Header 300×250 Mobile

सासाराम में छात्र हुए अराजक, कई घंटे उपद्रवियों की गिरफ्त में रहा शहर

पथराव, तोड़-फोड़ व आगजनी से शहर में अफरातफरी का माहौल

- Sponsored -

742

- Sponsored -

- sponsored -

कोचिंग व ट्यूशन क्लासेज को कोरोना गाइडलाइंस बताते पहुंची थी टीम

रोहतास से बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (Voice4bihar news)। रोहतास जिला मुख्यालय सासाराम में सोमवार की सुबह कोचिंग छात्रों के उपद्रव के कारण पूरे शहर में भय व दहशत कायम हो गया। लाठी-डंडे से लैस सैकड़ों छात्रों ने न सिर्फ पथराव किया बल्कि सड़क पर आगजनी कर यातायात बाधित कर दिया। इस बीच छात्रों व पुलिस- प्रशासन के बीच कई बार टकराव की स्थिति बनी। कभी छात्रों ने पुलिस को खदेड़ा तो कभी पुलिस ने छात्रों को। इस दौरान पूरा शहर कई घंटों तक अराजक तत्वों की गिरफ्त में रहा।

पुलिस-प्रशासन की टीम पर छात्रों ने बोला हमला

दरअसल कोरोना संक्रमण को लेकर जारी गाइडलाइन का पालन कराने के उद्देश्य से गौरक्षणी के प्रेमचंद पथ मुहल्ले के ट्यूशन और कोचिंग संस्थानों को निर्देशित करने के लिए सोमवार की सुबह नगर परिषद पदाधिकारी व प्रशासन की टीम पहुंची थी। नगर परिषद के कार्यपालक अभिषेक आनंद के नेतृत्व में पहुंची पुलिस प्रशासन की टीम पर उपद्रवी छात्रों ने हमला बोल दिया और शहर में अराजकता फैलाकर सड़क पर उतर गए।

सासाराम में बवाल के दौरान उपद्रवी छात्र को पकड़ते सुरक्षाकर्मी।
सासाराम में बवाल के दौरान उपद्रवी छात्र को पकड़ते सुरक्षाकर्मी।

गौरक्षिणी से शुरू हुआ उपद्रव, कलेक्ट्रेट से लेकर गांधी पथ तक फैला

विज्ञापन

लाठी-डंडों से लैस अराजक छात्रों का उपद्रव गौरक्षिणी मुहल्ले से शुरू हुआ जो देखते ही देखते समाहरणालय से लेकर गांधी चौक तक फैल गया। कई चौराहों पर उपद्रवियों ने आगजनी भी कर दी है। पुलिस प्रशासन उपद्रवियों के पीछे लाठी-डंडे लेकर दौड़ती नजर आई। खबर लिखे जाने तक पथराव में कई सरकारी वाहनों के शीशे चकनाचूर हो चुके थे। सड़क पर खड़े स्ट्रीट लाइट सहित कई फ्लेक्स और होर्डिंग को भी उपद्रवियों ने तहस-नहस कर दिया।

पथराव में टूटा पुलिस की गाड़ी का शीशा।
पथराव में टूटा पुलिस की गाड़ी का शीशा।

खुलते ही बंद हो गये बाजार, दो दर्जन छात्र लिये गए हिरासत में

शहर में अफरातफरी का माहौल रहा और बाजार खुलते खुलते पूरी तरह से बंद हो गया। पूरे शहर में प्रशासनिक अधिकारियों का काफिला उतर चुका है। हालांकि स्थिति अभी भी पूर्ण नियंत्रण में नहीं है। दो दर्जन से अधिक छात्रों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। उपद्रवियों को साक्ष्य सहित चिन्हित करने की दिशा में पुलिस प्रशासन कारवाई करने में जुटी है।

लॉ एंड ऑर्डर संभालने के लिए डीएम-एसपी उतरे सड़कों पर

समाहरणालय और आसपास की सड़कें पूरी तरह से छावनी में तब्दील हो चुकी है। उपद्रवियों पर लगाम कसने के लिए सड़क पर उतरे प्रशासनिक महकमा कमान स्वयं जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार और पुलिस कप्तान आशीष भारती संभाल रहे हैं। इसके अलावे सभी मातहत पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों का काफिला सड़क पर उतरा हुआ है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored