Header 300×250 Mobile

दुर्घटनाग्रस्त विमान में को-पायलट अंजू के सपने रह गए अधूरे

वर्ष 2006 में यति एयरलाइंस के विमान दुर्घटना हुई थी अंजू के पति की मौत!

- Sponsored -

1,353

- Sponsored -

- sponsored -

अंजू को इस उड़ान के बाद ही मिलना था कैप्टन का प्रमाण पत्र
विराटनगर की अंजू ने भारत में की थी 12वीं कक्षा तक की पढ़ाई

जोगबनी से राजेश शर्मा की रिपोर्ट

Voice4bihar News. रविवार को नेपाल के पोखरा के सेती खोंच में दुर्घटनाग्रस्त यति एयरलाइन्स के जहाज में को–पाइलट अंजू का अंत अपने पति की तरह ही हुआ। 16 वर्ष पहले (वर्ष 2006 में) अंजू के पति की मौत भी यति एयरलाइंस के विमान हादसे में हुई थी। नेपाल के विराटनगर निवासी अंजू खतिवडा की मौत से प्रदेश एक में शोक की लहर है।

दुर्घटनाग्रस्त यति एयर के एटीआर-72 विमान में सवार 68 यात्री को लेकर आ रहे विमान को पाइलट कमल केसी उड़ा रहे थे तो को–पाइलट के रूप मे अंजू खतिवडा उन्हें असिस्ट कर रही थीं।

को पायलट अंजू के पति की भी विमान दुर्घटना में हुई थी मौत

एटीआर-72 विमान में को पायलट अंजू के करियर की शुरुआत भी एक दर्दनाक विमान हादसे की हुई थी, जब उन्होंने अपना पति खोया था। जहाज दुर्घटना में पति की मौत के बाद दिए गए पारिवारिक सहयोग की मदद से अंजू ने पायलट की ट्रेनिंग लीं थी। भारत के जोगबनी सीमा के नजदीक अवस्थित विराटनगर वार्ड संख्या-5 की निवासी अंजू की पल्स टू तक की शिक्षा भारत में ही हुई थी।

विज्ञापन

2006 में जुम्ला में क्रैश हुआ था यति एयर का विमान

वर्ष 2006 में जुम्ला में हुए यति एयर के जहाज दुर्घटना में अंजू के पति दीपक पोखरेल का निधन हुआ था। अंजू के रिश्तेदार ने दूरभाष पर बताया की पति के निधन के बाद अंजू ने अमेरिका जा पायलट की पढ़ाई पूरी की थी। उसके बाद को पायलट के तौर पर यति एयरलाइंस में जॉब करती थी।

100 घंटे हवाई जहाज उड़ाने का था अनुभव

को पायलट अंजू अब तक 100 घंटा जहाज उड़ा चुकी थी। जहाज उड़ा रहे पाइलट केसी प्रशिक्षक पाइलट थे। यति एयरलाइन्स के अनुसार अंजू इससे पूर्व भद्रपुर, विराटनगर, धनगढी सहित अन्य एयरपोर्ट में बड़े जहाज में लम्बी दूरी की सफल उड़ान कर चुकी थी। आज प्रशिक्षक पायलट के रुप में रहे पायलट केसी के साथ जिस उड़ान पर निकली थी, वह अंजू को कैप्टन में पास करवाने के लिए अंतिम उड़ान थी। अंजू को इस उड़ान के बाद कैप्टन का क्लियरेन्स प्रमाण पत्र मिलना था ।

दुर्घटनाग्रस्त विमान के मलबे से 64 शव निकाले गए

यति एयर के दुर्घटना में खबर लिखे जाने (शाम 5 बजे) तक 64 यात्रियों की मृत्यु होने की पुष्टि हो चुकी थी। घटना स्थल पर मौजूद रहे कास्की के एसपी अजय केसी ने 64 डेडबॉडी निकाले जाने की पुष्टि की है। साथ ही 2 यात्रियों को जीवित बचाये जाने की सूचना मिली है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT