Header 300×250 Mobile

प्राथमिक शिक्षक बहाली : शिड्यूल का इंतजार हुआ लंबा

अभ्यर्थियों ने चेतावनी के साथ खत्म किया धरना

- Sponsored -

119

- Sponsored -

- sponsored -

Voice4bihar.com desk  गर्दनीबाग में पिछले 12 दिनों से धरना पर बैठे शिक्षक अभ्यर्थियों ने शुक्रवार को चेतावनी के साथ अपना धरना समाप्त कर दिया। प्राथमिक शिक्षक अभ्यर्थियों ने कहा है कि अगर राज्य सरकार ने शीघ्र नियोजन शिड्यूल जारी नहीं किया तो विधानसभा सत्र शुरू होने के दिन से वे आमरण अनशन पर बैठेंगे।

इसके पहले पिछले दो दिनों से शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव संजय कुमार और प्राथमिक शिक्षा निदेशक रंजीत कुमार सिंह लगातार निजी समचार चैनल और सोशल मीडिया पर अभ्यर्थियों को शिड्यूल जारी करने का भरोसा देते दिख रहे हैं। मुख्यमंत्री से बहाली प्रक्रिया पूरी करने की हरी झंडी मिलने के बाद शिक्षा विभाग के दोनों वरिष्ठ अधिकारियों ने साफ कर दिया है कि बहाली प्रक्रिया रद्द नहीं होगी और शीघ्र ही शिड्यूल जारी कर अभ्यर्थियों का नियोजन किया जायेगा।

विज्ञापन

शुक्रवार को प्राथमिक शिक्षा निदेशक रंजीत कुमार सिंह एक बार फिर कहते दिखे कि दो-चार दिनों में शिड्यूल जारी कर दिया जायेगा। श्री सिंह ने बताया कि पंचायत और प्रखंड शिक्षकों की काउंसिलिंग प्रखंड स्तर पर की जायेगी। उन्होंने बताया कि ओपन कैंप से काउंसिलिंग की जायेगी ताकि अधिक से अधिक अभ्यर्थियों को मौका मिल सके। उन्होंने बताया कि काउंसिलिंग के वक्त अभ्यर्थियों के ओरिजिनल डॉक्यूमेंट जब्त कर लिये जायेंगे। डॉक्यूमेंट की जांच के बाद नियोजन पत्र का वितरण किया जायेगा।

इधर, मुख्यमंत्री की हरी झंडी मिलने के दो दिन बाद भी काउंसिलिंग शिड्यूल जारी नहीं होने से अभ्यर्थियों में थोड़ी नाराजगी भी है। इस मामले को लेकर शुक्रवार को शिक्षक अभ्यर्थियों की अगुवाई कर रहीं मुन्नी शुक्ला अपने सहयोगी के साथ प्राथमिक शिक्षा निदेशक रंजीत कुमार सिंह से सचिवालय सथित उनके कार्यालय कक्ष में मिलने भी गयीं। शुक्ला ने बताया कि निदेशक ने उन्हें आश्वस्त किया है कि अगले हफ्ते शिड्यूल जारी कर दिया जायेगा।

शुक्ला ने एक वीडियो जारी कर बताया है कि अगर इस बार सरकार ने धोखधड़ी की तो वह अनशन पर बैठ जायेंगी। उन्होंने बताया कि प्राथमिक शिक्षा निदेशक ने उन्हें आश्वस्त किया है कि 94 हजार शिक्षकों की बहाली प्रक्रिया पंचायत चुनाव के पूर्व पूर्ण कर ली जायेगी। यहां बता दें कि बिहार में पंचायत चुनाव अप्रैल में होंगे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT