Header 300×250 Mobile

दुष्कर्म की शिकायत दर्ज कराने के लिए थाना-दर-थाना भटकती रही नाबालिग

शौच के लिए निकली लड़की से चाकू के बल पर किया बलात्कार

- Sponsored -

380

- sponsored -

- Sponsored -

दो दिन बाद भी दुष्कर्म के आरोपित को नहीं पकड़ सकी पुलिस

जोगबनी (voice4bihar news)। बिहार के अररिया जिले के जोगबनी प्रखंड में एक दुष्कर्म पीड़िता को उस वक्त दोहरी यातना झेलनी पड़ी, जब रेप की शिकायत दर्ज कराने के लिए थाना-दर-थाना भटकने के लिए विवश किया गया। अररिया पुलिस की कार्यशैली का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि नामजद एफआईआर दर्ज होने के बावजूद आरोपित को पकड़ने में पुलिस नाकाम रही। पीड़ित नाबालिग अपनी मां के साथ अब भी न्याय के लिए दर-दर भटक रही है।

नाबालिग लड़की से जबरन जिस्मानी संबंध बनाने के प्रयास का यह मामला जोगबनी की सोनापुर पंचायत के एक गांव का है। जहां बीते सोमवार की शाम 7:30 बजे के लगभग नाबालिक लड़की अपने घर के बगल में  शौच के लिए गई थी। वहीं पर पूर्व से घात लगाए गांव के ही 32 वर्षीय  श्रवण पासवान नामक युवक ने नाबालिक लड़की को चाकू का भय दिखाकर जबरन उठा लिया एवं 100 की दूरी पर जाकर मकई के खेत में जबरन जिस्मानी संबंध बनाने की कोशिश की।

विज्ञापन

इस दौरान लड़की के हाथ व मुंह को कपड़े से बांध दिया था। छटपटाती हुई लड़की ने काफी मशक्कत के बाद अपने हाथ को किसी तरह खोल लिया और मुंह से कपड़ा को हटाते हुए चिल्लाने लगी। उसकी आवाज सुनकर लड़की का चचेरा भाई दौड़कर खेत की ओर आया तो अपनी बहन को आरोपी के चंगुल से छुड़ाया। इस बीच आरोपी युवक घटना स्थल से  फरार हो गया। इस घटना से गांव में तनाव का माहौल हो गया।

घटना के बाद आरोपी युवक के परिजनों ने पंचायत बुलाकर मामले में सुलह समझौता कर लेने का भरसक प्रयास किया। इस दौरान पीड़िता को आरोपी ने जान से मारने की धमकी तक दे डाली। आरोपित ने कहा कि पंचायत में ही मामला सुलझा लो। अगर थाना पुलिस या किसी और को सूचना दी तो जान से मार दी जाओगी। इस बात से बौखलाए पीड़िता के परिजनों ने पुलिस से शिकायत करने की ठान ली।

पीड़िता के माता पिता अपनी पुत्री को लेकर मंगलवार को महिला थाना अररिया गए जहां आवेदन लेने के बाद कहा गया कि मामला क्षेत्रीय थाना बथनाहा में पड़ता है। आप वहीं आवेदन दीजिए। जिसके बाद पीड़िता अपने माता-पिता के साथ गुरुवार को बथनाहा थाने आई, जहां यह करके लौटा दिया गया कि  महिला थाना में जब आवेदन दिया गया है तो यहां इसकी कोई जरूरत नहीं।

इसके बाद पीड़िता ने गुरुवार को महिला थाना अररिया जाकर पुनः न्याय की गुहार लगाई। आखिरकार महिला थाना के एएसआई अणिमा कुमारी ने सोनापुर पंचायत आकर मामले की जांच की। जांच के बाद महिला  एएसआई ने बताया कि पीड़िता द्वारा लगाये गए आरोप सत्य पाये गए हैं। मामला दर्ज कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored