Header 300×250 Mobile

स्वास्थ्य विभाग में अस्थायी नियुक्ति की कवायद शुरू

मुख्यमंत्री ने दिया है रिक्त पदों को वाक इन इंटरव्यू के आधार पर भरने का निर्देश

- Sponsored -

666

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। मुख्यमंत्री से मिले निर्देश के बाद शनिवार को राज्य में चिकित्सकों और पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों को अस्थायी रूप से भरने  की कवायद शुरू हो गयी है। शनिवार को विभिन्न विभागों के सचिवों की हुई बैठक रिक्त पदों को भरने की प्रकिया शीघ्र पूर्ण करने का निर्णय लिया गया। बैठक में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव दीपक कुमार, स्वास्थ्य सह आपदा प्रबंधन विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत, बिहार तकनीकी सेवा आयोग के अध्यक्ष अजय कुमार चौधरी और राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक मनोज कुमार सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

विदित हो कि शनिवार को ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने राज्य के स्वास्थ्य विभाग को राज्य के चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों पर नियमित नियुक्ति की प्रक्रिया को तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया है। साथ ही उन्होंने वाक-इन-इंटरव्यू के जरिये हर जिले में आवश्यकतानुसार चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों पर अस्थायी नियुक्ति करने को भी कहा है।

विज्ञापन

इसके साथ ही एक ट्वीट में मुख्यमंत्री ने कहा है कि कोरोना से उत्पन्न विकट समय में स्वास्थ्यकर्मी जिस प्रतिबद्धता के साथ सेवा देकर लोगों की जान बचा रहे हैं, उसके लिए वे अभिवादन के पात्र हैं। यह जरूरी है कि हम सब विपरीत परिस्थितियों में धैर्य बनाये रखें और डॉक्टरों व स्वास्थ्यकर्मियों को वह सम्मान प्रदान करें, जिसके वे हकदार हैं।

पर हैरत की बात है कि सरकार खुद स्वास्थ्यकर्मियों और चिकित्सको को सम्मान देने के मूड में नहीं दिखती है। वरना सरकार ऐसे आपातकाल में चिकित्सकों एवं पारा मेडिकल स्टाफ के रिक्त पदों पर अस्थायी नियुक्ति करने की बात नहीं करती। हालांकि महामारी के वर्तमान हालात में इस अस्थायी नियुक्ति के लिए कितने लोग आगे आते हैं यह देखने वाली बात होगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT