Header 300×250 Mobile

छेड़खानी का विरोध किया तो मां की गोद से छीन कर बच्ची को आग में फेंका

मुजफ्फरपुर की घटना, बच्ची बुरी तरह झुलसी

- Sponsored -

208

- Sponsored -

- sponsored -

  • शराब के नशे में मनचले ने अलाव ताप रही महिला के साथ की छेड़खानी
  • पुलिस ने भी नहीं दिखाई संवेदना, थाने से भगाया 

मुजफ्फरपुर ( voice4bihar desk ) । बिहार के मुजफ्फरपुर जिले में एक लोमहर्षक विवाद सामने आई, जब एक मनचले शराबी ने महिला की गोद से छीनकर अबोध बच्ची को आग में फेंक दिया। घटना जिले के बोचहां थाने के एक गांव में 29 जनवरी की शाम की बताई जाती है। घटना की वजह छेड़खानी का विरोध बताया जाता है। इतना ही नहीं शिकायत लेकर पहुंचे पीड़तों के साथ पुलिस ने भी संवेदशीलता नहीं दिखाई।

विज्ञापन

बताया जाता है कि मोहल्ले के वहशी आरोपी मो . अकलू के खिलाफ जब पीड़ित दंपति शिकायत लेकर बोचहां थाने गया तो उन्हें डांट कर भगा दिया गया । इस पर दोनों पति – पत्नी झुलसी हुई बच्ची को लेकर एसएसपी जयंत कांत से मिलने पहुंच गए । एसएसपी ने बोचहां थानेदार को फटकार लगाई और तत्काल मामला दर्ज कर आरोपी की गिरफ्तारी का आदेश दिया है। । एसएसपी ने बताया कि छानबीन में हकीकत सामने आने पर आरोपी को गिरफ्तार कर सजा के लिए स्पीडी ट्रायल चलाया जाएगा

क्या है पूरा मामला
मुजफ्फरपुर जिले के बोचहां थाना अंतर्गत शरफुद्दीनपुर इलाके की पीड़िता ने बताया कि शाम में वह घर के बाहर आग के पास बैठी थी । इसी दौरान पड़ोस का मो . अकलू ( 35 वर्ष ) शराब पीकर नशे में पहुंचा । वह भी बगल में बैठ गया । इस क्रम में उसने महिला के साथ छेड़खानी शुरू कर दी । इस पर महिला ने विरोध किया । विरोध से गुस्साए आरोपी ने लात मारकर अलाव पर गिरा दिया । उसकी गोद से बच्ची को छीन कर जलती आग में फेंक दिया । इससे बच्ची का हाथ – पांव व जांघ बुरी तरह झुलस गया । बच्ची का इलाज बोचहां पीएचसी में कराया । फिलहाल बच्ची खतरे से बाहर है । पीड़िता ने बताया कि शिकायत लेकर जब थाने पर पति के साथ गई तो थानेदार ने कार्रवाई करने के बजाय डांटकर भगा दिया। आखिरकार एसएसपी से शिकायत के बाद न्याय की उम्मीद जगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored