Header 300×250 Mobile

ई-श्रम पोर्टल पर निबंधित श्रमिकों को मिलेगा दो लाख का दुर्घटना बीमा

पोर्टल पर अब तक निबंधित बिहार के 75000 श्रमिकों को मिला ई-श्रम कार्ड

- Sponsored -

357

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar desk)।श्रम पोर्टल (eshram.gov.in) पर निबंधित बिहार के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के बीच 30 अक्टूबर को श्रम कार्ड का निबंधन एवं वितरण किया गया। इस मौके पर समारोह का आयोजन श्रम संसाधन विभाग की ओर से दशरथ मांझी श्रम एवं नियोजन अध्ययन संस्थान, पटना में किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि केन्द्रीय श्रम एवं रोजगार राज्य मंत्री रामेश्वर तेली मौजूद थे।

कार्यक्रम की अध्यक्षता बिहार के श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार ने की। कार्यक्रम में उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद और सांसद रामकृपाल यादव बतौर विशिष्ट अतिथि उपस्थित थे। इनके अलावा कार्यक्रम में अपर मुख्य श्रम संसाधन सचिव वन्दना किनी, विशेष श्रम संसाधन सचिव आलोक कुमार, श्रमायुक्त सुश्री रंजिता एवं विभाग के अन्य वरीय पदाधिकारी उपस्थित थे।

कार्यक्रम में श्रम पोर्टल पर निबंधित बिहार के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के बीच केन्द्रीय राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने ईश्रम कार्ड का वितरण किया। उन्होंने श्रम पोर्टल पर बिहार के असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के निबंधन की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया गया। उन्होंने श्रम पोर्टल को असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा के दायरे में लाने के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण कदम बताया

बिहार के श्रम संसाधन मंत्री जिवेश कुमार ने बताया कि देश भर में असंगठित कामगारों के सम्पूर्ण विवरण सहित एक डाटा बेस की आवश्यकता विगत कुछ वर्षों से महसूस की जा रही थी। इसी परिप्रेक्ष्य में केंद्रीय श्रम एवं नियोजन मंत्रालय द्वारा हाल के दिनों में लॉन्च किया गया श्रम पोर्टल अत्यंत ही महत्वपूर्ण कदम है। इसकी प्रासंगिकता लम्बे समय तक बनी रहेगी।

उन्होंने यह भी बताया कि श्रम पोर्टल पर निबंधित असंगठित श्रमिकों को विभिन्न प्रकार की केन्द्र एवं राज्यों की कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ा जा सकेगा। साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर एक डाटा बेस तैयार होगा जिससे असंगठित श्रमिकों को Portability of Scheme का भी फायदा मिलेगा। साथ ही प्रवासी श्रमिकों की ट्रेकिंग भी इस पोर्टल के माध्यम सुलभ हो जायेगा। तत्काल श्रम पोर्टल पर निबंधित श्रमिकों को प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के अन्तर्गत दो लाख रुपये का दुर्घटना कवर दिया जाएगा।

विज्ञापन

उन्होंने बताया कि केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय ने देश भर के लगभग 38 करोड़ असंगठित श्रमिकों को इस पोर्टल के माध्यम से निबंधित करने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इनमें से बिहार के लिए कुल 3.49 करोड़ असंगठित श्रमिकों को निबंधित करने का लक्ष्य है। आज तक बिहार के लगभग 75 लाख असंगठित श्रमिकों का इस पोर्टल पर निबंधन किया जा चुका है।

सर्वाधिक निबंधन करने वाले तीन सामान्य सेवा केंद्र संचालक पुरस्कृत

राष्ट्रीय श्रम पोर्टल पर निबंधन निरंतर जारी है। पंचायत चुनाव का भी इस पर कोई प्रभाव नहीं पड़ रहा है| श्रमिक अपनी सुविधानुसार प्रातः या देर शाम निबंधन कार्य करा सकते हैं| साथ ही केद्र सरकार द्वारा प्रायोजित, श्रम योगी मानधन योजना के तहत भी निबंधन कराया जा सकता है|

बिहार के श्रम संसाधन विभाग ने राज्य में राष्ट्रीय श्रम पोर्टल पर सर्वाधिक निबंधन करने वाले श्रेष्ठ तीन सामान्य सेवा केंद्र संचालकों (VLE) को प्रथम, द्वितीय और तृतीय पुरस्कार से पुरस्कृत किया| इन्हें विभाग द्वारा प्रथम पुरस्कार के रूप में 21 हजार रूपये, द्वितीय पुरस्कार के लिए 15 हजार और तृतीय के लिए 11 हजार रुपये की राशि पुरस्कार स्वरूप दी गयी। यह प्रतिस्पर्धा प्रति माह सामान्य सेवा केंद्र संचालकों (VLE) के बीच कराया जायेगा, जिससे राज्य के सभी कामगारों का निबंधन ससमय पूरा किया जा सके और निर्धारित लक्ष्य की प्राप्ति की जा सके|

समारोह के दौरान प्रयास कार्यक्रम के तहत् कर्मचारी राज्य भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि पेंशन योजना, 1995 अन्तर्गत निबंधित सदस्यों को उनकी सेवानिवृति के फलस्वरूप PPO (Pension Payment Oder) दिया गया। कर्मचारी राज्य बीमा निगम द्वारा कोविड-19 राहत योजना के अंतर्गत बीमित व्यक्तियों के कोविड-19 के फलस्वरूप मृत्यु की स्थिति में उनके वैध आश्रितों को लाभ दिया गया। कार्यक्रम का समापन भाषण एवं धन्यवाद ज्ञापन श्रमायुक्त ने किया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT