Header 300×250 Mobile

551 ऑक्सीजन संयंत्रों में से 15 बिहार को मिले

इन संयंत्रों की अस्पतालों में स्थापना होने से मरीजों को ऑक्सीजन सप्लाई में नहीं आयेगी बाधा

- Sponsored -

457

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk) । देशभर के 551 अस्पतालों में लगाये जाने वाले पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्रों में से बिहार के हिस्से में महज 15 आये हैं। रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशभर के 551 अस्पतालों में पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्र लगाने का एलान किया। ये पीएसए बिहार के बेगूसराय, भागलपुर, भोजपुर, दरभंगा, गया, गोपालगंज, कटिहार, मधुबनी, मुजफ्फरपुर, नालंदा, पश्चिम चंपारण, पटना, पूर्णिया, सहरसा व वैशाली में लगाये जायेंगे। इन संयत्रों के लग जाने के बाद अस्पताल में मरीजों को मेडिकल ऑक्सीजन सप्लाई में कोई बाधा नहीं आयेगी। इससे मरीजों को ऑक्सीजन सिलिंडर से मुक्ति मिल जायेगी और उन्हें सीधे बेड पर पाइप के जरिये मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा सकेगी।

देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों और इसके मद्देनजर अस्पतालों में तेज होती ऑक्सीजन की मांग के मद्देनजर प्रधानमंत्री नागरिक सहायता और आपात राहत कोष (पीएम केयर्स) से देशभर के अस्पतालों में ये संयत्र लगाये जायेंगे। प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान में रविवार को कहा कि पीएम केयर्स कोष ने इन संयंत्रों की स्थापना के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दी है।

विज्ञापन

साथ ही प्रधानमंत्री ने इन संयंत्रों को जल्द से जल्द क्रियान्वित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने कहा कि इन संयंत्रों से जिला स्तर पर ऑक्सीजन की उपलब्धता को बल मिलेगा। इन संयंत्रों की स्थापना विभिन्न राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के जिला मुख्यालयों में चिह्नित अस्पतालों में की जाएगी। इस कार्य को पूरा करने का दायित्व केंद्रीय स्वास्थ्य व परिवार कल्याण मंत्रालय को दिया गया है।

यहां बता दें कि पीएम केयर्स कोष से इससे पहले देश के विभिन्न राज्यों के स्वास्थ्य केंद्रों में 162 पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन उत्पादन संयंत्रों की स्थापना के लिए 201.58 करोड़ रुपये आवंटित किए गए थे। इसे मिलाकर अब तक कुल 713 पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना को मंजूरी दी जा चुकी है।

देश में वर्तमान में कुल 726 जिले हैं। ऐसे में माना जा रहा है कि अब देश के लगभग उन सभी जिला मुख्यालयों में पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना हो जायेगी जहां सरकारी अस्पताल हैं।  27 मार्च, 2020 को कोविड महामारी जैसी किसी भी तरह की आपातकालीन संकट से निपटने के लिए पीएम केयर्स फंड के नाम से धर्मार्थ ट्रस्ट बनाया गया था । पीएसए चिकित्सीय ऑक्सीजन संयंत्रों की स्थापना इसी फंड में जमा राशि से की जायेगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT