Header 300×250 Mobile

राज्य में 2 जून से फिर शुरू होगी संपत्ति की रजिस्ट्री, आवश्यक होगी यह शर्त

सहायक निबंधक महानिरीक्षक ने सभी जिलों के अवर निरीक्षक को भेजा पत्र

- Sponsored -

265

- sponsored -

- Sponsored -

लॉकडाउन के कारण एक माह से बंद सरकारी दफ्तरों में फिर शुरू होगा काम

पटना (voice4bihar news) । राज्य में कोरोना संक्रमण को लेकर जारी लॉकडाउन के कारण करीब एक महीने से बंद रजिस्ट्री कार्यालय समेत सभी सरकारी दफ्तरों में बुधवार से रौनक लौटेगी। राज्य सरकार ने लॉकडाउन में मामूली ढील देते हुए अब सभी सरकारी कार्यालयों को शर्तों के साथ खोलना अनिवार्य कर दिया है। लंबे समय से बंद कार्यालयों में रजिस्ट्री ऑफिस भी शामिल है, जिसके खुलने का लोग इंतजार कर रहे थे। 2 जून से जमीन एवं संपत्ति की रजिस्ट्री शुरू करने के लिए सहायक निबंधक महानिरीक्षक अवधेश कुमार झा ने पत्र जारी कर दिया है।

शाम चार बजे तक ही होगी दस्तावेजों की रजिस्ट्री

सभी जिला अवर निबंधक को प्रेषित पत्र में सहायक निबंधक महानिरीक्षक अवधेश कुमार झा ने कहा है कि सभी सरकारी कार्यालय 25 प्रतिशत उपस्थिति के साथ 4 बजे अपराह्न तक खोले जाने का निर्णय लिया गया है। इस बाबत गृह विभाग की विशेष शाखा की ओर से जारी पत्र का अनुपालन करते हुए 2 जून से दस्तावेजों की रजिस्ट्री फिर से शुरू करें। इस दौरान कोरोना प्रोटोकॉल का अनुपालन भी सभी जिला अवर निबंधक को कराना होगा।

विज्ञापन

यह भी पढ़ें : अनलॉक की ओर बढ़ा बिहार, अब सुबह छह बजे से दो बजे तक खुलेंगी दुकानें

रजिस्ट्री समेत कई दफ्तरों के खुलने का इंतजार कर रहे लोग

बिहार में कोरोना संक्रमण के घटते आंकड़ों के बीच सरकार अब अनलॉक की ओर बढ़ चली है। तकनीकी रूप से लॉकडाउन की मियाद भले ही एक हफ्ते और बढ़ा दी है लेकिन इसमें कई व्यापार जगत को रियायत मिलने के साथ ही सभी सरकारी दफ्तरों को खोलने का आदेश दिया गया है। राज्य में आवश्यक सेवाओं से जुड़े कार्यालयों को छोड़कर अन्य सभी दफ्तर फिलहाल बंद चल रहे हैं। इनमें डीटीओ व रजिस्ट्री कार्यालय खुलने का बेसब्री से इंतजार था। बुधवार से इन दफ्तरों में कामकाज होने लगेगा।

यह भी पढ़ें : बिहार अब 8 जून तक लॉक, इस बार व्यापार जगत को मिलेगी कुछ छूट

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT