Header 300×250 Mobile

पोषण डैशबोर्ड एंट्री में बिहार में रोहतास प्रथम

रोहतास में तिलौथू बना नंबर वन परियोजना

- Sponsored -

259

- Sponsored -

- sponsored -

16 से 31 मार्च तक राज्य के सभी आंगनबाड़ी केंद्रों पर चल रहा पोषण पखवाड़ा

बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। मिनिस्ट्री ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट की ओर से विगत 16 मार्च से बिहार में जारी पोषण पखवाड़ा अभियान के दौरान पोषण जागरूकता अभियान कार्यक्रम के साथ साथ डैशबोर्ड एंट्री में रोहतास जिले को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। महिला एवं बाल विकास विभाग की ओर से संचालित इस अभियान में रोहतास ने यह कीर्तिमान हासिल किया है।

पोषण कार्यक्रम की डैश बोर्ड एंट्री में रोहतास जिला बिहार का नंबर वन साबित हुआ है। रोहतास को नंबर वन जिला साबित करने में तिलौथू परियोजना का सर्वाधिक सहयोग माना जा रहा है। रोहतास जिले में तिलौथू परियोजना ने कार्यक्रम आयोजन के साथ-साथ डैशबोर्ड एंट्री में अव्वल स्थान हासिल किया है।

विज्ञापन

राज्य में 31 मार्च तक चलेगा पोषण पखवाड़ा

विभागीय सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आगामी 31 मार्च तक पोषण पखवाड़ा के तहत मिनिस्ट्री ऑफ वूमेन एंड चाइल्ड डेवलपमेंट विभाग का कार्यक्रम संचालित रहेगा। इस दौरान हर जिले में आंगनबाड़ी क्षेत्र से जुड़े हर पोषक क्षेत्र में अनेक गतिविधियां संचालित हो रही हैं। इस अभियान के तहत बच्चों में होने वाले कुपोषण से बचाव व इससे होने वाली बीमारियों की रोकथाम के बारे में जागरूक किया जा रहा है।

पोषण डैशबोर्ड एंट्री में रोहतास का नंबर वन परियोजना बना तिलौथू।
पोषण डैशबोर्ड एंट्री में रोहतास का नंबर वन परियोजना बना तिलौथू।

इसके अलावा कुपोषित व अति कुपोषित बच्चों की पहचान व पोषण वाटिका के तहत पोषण युक्त पौधे लगाये जाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। जिन आंगनबाड़ी केंद्र पर पौधे लगाने के लिए स्थान उपलब्ध है, वहां सहेजन, पपीता, अमरूद व नींबू के पौधे लगाये जा रहे हैं। पोषण कार्यक्रम की डैश बोर्ड एंट्री इस कार्यक्रम का एक अहम हिस्सा है। इससे अभियान की प्रगति का पता चलता है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT