Header 300×250 Mobile

कटिहार में गड्ढे में डूबने से तीन बच्चों की मौत

मृतकों में दो बच्ची एक ही परिवार की जबकि तीसरा बच्चा एक अन्य परिवार का है

- Sponsored -

619

- Sponsored -

- sponsored -

कटिहार (voice4bihar desk)। जिले के आजमनगर प्रखंड क्षेत्र के महेशपुर पंचायत के श्रीकॉल संथाल टोला में तीन बच्चों की मौत पानी से भरे गड्‌ढे में डूब जाने से हो गयी। मृतकों में दो बच्ची एक ही परिवार की जबकि तीसरा बच्चा एक अन्य परिवार का है।

जानकारी के अनुसार महेशपुर पंचायत के श्रीकॉल संथाल टोला स्थित मुस्लिम टोला में हुए इस हादसे में मृत बच्चों में मो. मुस्लिम के पुत्र अहमद रजा (5) के अलावा मो. पिलवा की पुत्री प्यारी खातून (3) तथा नूरसेदी खातून (5) शामिल हैं। घटना शनिवार शाम की है। मुख्य मार्ग से सिरकोल संथाल के मुस्लिम टोला को जाने वाली पगडंडी से होकर लोग आवाजाही करते हैं।

विज्ञापन

उक्त रास्ते से होकर तीनों बच्चे अपने घर आ रहे थे। इस दौरान पैर फिसलने से पगडंडी रास्ते के बगल में स्थित पानी भरे गड्ढे में तीनों गिर गये जिससे उनकी मौत हो गई। इस घटना से गांव में मातम छाया हुआ है। पंचायत की मुखिया नीलम सिंह, पूर्व मुखिया अक्षय कुमार सिंह और अब्दुल गफ्फार ने मौके पर जाकर बच्चों के अभिभावकों से मिलकर उन्हें सांत्वना दी।

मुखिया नीलम सिंह ने कहा कि मृतक के परिजनों को चार-चार लाख की मुआवजे की राशि दी जायेगी। हालांकि मृतक के परिजन बच्चों के शव का पोस्टमार्टम कराने के लिए तैयार नहीं हैं। मौके पर पहुंचे अंचल निरीक्षक मो. शमीम अख्तर ने अभिभावकों से शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेजने का अनुरोध किया। इसके बावजूद कोई इसके लिए तैयार नहीं हुए। कागजी खानापूर्ति करने के बाद अंचल निरीक्षक बैरंग लौट गए।

मौके पर उपस्थित ग्रामीण गड्ढा खोदने वाले भूस्वामी से मुआवजे की मांग कर रहे थे। लोगों का कहना था कि पगडंडी रास्ते के बगल में अगर गड्ढा नहीं खोदा जाता तो बच्चे की जान बच जाती। इन दोनों परिवारों की आर्थिक स्थिति काफी खराब है। मजदूरी कर जीवन यापन करते हैं। मुखिया नीलम सिंह ने बिहार सरकार से तीनों बच्चों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored