Header 300×250 Mobile

थानेदार की मॉब लिंचिंग के जिम्मेदार पुलिसवालों पर गिरी गाज

सर्किल इंस्पेक्टर समेत टीम में शामिल सभी पुलिसकर्मी निलंबित

- Sponsored -

288

- Sponsored -

- sponsored -

शुक्रवार की रात पश्चिम बंगाल में भीड़ की शक्ल में आये अपराधियों ने की थी पीट-पीटकर हत्या

किशनगंज (voice4bihar news)। बिहार के किशनगंज जिले के सीमावर्ती पश्चिम बंगाल में मॉब लिंचिंग का शिकार हुए थानाध्यक्ष अश्वविनी की मौत को लेकर उठ रहे तमाम सवालों के बीच कई पुलिसकर्मियों पर गाज गिर गयी है। डीआईजी के निर्देश पर छापेमारी टीम में शामिल सर्किल इंस्पेक्टर समेत सभी पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है। बताया जाता है कि भीड़ के बीच घिरे थाना अध्यक्ष को अकेला छोड़कर सभी पुलिस वाले फरार हो गए थे।

बाइक लूट मामले में अभियुक्त के गांव पहुंची थी पुलिस की टीम

बता दें कि किशनगंज के सीमावर्ती प्रखंड पोठिया से सटे पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर अनुमंडल में शुक्रवार की रात यह घटना हुई थी। किशनगंज शहर से महज 12 किलोमीटर दूर बंगाल के पांजीपाड़ा ओपी थाना अंतर्गत पातापाड़ा गांव में एक मामले की तहकीकात के सिलसिले में गए थे। किशनगंज टाउन थानाध्यक्ष अश्विनी कुमार दल – बल के साथ शुक्रवार की देर रात्रि मोटरसाइकिल लूट के मुख्य अभियुक्त निवासी फिरोज आलम के गांव पांतापाड़ा पहुंचे थे, जहां अभियुक्त फिरोज ने ग्रामीणों को उकसा कर अन्य अपराधियों के सहयोग से बिहार पुलिस की टीम पर हमला कर दिया।

विज्ञापन

यह भी पढ़ें : भाई ने किया सवाल, अकेले मेरे भैया पर ही क्यों हुआ हमला?

थानेदार की मॉब लिंचिंग होता देख भाग गयी थी पूरी पुलिस टीम

सैकड़ों की संख्या में उग्र लोगों को देखते हुए बिहार पुलिस के जवान वहां से भाग निकले। लेकिन थानाध्यक्ष को बदमाशों ने बंधक बना लिया और उग्र भीड़ ने पीट-पीट कर थानाध्यक्ष की हत्या कर दी। घटना की सूचना जैसे एसपी कुमार आशीष को मिली वैसे आनन – फानन में भारी संख्या में पुलिस-बल के साथ एसपी घटना स्थल पर पहुँचे और अचेत अवस्था में थानाध्यक्ष को उपचार के लिए इस्लामपुर अस्पताल लाया। जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

शनिवार को पश्चिम बंगाल के इस्लामपुर अनुमंडलीय अस्पताल में दिवंगत थानाध्यक्ष का पोस्टमॉर्टम कराया गया। पूर्णिया जोन के आईजी सुरेश प्रसाद चौधरी एवं किशनगंज डीएम डॉ आदित्य प्रकाश तथा एसपी कुमार आशीष के नेतृत्व में तीन सदस्यीय चिकित्सकों की टीम गठित कर इस्लामपुर ( पश्चिम बंगाल) के अनुमंडलीय अस्पताल में पोस्टमॉर्टम कराया गया।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT