Header 300×250 Mobile

कोरोना से बिहार में 24 घंटे में 24 मरे

सरकार ने तय की निजी अस्पतालों में कोरोना संक्रमितों के इलाज की दर

- Sponsored -

139

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। बिहार में पिछले 24 घंटे में सरकारी आंकड़ों के अनुसार कोरोना से 24 लोगों की मौत हो गयी वहीं 6100 से ज्यादा नये मामले सामने आये हैं। माना जा रहा है कि वास्तविक आंकड़ा इससे अलग हो सकता है। इस बीच राज्य सरकार ने निजी अस्पतालों में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए शुल्क तय कर दिया है। शुल्क का निर्धारण शहर और अस्पताल की एनएबीएच मान्यता के आधार पर किया गया है।

तीन श्रेणियों में बांटे गये राज्य के शहर, पटना ए में

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग ने शहरों को तीन श्रेणियों में बांटा है। श्रेणी ए में केवल पटना जबकि श्रेणी बी में भागलपुर , मुजफ्फरपुर , दरभंगा, गया एवं पूर्णिया को रखा गया है। शेष शहरों को श्रेणी सी में रखा गया है । श्रेणी ए के एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पताल में सामान्य रूप से बीमार आइसोलेशन बेड ऑक्सीजन के साथ सपोर्टिव केयर 10 हजार रुपये, गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के बगैर आईसीयू में देखभाल के लिए 15 हजार एवं अति गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए 18 हजार रुपये निर्धारित की गई है ।

विज्ञापन

श्रेणी – ए के अस्पताल जो एनएबीएच मान्यता प्राप्त नहीं हैं, वहां सामान्य रूप से बीमार आइसोलेशन बेड ऑक्सीजन के साथ सपोर्टिव केयर के लिए आठ हजार रुपये, गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के बगैर आईसीयू में देखभाल के लिए 13 हजार एवं अति गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए 15 हजार रुपये शुल्क निर्धारित की गई है।

श्रेणी – बी के जिले में स्थित श्रेणी- ए के निजी अस्पतालों के दरों का क्रमशः 80 प्रतिशत अधिकतम शुल्क निर्धारित किया गया है। इनमें एनएबीएच मान्यता प्राप्त अस्पताल में सामान्य रूप से बीमार आइसोलेशन बेड ऑक्सीजन के साथ सपोर्टिव केयर आठ हजार रुपये, गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के बगैर आईसीयू में देखभाल के लिए 12 हजार एवं अति गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए 14,400 रुपये निर्धारित की गई है।

श्रेणी – बी के अस्पताल जो एनएबीएच मान्यता प्राप्त नहीं हैं, को सामान्य रूप से बीमार आइसोलेशन बेड ऑक्सीजन के साथ सपोर्टिव केयर 6,400 रुपये, गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के बगैर आईसीयू में देखभाल के लिए 10,400 एवं अति गंभीर रूप से बीमार वेंटिलेटर के साथ आईसीयू में देखभाल के लिए 12 हजार रुपये निर्धारित की गई है।

इधर, पिछले 24 घंटे में राजधानी पटना में 2105, भागलपुर में 601 और गया में 431 नये कोरोना संक्रमितों की पहचान की गयी है। इनके अलावा मुजफ्फरपुर 265, बेगूसराय 174, सारण 171, औरंगाबाद 165, मुंगेर 147, जहानाबाद 131, सीवान 123, सहरसा 112, नालंदा 109, रोहतास 107 और वैशाली में 105 नये कोरोना संक्रमितों का पता चला है। राज्य में बृहस्पतिवार तक कोरोना के कुल 29,078 एक्टिव मामले हैं।राज्य में कोरोना मरीजों के दुगुने होने की रफ्तार भी काफी ते हो गयी है। अब केवल चार दिन में ही एक्टिव मरीज दुगुने हो जा रहे हैं। 11 अप्रैल को राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 14,695 जो आज बढ़कर 29,078 हो गयी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored