Header 300×250 Mobile

हाजीपुर बैंक लूट कांड : बैंककर्मियों की कार्यशैली संदेह के घेरे में, पुलिस से भी हुई भारी चूक

एक्सिस बैंक कंचनपुर शाखा में दिनदहाड़े हुई थी 47 लाख से अधिक की लूट

- Sponsored -

205

- sponsored -

- Sponsored -

आरक्षी अधीक्षक समेत जिला पुलिस के वरीय अधिकारी छानबीन में जुटे

हाजीपुर (voice4bihar desk)। हाजीपुर मुख्यालय से 13 किलोमीटर की दूरी पर स्थित एक्सिस बैंक बिदुपुर कंचनपुर से तीन बाइक सवार छः अपराधियों ने बृहस्पतिवार को दिनदहाड़े 47 लाख की लूट की घटना को अंजाम दिया। बैंक लूट की यह जिले की सबसे बड़ी घटना है जिसे गुरुवार दोपहर साढ़े बारह बजे अंजाम दिया गया। ऊपर से यह मामला जितना सरल लगता है वहीं अंदर से काफी पेचीदा है। इसमें बैंककर्मियों की कार्यशैली के साथ ही पुलिस पर भी सवाल खड़े हो गए हैं।
 इतनी बड़ी राशि की लूट की घटना में कई और एंगल भी सामने आ सकते हैं। बैंकर्स द्वारा जो जानकारी पुलिस अधिकारयों को दी गई, उसके मुताबिक बीते तीन दिन पहले ही बैक गार्ड सुशील राय को नौकरी से हटाया गया था। इसके पीछे की वजह समेत पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। सवाल यह कि बैंक गार्ड को हटाने की एक प्रक्रिया होती है, जिसका यहां पालन नहीं हो सका। इसकी सूचना बैंक अफसरों ने न तो पुलिस को दी और न हीं आला अधिकारियों के संज्ञान में दिया। वैसे पुलिस की ओर से भी इस मामले में बड़ी चूक हुई है। रेगुलर विजिट के तहत स्थानीय पुलिस की गाड़ी इस वारदात से सिर्फ एक डेढ़ घंटे पहले ही बैंक पहुंची थी, लेकिन उसने भी बैंक गार्ड के नहीं रहने की रिपोर्ट नहीं की। ऐसे में देखना है कि पुलिस की जांच में आगे क्या मोड़ आता है।

विज्ञापन

छह अपराधियों ने पिस्टल सटाकर लूटी थी रकम
हाजीपुर महनार रोड कंचनपुर किड्स केयर स्कूल के कैम्पस के आउटर पर एक्सिस बैंक की शाखा है । गुरुवार को तीन बाइक से छः अपराधी बैंक के पास रुके । जिनमें से तीन सड़क पर बाइक के साथ खड़े थे और तीन बैंक के अंदर घुसे। इन तीनों में से एक ने हेलमेट पहन रखा था। उसने बैंक के कैशियर की कनपटी पर पिस्टल सटाई और उसे कवर कर कैश रूम में ले गया। वहां कैश बॉक्स की रकम की लूट की। रकम लेने के क्रम में बारी बारी से एक – एक कर कैशियर को कवर करते हुए तीनों ने अपने जैकेट में कैश बॉक्स के करीब पच्चास लाख रुपये लेकर चले गए।

बयान दर्ज करते पुलिस अफसर।

छह एंड्रायड मोबाइल भी ले गए लुटेरे
घटना के सम्बन्ध में यह जानकारी ब्रांच मैनेजर विशाल कुमार , कर्मी रणधीर ठाकुर , कैशियर गौरव कान्त आदि ने पुलिस को बताई गई। साथ ही यह भी बताया गया कि लुटरे छह एंड्रॉयड मोबाइल भी लेकर गये है । जिले में बैक लूट की सबसे बड़ी घटना के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कम्प मच गई। जिसके बाद कई थाने की पुलिस सहित डीआईओ की टीम , सदर एसडीपीओ एवं आरक्षी अधीक्षक मनीष कुमार मौके पर उपस्थित हुए। बाद में डीआईजी ने भी मामले की तहकीकात की।
आरक्षी अधीक्षक ने बताया कि फिलवक्त सीसीटीवी फुटेज में छः अपराधियो द्वारा घटना को अंजाम दिए जाने की पुष्टि हुई है। लूट की रकम 47 लाख से अधिक की है जो बढ़ भी सकती है । पुलिस अपराधियों को जल्द ढूंढ निकालेगी। मैनेजर विशाल कुमार व कैशियर गौरवकान्त ने बताया कि उनकी शाखा का एवलेबल कैश 40 लाख रुपये है जिसके बाद गुरुवार को जमा हुई राशि और पहले की राशि थी, जिसकी लूट हुई है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored