Header 300×250 Mobile

शराब कांड के आरोपी की जेल में मौत पर भारी बवाल, भगदड़ में महिला पुलिसकर्मी की दर्दनाक मौत

पुलिस-पब्लिक झड़प के दौरान अज्ञात वाहन ने महिला सिपाही को रौंदा, तत्काल हुई मौत

- Sponsored -

353

- Sponsored -

- sponsored -

सड़क जाम कर रहे लोगों को हटाने गई पुलिस से भिड़े प्रदर्शनकारी, खूब चले ईंट-पत्थर

जवाब में पुलिस ने भी बरसाई लाठियां, झड़प में कई पुलिसकर्मी व जवान हुए घायल

जहानाबाद (voice4bihar news)। शराब कांड में पकड़े गए एक शख्स की जेल में मौत के बाद जहानाबाद में भारी बवाल हुआ। उग्र गामीणों व पुलिस के बीच हुई झड़प में दर्जनों लोग घायल हो गए। इस दौरान हुई भगदड़ में एक महिला पुलिसकर्मी की भी मौत हो गयी। यह घटना जहानाबाद जिले के परसबिगहा थाना क्षेत्र अंतर्गत NH-110 पर नेहानपुर के पास हुई, जहां सरत निवासी देवेंद्र मांझी की जेल में मौत के विरोध में सैकड़ों लोग गुस्से का इजहार कर रहे थे।

बताया जाता है कि नेहालपुर के पास सड़क जाम की सूचना पर पहुंची परसबिगहा थाने की पुलिस ने जैसे हो जाम हटाने की कोशिश की, लोगों का गुस्सा भड़क गया। इस बीच एकाएक पुलिस-पब्लिक के बीच झड़प शुरू हो गयी। पुलिस जहां लाठियां बरसा रही थी, वहीं ग्रामाणों ने ईंट-पत्थर चलाकर हमला बोल दिया। इससे जहां NH-110 रणक्षेत्र में तब्दील हो गया, वहीं आसपास के लोगों में दहशत छा गया

उग्र भीड़ ने SDPO की गाड़ी समेत कई वाहन किये क्षतिग्रस्त

विज्ञापन

सूत्रों ने बताया कि पुलिस-पब्लिक की झड़प में दर्जनों पुलिस कर्मी एवं ग्रामीण घायल हो गए। इस दौरान हुए भगदड़ में एक महिला पुलिसकर्मी कांति देवी को अज्ञात वाहन ने कुचल दिया, जिससे घटनास्थल पर ही उसकी मौत हो गयी। हालात बेकाबू होता देख अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी (SDPO) अशोक कुमार पांडेय अतिरिक्त पुलिस बल लेकर घटना स्थल पर पहुंचे। SDPO की गाड़ी देखते ही उग्र ग्रामीणों ने हमला बोल दिया। एसडीपीओ की गाड़ी समेत कई पुलिस वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया।

पुलिस पब्लिक की झड़प में कई राउंड फायरिंग

दूसरी ओर अपुष्ट सूत्रों की मानें तो पुलिस-पब्लिक के बीच झड़प में कई राउंड गोली चलने की भी सूचना है। हालांकि बाद में पुलिस ने आत्म रक्षा के लिए सिर्फ दो तीन राउंड गोलो चल्लाने की पुष्टि की। SDPO से भी हालात नहीं संभले तो जहानाबाद के एसपी दीपक रंजन तथा एडीएम अरविन्द मंडल भी घटनास्थल पर पहुंच गए। अधिकारियों ने हालात का जायजा लिया और स्थिति सामान्य करने का प्रयास किया।

शराब कांड के आरोपी देवेंद्र मांझी की औरंगाबाद के दाउदगर जेल में हुई मौत

उल्लेखनीय है कि विगत 18 जुलाई को परमबिगहा थाना क्षेत्र में सरता मांझी टोला निवासी देवेन्द्र माझी को पुलिस ने शराब के साथ गिरफ्तार किया था। कोर्ट में पेशी के बाद उसे न्यायिक हिरासत में भेजने का आदेश मिला। कोरोना प्रोटोकॉल के तहत उसे औरंगाबाद के दाउदनगर भेजा गया था, जहां उसकी मृत्यु हो गयी। ग्रामीणों का कहना है कि गिरफ्तारी के दौरान पुलिस ने बेरहमी से मारपीट की थी और बिना इलाज के जेल भेज दिया था। इलाज के अभाव में हो देवेन्द्र मांझी की मौत हो गयी है। हालांकि पुलिस ने इन आरोपों का खंडन किया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored