Header 300×250 Mobile

जयप्रभा सेतु के एप्रोच रोड मरम्मत का काम जारी, जल्द आवागमन सुचारू होने की उम्मीद

भारी बारिश में बह गया था अप्रोच रोड, भारी वाहनों का आवागमन पिछले 36 घंटे से है बंद

- Sponsored -

402

- sponsored -

- Sponsored -

छपरा (voice4bihar desk)। लगातार हो रही बरसात से दक्षिणी मुहाने पर ध्वस्त जयप्रभा सेतु के एप्रोच मार्ग की मरम्मत का काम शनिवार की सुबह से ही युद्धस्तर पर शुरू कर दिया गया है। यूपी एनएचएआई के इंजीनियरों की देखरेख में क्रेन, जेसीबी, लोडर व डंपर के सहारे टूटी सड़क को मिट्टी व कंकड़ आदि डालकर समतल किया जा रहा है। मरम्मत के काम में लगे पदाधिकारियों ने बताया कि यदि मौसम ने साथ दिया तो रात तक आवागमन पूर्ववत बहाल कर दिया जाएगा।

मालूम हो कि लगातार हो रही वर्षा की वजह से शुक्रवार की सुबह जयप्रभा सेतु के दक्षिणी मुहाने पर बना एप्रोच मार्ग बुरी तरह ध्वस्त हो गया था। इसके कारण पिछले करीब 36 घंटे से इस पुल से भारी वाहनों का आवागमर पूरी तरह बंद है। स्थानीय सोशल मीडिया तथा समाचार माध्यमों से यूपी-बिहार का सड़क सम्पर्क भंग होने की खबरों के प्रसारित होने के बाद यूपी एनएचएआई हरकत में आया तथा बारिश थमने के बाद शनिवार की सुबह से सड़क मरम्मत की दिशा में प्रयास शुरू कर दिया गया।

उधर एप्रोच मार्ग के क्षतिग्रस्त होने के बाद हालात के मद्देनजर बिहार तथा यूपी की पुलिस ने भारी वाहनों को अपनी अपनी सीमा क्षेत्रों में तत्काल रोक दिया अन्यथा बड़ी अनहोनी हो सकती थी। लगभग 30 घण्टों से जयप्रभा सेतु होकर परिचालित भारी वाहनों का आवागमन ठप कर दिए जाने से छपरा शहर से लेकर बलिया के बैरिया तक सैकड़ों ट्रक आदि फंसे पड़े हैं।

विज्ञापन

सामान लादकर खड़े ट्रक संचालक मरम्मत कार्य पर पैनी नजर लगाए हुए हैं। कई ट्रक संचालकों ने बताया कि ट्रक पर लदा कच्चा माल खराब होने का खतरा है तो दूसरी तरफ कइयों का कहना था कि परमिट व पासिंग की समस्या से उन्हें दो चार होना पड़ेगा। सड़क मरम्मत कार्य के बावजूद छोटे वाहनों को क्रमशः पार कराया जा रहा है जिससे सब्जी व दूध आदि की सप्लाई पर असर नही पड़ा है।

इधर, दुबारा वर्षा होने पर सेतु के ऊपर जमा मिट्टी की वजह से होने वाला जलजमाव मेहनत पर पानी फेर सकता है। आपको बता दें कि मांझी रेल लाइन के निर्माण कार्य हेतु यूपी की तरफ से प्रतिदिन दर्जनों डंपर की सहायता से मिट्टी की ढुलाई की जाती है। मिट्टी ढुलाई के दौरान जयप्रभा सेतु पर गिरकर सड़क किनारे काफी मात्रा में मिट्टी जमा हो गई है। मिट्टी जमा होने के कारण अंडरपास दर्जनों नली के ऊपर पानी जमा हो जा रहा है।

लगातार वर्षा होने के बाद सेतु के ऊपर का पानी धारा प्रवाह के साथ तेज गति से दोनों तरफ एप्रोच मार्ग पर गिरता है इसी वजह से आए दिन एप्रोच सड़क का किनारा ध्वस्त होकर आवागमन को प्रभावित करता है।

स्थानीय लोगों का कहना है कि यदि बन्द नालों को खोलने के लिए सेतु पर जमा मिट्टी नहीं हटाई गई तो एप्रोच सड़क का दुबारा क्षतिग्रस्त होना तय है। लोग स्थायी समाधान के लिए दोनों तरफ के एप्रोच सड़क की मजबूत बोल्डर पीचिंग की भी मांग कर रहे हैं। द्वाबा (बलिया) के भाजपा विधायक सुरेन्द्र सिंह ने भी कल अधिकारियों से यह मांग उठाई थी। तीन दिनों से जारी बरसात से बिहार की सीमा में भी एप्रोच सड़क को काफी नुकसान पहुंचा है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT