Header 300×250 Mobile

राज्यस्तरीय बीएड प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी, 95.06 प्रतिशत परीक्षार्थी हुए सफल

112146 परीक्षार्थी सफल लेकिन बीएड कॉलेजों में रिजल्ट से एक तिहाई सीटें ही मौजूद

- Sponsored -

614

- Sponsored -

- sponsored -

एक सितंबर से ऑनलाइन होगी काउंसलिंग, हर सीट पर 3-4 छात्रों का रहेगा औसत

राज्य भर के 339 बीएड कॉलेजों में 36050 सीटों पर होगा परीक्षार्थियों का नामांकन

शिक्षा शास्त्री कोर्स के लिए कुल 184 परीक्षार्थियों ने दी थी परीक्षा, 165 हुए सफल

दरभंगा (voice4bihar news)। राज्य स्तरीय संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा का परिणाम निर्धारित तिथि से एक दिन पहले ही मंगलवार को जारी कर दिया गया। बीएड परीक्षा को नोडेल युनिवर्सिटी ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय ने परीक्षा के 11 वें दिन रिजल्ट जारी कर दिया। 95.06 प्रतिशत अभ्यर्थियों को सफल करार देने वाले इस बार रिजल्ट में कई विशेषताए हैं। शायद पहली बार मिथिला विश्वविद्यालय ने जेंडर रिजल्ट घोषित किया है।

मिथिला विश्वविद्यालय को दूसरी बार मिली थी परीक्षा लेने की जिम्मेवारी

मंगलवार को वेबसाइट पर रिजल्ट घोषित करते हुए मिथिला विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो सुरेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि राजभवन ने परीक्षा के आयोजन की जो जिम्मेवारी मिथिला विश्वविद्यालय को दी थी उसे हम सभी ने मिलकर बखूबी पूरा किया है। निर्धारित शेड्यूल से एक दिन पहले ही परीक्षा परिणाम घोषित कर दिया है। इस परीक्षा की जिम्मेवारी दूसरी बार कुलाधिपति ने मिथित्ना विवि को दी थी। परीक्षा को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण संपन्न कराना चुनौती था जिसे मिथिला विश्वविद्यालय ने सफलतापूर्वक पूरा किया है।

विज्ञापन

1.18 लाख अभ्यर्थियों में सिर्फ 5822 परीक्षार्थी हुए असफल

इस साल इम्तिहान में 117968 परीक्षार्थी राज्य भर से शामिल हुए, जिनमें 112146 परीक्षार्थी सफल हुए हैं। इस तरह 95.06 प्रतिशत परीक्षार्थियों ने सफलता प्राप्त को है जबकि 5822 परीक्षार्थी असफल हुए है। पहली बार मिथिला विश्वविद्यालय ने जेन्डर वाइज रिजल्ट प्रकाशित किया है। इस साल 52381 महिला परीक्षार्थी शामिल हुए जिसमें 47757 सफल एवं 4624 असफल रहे। जबकि 65580 पुरुष परीक्षार्थी में 64383 सफल और 1197 असफल तथा ट्रांसजेंडर में 7 में से 6 परीक्षार्थी ने सफलता हासिल की है। इसके अलावा शिक्षा शास्त्री में कुल 184 परीक्षार्थी शामिल हुए जिसमें 165 सफल एवं 19 असफल रहे।

इसे भी पढ़ें : समस्तीपुर के प्रीतम कुमार बने स्टेट टॉपर, छात्राओं में पटना की राखी कुमारी प्रथम

1 सितंबर से काउंसलिंग भी ऑनलाइन माध्यम से होगी

कुलपति ने बताया कि परीक्षार्थियों को कोई परेशानी ना हो इसका भी पूरा ख्याल रखा जा रहा है। अब 1 सितंबर से काउंसलिंग भी ऑनलाइन माध्यम से होगी। किसी सफल परीक्षार्थी को काउंसलिंग के लिए कहीं आना नहीं होगा। बुधवार को वेबसाइट पर इसका भी शेड्यूल जारी कर दिया जाएगा। अब तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक राज्य भर के 339 बीएड कॉलेजों में 36050 सीट पर इन सफल परीक्षार्थियों का नामांकन होगा। इस तरह एक सीट पर 3 से 4 छात्रों की काउंसलिंग होगी। वहीं प्रतिकुलपति डॉ नीलिमा सिन्हा ने बीएड रिजल्ट में 95 प्रतिशत से अधिक परीक्षार्थियों के सफल होने पर निश्चित रूप से मेरिट लिस्ट टक्कर वाली और उत्साहजनक है।

कुलसचिव ने कहा- पहली बार किसी राज्यस्तरीय परीक्षा में नहीं मिली कोई शिकायत

कुलसचिव प्रोफेसर मुस्ताक अहमद ने कहा कि परीक्षा के सफल संचालन का सबसे अधिक पर कुलपति को जाता है। पहली बार ऐसा देखने को मिला है की राज्य स्तरीय परीक्षा में कहीं से किसी तरह की कोई शिकायत नहीं मिली है । कहीं कोई परेशानी हुई है तो उसका त्वरित निष्पादन हुआ है । कुलपति इस परीक्षा के संचालन के लिए इतने सजग थे तो उन्होंने रात के 2 बजे निर्धारित किया कि परीक्षा के लिए तैयार दो सेट में से किस सेट से परीक्षा ली जाएगी। महामहिम के दिशा निर्देश को मिथिला विश्वविद्यालय ने पूरी पारदर्शिता के साथ निभाया है । हर छात्र को यह आजादी दी गई है कि वह अपने अंक का मूल्यांकन स्वयं करें।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT