Header 300×250 Mobile

मधुबनी कांड : पांच भाइयों को गंवाने के बाद जेल से रिहा हुए संजय

घर पहुंचते ही दहाड़ मारकर रोने लगे संजय सिंह

- Sponsored -

389

- sponsored -

- Sponsored -

बेनीपट्‌टी के महम्मदपुर में वर्चस्व की जंग में गए थे जेल, हाईकोर्ट ने दी जमानत

मधुबनी (voice4bihar news)। जिले के बेनीपट्टी थाना क्षेत्र के महम्मदपुर हत्याकांड में मारे गए पांच लोगों के भाई संजय सिंह को हाईकोर्ट से जमानत मिलने के बाद गुरुवार को मधुबनी जेल से रिहा किया गया। वे हरिजन एक्ट के मामले में जेल में बंद थे। रिहाई के बाद उन्होंने पुलिस सुरक्षा के बीच महम्मदपुर गांव ले जाया गया। ऐन होली के दिन एक ही परिवार के पांच लोगों की हत्या के मामले में मुख्य अभियुक्त प्रवीण झा उर्फ रावण व उसके शागिर्दों की गिरफ्तारी के बाद अब संजय की रिहाई से पीड़ितों को थोड़ी राहत मिली है।

हरिजन एक्ट में बनाया गया था नामजद

विज्ञापन

बता दें कि छठ के अवसर पर मछली मारने को लेकर संजय सिंह व घर के अन्य सदस्यों के साथ महम्मदपुर हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रवीण झा से मारपीट की घटना हुई थी। जिसको लेकर संजय सिंह ने बेनीपट्टी थाने में प्रवीण झा पर प्राथमिकी दर्ज करायी थी। परंतु पुलिस ने संजय के आवेदन पर कार्रवाई नहीं की। वहीं मुख्य आरोपी प्रवीण झा पर आरोप है कि वे शिवेश्वर भारती को अपने समर्थक में लेकर संजय सिंह पर हरिजन एक्ट के तहत बेनीपट्टी थाना में मामला दर्ज कराया गया था।

इसे भी देखें : 

इस मामले के दर्ज होते ही स्थानीय थाना पुलिस ने संजय सिंह का गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी बीच होली के दिन प्रवीण झा अपने अन्य सहयोगियों के साथ महम्मदपुर आकर संजय सिंह के तीन सगे भाई व दो चचेरे भाई की हत्या कर दी थी। हत्या के आरोप में प्रवीण झा सहित 35 व्यक्तियों को नामजद अभियुक्त बनाया गया। जिसमें संजय सिंह पर हरिजन एक्ट दर्ज कराने वाले शिवेश्वर भारती को भी नामजद किया गया।

पुलिस ने हत्याकांड में प्रवीण झा सहित 16 अभियुक्तों को गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। इधर अपने सहोदर व चचेरे भाईयों को खोने के बाद घर पहुंचते ही संजय सिंह चीख चीख कर रोने लगे। घरों पर स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गयी। हर कोई उन्हें संवेदना दे रहा था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored