना पंचायत के मुखिया मुन्ना सिंह, अमित सिंह, दरिगांव के शिवजी सिंह, शिवमुनी पासवान, मुन्ना सेठ और पूर्व पैक्स अध्यक्ष कृष्णा सिंह को भी पुलिस ने शराब पार्टी स्थल से गिरफ्तार किया है ।

शराब कांड से पहले भी जेल की हवा खा चुके हैं राजू पासवान व धर्मेंद्र सिंह

शराब पार्टी में गिरफ्तार राजू पासवान व धर्मेंद्र सिंह का आपराधिक इतिहास रहा है। दोनों ही अलग अलग मामलों में जेल जा चुके हैं। धर्मेन्द्र सिंह पर महादलित की हत्या का मामला मुफस्सिल थाना कांड संख्या 139/19 के तौर पर दर्ज है तो राजू पासवान नल जल योजना का अप्राथमिकी अभियुक्त है। साथ ही शराब पीकर जिलाधिकारी से बात करने के मामले में राजू पासवान जेल की हवा खा चुका है। राजू पासवान दरिगांव थाना कांड संख्या 1488/18 का अप्राथमिकी अभियुक्त है और कांड संख्या 03 /19 का नामजद अभियुक्त है।

तत्कालीन डीएम के सामने शराब पीकर पहुंचा था मुखिया राजू पासवान

सूत्रों के अनुसार पंचायत में मिट्टी भराई का निरीक्षण करने पहुंचे तत्कालीन डीएम पंकज दीक्षित के साथ राजू पासवान की वार्ता हुई थी। उस वक्त राजू पासवान शराब के नशे में था। सहायक अवर निरीक्षक के बयान पर दर्ज एफआईआर में कहा गया है कि डीएम से मिलने पहुंचे मुखिया राजू पासवान के मुंह से शराब की बदबू आ रही थी। वजह पूछने पर उसने शराब पीने की बात स्वीकार की थी। मेडिकल जांच में पुष्टि होते के बाद उसे जेल भेजा गया था।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored