Header 300×250 Mobile

सुप्रीम कोर्ट ने रोका था ऑक्सीजन निर्यात, गृह मंत्रालय ने दी हरी झंडी

भारत से नेपाल भेजा गया 30 टन लिक्विड ऑक्सीजन

- Sponsored -

332

- sponsored -

- Sponsored -

दो टैंकर लिक्विड ऑक्सीजन झारखंड के जमशेदपुर से रवाना, शनिवार को पहुंचेंगे नेपाल

भारत में ऑक्सीजन के लिए कोहराम के कारण सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर रोकी गयी थी सप्लाई

अररिया से राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

जोगबनी (voice4bihar news)। भारत सरकार ने अपने पड़ोसी देश नेपाल में ऑक्सीजन निर्यात पर लगाये गए प्रतिबंध को गुरुवार को हटा लिया है। प्रतिबंध हटने के साथ ही भारत से निर्बाध रूप से नेपाल को ऑक्सीजन की सप्लाई होगी। भारत में लगातार ऑक्सीजन की किल्लत से हाहाकार मचा है। रोजाना सैकड़ों जानें सिर्फ ऑक्सीजन की कमी से जा रही है। ऐसे वक्त में ऑक्सीजन की सप्लाई दूसरे देश में करना समझ से परे है।

दो टैंकर लिक्विड ऑक्सीजन टैंकर झारखंड से पहुँचेगा नेपाल

प्रतिबंध हटने के साथ ही दो टैंकर में तीस टन लिक्विड ऑक्सीजन आज (शनिवार) तक नेपाल पहुंचने का अनुमान लगाया गया है। इस दो टैंकर से करीब एक लाख 80 हजार सिलेंडर ऑक्सीजन रीफिल हो सकता है।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद रोकी गयी थी नेपाल को ऑक्सीजन सप्लाई

देश में लगातर ऑक्सीजन की किल्लत के कारण बनी भयावह स्थिति के बाद सर्वोच्च अदालत के आदेश के अनुसार अप्रैल महीने से ही नेपाल के ऑक्सीजन निर्यात करने पर रोक लगाई गयी थी। स्रोत की मानें तो ऑक्सीजन सप्लाई शुरू होने के बाद नेपाल की ओर से जारी कोटा के अनुसार ऑक्सीजन सप्लाई की मांग की जाती रही है।

विज्ञापन

नेपाल को भी अंदेशा है कि भारत में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण के बीच आने वाले दिनों में यहां भी भयावह स्थिति पैदा हो सकती है। इससे बचने के लिए ऑक्सीजन का कोटा मिलना बेहद जरूरी है। नेपाल के निरन्तर आग्रह के पश्चात भारत सरकार ने स्वास्थ्य प्रयोजन के लिए ऑक्सीजन आपूर्ति को निरन्तरता देने का निर्णय किया गया है।

केंद्रीय गृह मंत्रालय की ओर से जारी हुआ है आदेश

भारत सरकार के गृह मन्त्रालय की ओर से गुरुवार को जमशेदपुर व महराजगंज के जिला पदाधिकारी को पत्र जारी करते हुए कहा गया है कि नेपाल में ऑक्सीजन की आपूर्ति सुचारू करना सुनिश्चित करें। बता दें कि नेपाल में झारखण्ड के जमशेदपुर से लिंड इंडिया से मासिक एक सौ पचास टन ऑक्सीजन नेपाल के शंकर ऑक्सीजन गैस प्राइवेट लिमिटेड को आपूर्ति होता रहा है।

नेपाली दूतावास ने नेपाल सरकार को दी ऑक्सीजन सप्लाई की जानकारी

दिल्ली स्थित नेपाली राजदूतावास के उपनियोग प्रमुख रामप्रसाद सुवेदी ने नेपाल सरकार को जानकारी दी है कि नेपाल को आवश्यकता अनुसार झारखण्ड से निर्बाध रूप से ऑक्सीजन ले जाने की अनुमति दी गई है। पिछले दिनों सर्वोच्च अदालत के आदेश का हवाला देते हुए झारखण्ड के जमशेदपुर व उत्तर प्रदेश के महराजगंज के जिला प्रशासन ने नेपाल से ऑक्सीजन लेने भारत आई गाड़ी को रोक दिया था। जिसके बाद लिक्विड ऑक्सीजन लेने गए नेपाल के दो टैंकर जमशेदपुर में ही रुके थे। लेकिन अब यह दोनों टैंकर तीस टन लिक्विड ऑक्सीजन लोड कर शनिवार तक नेपाल पहुंच जाएंगे।

नेपाली दूतावास ने लिखा था गृह मंत्रालय को पत्र

नेपाली दूतावास ने 23 अप्रैल को विदेश मन्त्रालय को पत्र लिखकर ऑक्सीजन तथा अत्यावश्यक दवा के निर्यात में लगाए गए प्रतिबन्ध को हटाने का आग्रह किया था। दूतावास के अधिकारी भारतीय विदेश मन्त्रालय, गृह मन्त्रालय के अलावा उत्तरप्रदेश व झारखण्ड के मुख्यमन्त्री कार्यालय से लगातर सम्पर्क साधे हुए थे। इसके बाद केंद्रीय गृह मंत्रालय ने नेपाल को ऑक्सीजन आपूर्ति के लिए हरी झंडी दे दी।

ऑक्सीजन आयात करने वाले नेपाल के शंकर गैस प्राइवेट लिमिटेड के संचालक की मानें तो जमशेदपुर व महाराजगंज से ऑक्सीजन लोडेड टैंकर आने की सूचना मिली है। साथ ही दो और खाली टैंकर नेपाल से भारत भेजने की तैयारी है। इस प्रकार फिलहाल एक सप्ताह के अंदर 60 टन ऑक्सीजन भारत से नेपाल लाने की योजना है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT