Header 300×250 Mobile

समस्तीपुर के बल्लीपुर में जहरीली शराब से तीन की मौत

गांव में पांच दिसंबर को आयी थी बारात, जमकर हुई थी शराब पार्टी

- Sponsored -

524

- Sponsored -

- sponsored -

समस्तीपुर (voice4bihar desk)। जिले में जहरीली शराब का तांडव जारी है। विगत कुछ महीनों से जहरीली शराब कांड बढ़ गया है। पटोरी और सरायरंजन में जहरीली शराब से हुई मौतों के बाद रविवार की रात जिले के शिवाजीनगर प्रखंड स्थित हथौड़ी थाना क्षेत्र के बल्लीपुर गांव में एक बार फिर तीन लोगों की मौत ने प्रशासनिक हलके में सनसनी फैला दी है। हालांकि जब से सरकार ने शराबबंदी को लेकर सख्ती बरतने की घोषणा की है तबसे सुबह में शराब से होने वाली मौतें शाम ढलते-ढलते बीमारी से हुई मौत में बदलने लगी है।

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक हथौड़ी थाने के बल्लीपुर गांव के वार्ड नंबर 11 निवासी अविनाश कुमार भारती के पुत्र प्रभात भारती (25), पुलकित कामती के पुत्र रघु कमती (20) और शंकर कमती के पुत्र श्याम नाथ कमती (27) की तबियत खराब हो गयी। इनमें से दो को समस्तीपुर के एक निजी अस्पताल लाया गया जहां उनकी मौ हो गयी। एक अन्य व्यक्ति ने बीती रात गांव में ही दम तोड़ दिया। पुलिस ने अस्पताल में मरे दोनों लोगों के शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए समस्तीपुर भेज दिया जबकि तीसरे का आनन-फानन में अहले सुबह गांव में ही दाह संस्कार कर दिया गया।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार पांच दिसंबर की रात गांव में बारात आयी थी। इसी मौके पर कुछ लोगों ने जमकर शराब पी थी। मृतक प्रभात भारती के चाचा बिंदु कुमार ने समस्तीपुर में अस्पताल के बाहर मीडिया से बात करते हुए कहा कि पांच दिसंबर की रात में शादी समारोह में कुछ लोगों ने शराब पी थी। इनमें प्रभात भी था। छह दिसंबर की भोर में वह घर आया और सो गया। शाम में उठा तो उसकी तबियत काफी बिगड़ चुकी थी।

विज्ञापन

इसके बाद परिवार के लोग उसे लेकर समस्तीपुर के जेएस अस्पताल पहुंचे। अस्पताल में उसकी हालत गंभीर देख कर चिकित्सकों ने उसे पटना ले जाने की सलाह दी। परंतु हालत अत्यंत खराब होने के चलते उन लोगों ने डॉक्टर से वहीं इलाज करने का अनुरोध किया।

सात दिसंबर को दिन में करीब 11 बजे उसकी मौत हो गयी। बिंदु कुमार ने बताया कि शराब पीने के बाद एक व्यक्ति की मौत पांच दिसंबर की ही रात में करीब डेढ़ बजे हो गयी थी। तीसरे को इलाज के लिए पटना ले जाया गया जहां उसने दम तोड़ दिया। मृतक के भाई प्रवीण भारती ने बताया कि बल्लीपुर गांव में न केवल बाहर से लाकर शराब बेची जाती है बल्कि गांव में ही बनायी भी जाती है। उन्होंने कहा कि पुलिस को जब इसकी सूचना दी जाती है तो पुलिस केवल पीने वाले को पकड़ती है। इसे बनाने और बेचने वाले को नहीं पकड़ती है।

फिलहाल गांव में जहरीली शराब से तीन लोगों की मौत हो चुकी है और दो अन्य लोगों की तबियत खराब होने की सूचना है। घटना के बाद पुलिस गांव में हाथ-पैर मार रही है वहीं अपनों को खोने वाले पुलिस को कोस रहे हैं। पिछले महीने समस्तीपुर जिले में ही जहरीली शराब पीने से आधा दर्जन से अधिक लोगों की मौत हो गयी थी। उस वक्त प्रदेश स्तर पर इसको लेकर हाय-तौबा मची थी पर इससे शराब तस्करों के धंधे पर कोई फर्क नहीं पड़ा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored