Header 300×250 Mobile

बिहार के बहुचर्चित लोहा पुल चोरी का मुख्य अभियुक्त गिरफ्तार

झारखंड, औरंगाबाद और रोहतास का चार्जशीटेड मुजरिम है गांधी चौधरी

- Sponsored -

802

- Sponsored -

- sponsored -

रोहतास जिले के नासरीगंज में पुराने आयरन ब्रिज को चुराने में था शामिल

गांधी पर दर्ज हैं डेढ़ दर्जन केस, रोहतास पुलिस की एसआईटी को थी सरगर्मी से तलाश

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट
सासाराम (voice4bihar news)। रोहतास जिले में बहुचर्चित 60 फीट लम्बे लोहे के पुल चोरी के मामले में मुख्य आरोपी गांधी चौधरी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बताते चलें कि नासरीगंज के पास अमियावर गांव में बीते 4 अप्रैल को 60 फीट लंबा एक पुराने लोहे के पुल की चोरी का मामला प्रकाश में आया था। पुल चोरी का मामला राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मीडिया में सुर्खियों में था।

जांच आगे बढ़ी तो विभागीय इंजीनियर समेत कई अधिकारी भी नप गए थे। चोरों को संरक्षण देने में राजनेताओं का नाम भी सामने आया था। इसी मामले में रोहतास पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। इस कांड के कई आरोपी पहले ही जेल भेजे जा चुके हैं। गिरफ्तार गांधी चौधरी पर डेढ़ दर्जन से अधिक आपराधिक मामले दर्ज हैं। फिलहाल पुलिस गांधी चौधरी से पूछताछ कर रही है।

विज्ञापन

इसकी जानकारी देते हुए रोहतास एसपी आशीष भारती ने बताया कि पुल मामले की चोरी को लेकर पुलिस लगातार छापेमारी एवं जांच अभियान चला रही थी, इसी के तहत मुख्य आरोपी गांधी चौधरी को गिरफ्तार कर लिया गया। एसपी ने बताया कि पुल चोरी मामले में गांधी चौधरी मुख्य आरोपी है जिसके इशारे पर पुल की चोरी की गई थी।

बोकारो औरंगाबाद सहित रोहतास में डेढ दर्जन से अधिक मामले हैं दर्ज

गिरफ्तार गांधी चौधरी पर झारखंड के बोकारो बीएससीटी औरंगाबाद के ओबरा हसपुरा सासाराम मुफस्सिल डेहरी नगर काराकाट दरिहट और नासरीगंज थाना में माइनिंग एक्साइज सहित कई अलग-अलग एक्ट में डेढ दर्जन से अधिक मामले दर्ज हैं। गिरफ्तार अभियुक्त के पास से पुलिस ने एक फॉर्च्यूनर कार, सोने की दो चेन, एक ब्रेसलेट, चार अंगूठी, पांच एंड्राइड मोबाइल फोन व 37000 रुपये नकद बरामद किया है।

नासरीगंज थाना क्षेत्र के अमियावर के निकट नहर के लोहे की पुल चोरी के मामले में पुलिस को गांधी चौधरी की तलाश थी। चोरी के मामले में जल संसाधन विभाग के कनीय अभियंता द्वारा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। कांड के उद्भेदन के लिए गठित एसआईटी की टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए अकोढीगोला से चोरी किए गए पुल के अवशेष बरामद किया था। इस मामले में कुल 8 अभियुक्तों की गिरफ्तारी पूर्व में कर ली गई थी। पुलिस इसकी गिरफ्तारी को बड़ी सफलता मान रही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT