Header 300×250 Mobile

नेपाल के रास्ते भारत में घुसपैठ की कोशिश में उजबेकिस्तान की महिला गिरफ्तार

अवैध रूप से भारत की सीमा में घुसाने की कोशिश में लगे दो स्थानीय लोग भी गिरफ्तार

- Sponsored -

856

- sponsored -

- Sponsored -

ओपेन बॉर्डर का उठाया नाजायज फायदा, चंद पैसों की खातिर स्थानीय लोग बने मददगार

जोगबनी (voice4bihar news)। भारत-नेपाल के बीच अंतरराष्ट्रीय खुली सीमा के पास उजबेकिस्तान की एक महिला को गिरफ्तार किया गया है। वह दो अन्य लोगों के साथ अररिया जिले के जोगबनी में भारतीय सीमा में घुसने का प्रयास कर रही थी। नेपाल शस्त्र पुलिस बल रानी बीओपी के जवानों ने तीनों को नेपाल भाग में हुलास चौक के समीप हिरासत में लिया है। उन्हें सीमा पर स्थित नेपाल अध्यगमन विभाग को जांच व आवश्यक पूछताछ के लिए सुपुर्द किया गया है।

सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी मानी जा रही

गौरतलब है कि उजबेक महिला के साथ दो अन्य लोगों की गिरफ्तारी को सुरक्षा बलों की बड़ी कामयाबी मानी जा रही है। पिछले दिनों बिहार के पूर्वी बॉर्डर पर किशनगंज जिले में एक चीनी नागरिक की गिरफ्तारी के बाद सुरक्षा एजेंसियों के कान खड़े हो गए थे। उस शख्स के पास पहचान पत्र के रूप में भारत का आधार कार्ड मिला था, जो फर्जी तरीके से स्थानीय लोगों की मिलीभगत से बनाया गया था। चंद पैसों की खातिर अवांछित तत्वों को भारत की सीमा में घुसाने की यह दूसरी कोशिश नाकाम हुई है।

उजबेकिस्तान की महिला को नेपाल से भारत लाने की थी तैयारी

नेपाल पुलिस के सूत्रों की मानें तो उक्त महिला अपने स्थानीय पुरुष साथियों के साथ नेपाल – भारत की खुली सीमा का फायदा उठाकर भारत में प्रवेश करना चाहती थी, लेकिन इससे पहले ही नेपाल पुलिस के हत्थे चढ़ गयी। आशंका के आधार पर जांच के क्रम में विदेशी महिला होने के बाद हिरासत में लिया गया था। यहां बता दें कि इससे पहले भी मानव तस्करी में शामिल उजबेकिस्तान की एक महिला को भारत के सशस्त्र सीमा बल (SSB) ने गिरफ्तार किया था।

विज्ञापन

यह भी देखें : सीमा पर घुसपैठ कर रहे दो चीनी नागरिक गिरफ्तार

छह माह पहले मानव तस्करी की फिराक में पकड़ी गयी थी उजबेक महिला

तकरीबन 6 माह पहले उजबेकिस्तान की एक 28 वर्षीय युवती को एसएसबी 56वीं बटालियन के घूरना बीओपी के जवानों ने संदेहास्पद स्थिति में पकड़कर वीरपुर पुलिस के सुपुर्द किया गया था। उक्त महिला भी अररिया जिले के नरपतगंज प्रखंड के महेशपट्टी निवासी युवक कृष्णा पासवान के मार्फ़त खुली सीमा का फायदा उठाकर भारत सीमा में प्रवेश करने की फिराक में थी। इस मामले में भी युवती के साथ अररिया निवासी पिता-पुत्र की गिरफ्तारी हुई थी।

साजिश में शामिल पिता-पुत्र भी आए थे पुलिस की गिरफ्त में

बताया जाता है कि यह उजबेक महिला भारत व नेपाल की युवतियों को अवैध रूप से विदेश ले जाने की योजना में थी। पूछताछ व अनुसंधान के बाद गिरफ्तार युवती का विदेशी मानव तस्कर के गिरोह से सम्बंध होने की बात कही गयी थी। वहीं युवती का पासपोर्ट व वीजा कृष्णा पासवान के पिता श्याम नारायण पासवान के पास मिला था। युवती का उज्बेकिस्तान का पासपोर्ट और नेपाली बीजा बरामद होने के बाद श्याम नारायण पासवान को भी गिरफ्तार किया गया था।

संबंधित खबर : भारत-बांग्लादेश के बॉर्डर पर पकड़ा गया शख्स हो सकता है चीनी जासूस

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored