Header 300×250 Mobile

बिहार में मंत्री के ओएसडी के ठिकानों पर निगरानी विभाग का छापा

खान एवं भूतत्व मंत्री जनक राम के ओएसडी हैं मृत्युंजय कुमार

- Sponsored -

284

- sponsored -

- Sponsored -

अररिया स्थित पैतृक निवास के अलावा कटिहार में भी दबिश

अवैध बालू खनन करने वालों से सांठगांठ का शक, आय से अधिक सम्पत्ति की जांच

जोगबनी/अररिया (voice4bihar news)। बिहार के निगरानी विभाग की विशेष टीम ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए दो अलग-अलग ठिकानों पर छापेमारी की है। पटना, कटिहार व अररिया स्थित ये ठिकाने खान एवं भूतत्व विभाग के मंत्री जनक राम के ओएसडी मृत्युंजय कुमार व इनके करीबियों के बताए जा रहे हैं।

विशेष निगरानी इकाई की टीम ने ओएसडी मृत्युंजय कुमार के अररिया स्थित पैतृक आवास पर छापेमारी की है। खान एवं भूतत्व विभाग के मंत्री जनक राम के OSD मृत्युंजय कुमार पर अवैध बालू खनन माफियाओं से सांठगांठ का शक है। बताया जाता है कि निगरानी विभाग में एडीएम रैंक के अधिकारी मृत्युंजय कुमार के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने का मामला दर्ज किया गया है।

अररिया में ओएसडी के घर पर कुछ भी नहीं मिला

विशेष निगरानी शाखा के एएसपी सुधीर कुमार के नेतृत्व में डीएससी विपिन कुमार व इंस्पेक्टर अजय कुमार के साथ स्थानीय थाना पुलिस ने अररिया के रहिका टोला स्थित मृत्युंजय कुमार के आवास पर सघन छापेमारी की। छापामारी के बाद एएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि क्योंकि मृत्युंजय कुमार का पैतृक आवास है, यहां पर निगरानी को कुछ हाथ नहीं लगा।

विज्ञापन

ओएसडी के करीबियों के यहां छापेमारी के दौरान कटिहार में बरामद रुपये व सोने की ईंट।
ओएसडी के करीबियों के यहां छापेमारी के दौरान कटिहार में बरामद रुपये व सोने की ईंट।

ओएसडी के भाई व महिला मित्र के यहां दबिश

उन्होंने बताया कि निगरानी विभाग ने OSD के अररिया सहित चार ठिकानों पर एक साथ छापेमारी कर रही है। हालांकि पटना, कटिहार में निगरानी को बड़ी सफलता मिलने की बात कही जा रही है।

विशेष निगरानी इकाई पटना में दर्ज है आय से अधिक संपत्ति का मामला

बताया जाता है कि मृत्युंजय कुमार के पैतृक निवास के अलावा उनके भाई धनंजय कुमार एवं एक महिला मित्र रत्ना चटर्जी के ठिकानों पर दबिश दी गई है । रत्ना चटर्जी के आवास पर 15 लाख कैश बरामद होने की सूचना मिल रही है । साथ ही उनके बैंक एकाउंट से भारी रकम के लेन देन के सबूत भी मिले हैं । बताते चलें कि राजधानी पटना स्थित विशेष निगरानी इकाई में आय से अधिक संपत्ति अर्जित करने का मामला दर्ज हुआ है । उन पर आरोप है कि सरकारी सेवा में रहते हुए उन्होंने नाजायज ढंग से संपत्ति उगाही की है । उनके कुल वेतन एवं आय के अन्य स्रोतों की तुलना में काफी में अधिक संपत्ति एकत्र की है ।

संबंधित खबर : बर्खास्त सीडीपीओ निकली करोड़ों की मालकिन

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored