Header 300×250 Mobile

बिहार के सबसे बड़े बैंक लूट का पर्दाफाश , एचडीएफसी से लूटी गयी रकम बरामद

राज्य में चार बैंकों में हुई लूट का एक साथ खुलासा, सभी वारदातों में एक ही गिरोह का हाथ

- Sponsored -

378

- Sponsored -

- sponsored -

हाजीपुर में एचडीएफसी बैंक से लूटे गए थे 1.19 करोड़ रुपये करीब 88.67 लाख रुपये बरामद

वैशाली , मुजफ्फरपुर व समस्तीपुर जिले में गिरोह ने लूटे थे बैंक , विशेष टीम ने 9 लुटेरों को दबोचा

हाजीपुर (voice4bihar news)। बिहार के सबसे बड़े बैंक लूटकांड का उद्भेदन करते हुए पुलिस ने गिरोह के सरगना सहित 9 लुटेरों को लूट की बड़ी रकम के साथ घर दबोचा है । खास बात यह है कि पुलिस ने हाजीपुर स्थित एचडीएफसी से हुई 1.19 करोड़ को लूट का खुलासा करते हुए समस्तीपुर बैंक लूट कांड का भी उद्भेदन किया है। एक साथ 4 बैंक लूट की वारदातों का खुलासा करने वाली विशेष पुलिस टीम की वाहवाही होने लगी है।

वैशाली के एसपी मनीष कुमार ने मीडिया को बताया कि बीते सप्ताह हाजीपुर के एचडीएफसी बैंक से लूटे गए 1.19 करोड़ रुपये में से 93 लाख रुपये बरामद कर लिये गए हैं। साथ ही लूटकांड में शामिल नौ लुटेरों को आर्स के साथ गिरफ्तार किया गया है। इसके साथ ही पिछले दिनों समस्तीपुर व मुजफ्फरपुर में हुई लूट की घटनाओं से भी पर्दा उठाते हुए पुलिस ने लूटी गयी रकम बरामद कर ली है।

गिरफ्तार लुटेरों में दो महिलाएं भी शामिल

गिरफ्तार लुटेरों में मुजफ्फरपुर जिले के सकरा थाना क्षेत्र के केशोपुर गांव निवासी मो , लतीफ का पुत्र अरमान , अरमान की पत्नी अजमेरी खातून , सब्दुल्लहपुर गांव निवासी जगरनाथ सिंह का पुत्र ओमप्रकाश , केशोपुर सिमरी गांव के पप्पू सिंह का पुत्र प्रभात कुमार उर्फ गोलू , शहदूल्हपुर गांव के सुरेश भगत की पत्नी आशा देवी , बरियापुर बहादुरपुर गांव के अब्दुल हकीम का पुत्र मो आलिम , वैशाली जिले के वलिगांव थाना क्षेत्र के चंपापुर गांव निवासी विश्वनाथ दास के पुत्र राजीव कुमार उर्फ वुल्ला , गंगाबिज थाना क्षेत्र के नवादा कला गांव निवासी मो मुस्लिम का पुत्र खुर्शीद तथा अलाउद्दीन का पुत्र शौकत शामिल है।

बैंकों में ताबड़तोड़ लूट को अंजाम दे रहा था अंतरजिला गिरोह

विज्ञापन

बहुचर्चित एचडीएफसी बैंक से लूट मामले में करीब 38.67 लाख रुपये बरामद किये गए हैं । एसपी ने बताया कि राज्य के विभिन्न जिलों में हाल के दिनों हुई बैंक लूट में अंतरजिला गिरोह का हाथ है । वैशाली जिले के हाजीपुर में एचडीएफसी बैंक लूट , 29 अप्रैल को समस्तीपुर जिले के विक्रमपुर वादे स्थित केनरा बैंक में लूट , 19 मई को समस्तीपुर के ही ताजपुर एसवीआई शाखा में लूट तथा मुजफ्फरपुर जिले के सोनवर्षा में पीएनबी में लूट का प्रयास किया गया।

बीते तीन माह में राज्य में बैंक लूट की चार वारदातें

पुलिस ने बताया कि पिछले तीन महीनों के भीतर अपराधियों ने 3 जिलों में 4 बैंकों में लूट की वारदात को अंजाम दिया । इस सभी लूट की घटनाओं का उद्भेदन करने के लिए एक विशेष टीम गठित किया गया। टीम में समस्तीपुर , मुजपफरपुर जिला एव विशेष कार्य बल पटना की टीम के साथ इस बैंक लूट की घटना का उदभेदन किया गया। घटना के उद्भेदन के क्रम में दो महिलाओं सहित 9 लोगों को हिरासत में लिया गया।

इनमें अजमेरी खातून के पास से लूट के चार लाख रुपये , खुर्शीद व शौकत के पास से 50-50 हजार रुपये , अरमान के पास से 25.67 लाख 500 रुपये एवं घटना में प्रयुक्त पिस्टल की 6 चक्र गोली बदामद की गयी है। इनकी गिरफ्तारी वैशाली के भगवानपुर स्थित बस स्टैंड के पास से विशेष टीम पटना ने की है।

वहीं अजमेरी खातून की निशानदेही पर ओम प्रकाश को उसके ससुराल से 17.72 लाख रुपये , एक पिस्टल , 7 चक्र गोली एवं बाइक के साथ गिरफ्तार किया गया । इसी तरह अरमान की निशानदेही पर अलीम को मामा के घर से 2 लाख रुपये के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार सभी अपराधियों की निशानदेही पर इन्द्रसेन कुमार उर्फ भुल्ला के घर उसकी मां आशा देवी की निशानदेही पर 27 लाख रुपये एवं प्रभात कुमार उर्फ गोलू घर से 17 लाख रुपये बरामद किये गए।

बैंकों से लूटे गए 93 लाख रुपये से अधिक बरामद

इस प्रकार पूरे घटना क्रम अभी तक कुल 93 लाख 19 हजार 500 रुपये बरामद हुए हैं । इस गिरोह के एक अन्य अपराधी राजीव कुमार को ताजपुर बैंक से लूटी गई राशि के साथ गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार लुटेरों ने वैशाली जिले के महुआ एवं मुजफ्फरपुर जिले के दुबहा बैंक लूट की योजना के संबंध में भी खुलासा किया।

गिरफ्तार अपराधियों में से अधिकतर कई जिलों के बैंक लूट कांड में शामिल रहे हैं । इनके पास से घटना में शामिल दो पिस्टल , 13 गोली , तीन मोटरसाइकिल तथा सभी का कांड में पहने कपड़े भी बरामद किये गए हैं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT