Header 300×250 Mobile

बीएड कोर्स में एडमिशन के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन अनिवार्य, अभ्यर्थियों को देना होगा निर्धारित शुल्क, काउंसिलिंग की पूरी प्रक्रिया यहां जानें…

01 से 12 सितम्बर 2021 तक होगी काउंसिलिंग, पसंदीदा कॉलेज का विकल्प भी चुन सकेंगे

- Sponsored -

896

- sponsored -

- Sponsored -

बीएड व शिक्षा शास्त्री कोर्स में काउंसिलिंग के लिए नहीं करनी होगी भाग-दौड़, सबकुछ ऑनलाइन

22 से 29 सितंबर तक आवंटित महाविद्यालय में जाकर कराना होगा पेपर सत्यापन, तब होगा एडमिशन

पटना/दरभंगा (voice4bihar news)। राज्य स्तरीय संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा का परिणाम जारी होने के साथ ही अब दाखिले की दौड़ शुरू होने वाली है। हालांकि इस बार बैचलर ऑफ एजुकेशन तथा शिक्षा शास्त्री कोर्स में एडमिशन लेने के लिए शारीरिक भाग-दौड़ नहीं करनी पड़ेगी। बीएड प्रवेश परीक्षा लेने वाली नोडेल यूनिवर्सिटी ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय ने नामांकन के लिए ऑनलाइन काउंसिलिंग की व्यवस्था की है। प्रवेश परीक्षा में सफल अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग में भाग लेने के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराना होगा। इसके लिए उन्हें निर्धारित शुल्क भी जमा करना होगा।

मिथिला विश्वविद्यालय के आधिकारिक वेबवाइट पर होगा रजिस्ट्रेशन

प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट घोषित करने के एक दिन बाद ही ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा ने दो वर्षीय बीएड एवं शिक्षा शास्त्री कोर्स में नामांकन के लिए ऑनलाइन काउंसिलिंग की तिथि जारी कर दी। राज्य नोडल पदाधिकारी डॉ. अशोक कुमार मेहता ने बताया कि CET-BED-2021 की प्रवेश परीक्षा में सफल हुए अभ्यर्थी आधिकारिक वेबसाइट www.bihar-cetbed-lnmu.in पर जाकर ऑनलाइन काउंसिलिंग एवं महाविद्यालयों में नामांकन के लिए रजिस्ट्रेशन कर सकेंगे।

यह भी पढ़ें : बीएड प्रवेश परीक्षा का रिजल्ट जारी, 95.06 प्रतिशत परीक्षार्थी हुए सफल

अधिकतम 12 बीएड कॉलेजों का विकल्प चुन सकेंगे अभ्यर्थी

सभी सफल अभ्यर्थियों को काउंसिलिंग की प्रक्रिया में भाग लेने के लिए रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है। 01 सितम्बर से 12 सितम्बर 2021 तक अभ्यर्थी रजिस्ट्रेशन के साथ अपने पसंदीदा व नजदीकी बीएड कॉलेजों का विकल्प भी चुनेंगे। अभ्यर्थियों को रजिस्ट्रेशन के समय ही महाविद्यालयों का चयन भी करना होगा। यह भी शर्त रखी गयी है कि हर अभ्यर्थी अधिकतम 12 महाविद्यालयों का चयन कर सकेगा।

अनारक्षित वर्ग के लिए 1000 रुपये शुल्क, एससी/एसटी के लिए 500 रुपये

काउंसिलिंग में भाग लेने के लिए अनारक्षित श्रेणी (General) के अभ्यर्थियों के लिए रजिस्ट्रेशन शुल्क 1000 रुपये तय किया गया है। इसी तरह पिछड़े वर्ग (BC), अत्यंत पिछड़े वर्ग (EBC), आर्थिक पिछड़े वर्ग (EWS), महिला एवं दिव्यांग श्रेणी के अभ्यर्थियों के लिए 750 रुपये शुल्क रखा गया है। अनुसूचित जाति व जनजाति (SC/ST) उम्मीदवारों को 500 रुपये अदा करने होंगे।

विज्ञापन

18 को जारी होगी आवंटित कॉलेजों की सूची, 22 सितंबर से होगा एडमिशन

डॉ . मेहता ने बताया कि 18 सितम्बर को वेबसाइट पर आवंटित महाविद्यालयों का नाम जारी कर दिया जाएगा। 19 से से 25 सितम्बर तक अभ्यर्थी आवंटित महाविद्यालय के लिए स्वीकृति देंगे तथा 3000 रुपये अंश शुल्क सभी अभ्यर्थी ऑनलाइन ही जमा करेंगे। इसके बाद 22 सितंबर से 29 सितंबर तक अभ्यर्थी आवंटित महाविद्यालय में जाकर पेपर सत्यापन और नामांकन करा सकेंगे।

हर सीट पर एडमिशन के लिए 3 दावेदार

अब तक प्राप्त जानकारी के मुताबिक राज्य भर के 339 बीएड कॉलेजों में 36050 सीट पर इन सफल परीक्षार्थियों का नामांकन होगा। इस तरह एक सीट पर 3 से 4 छात्रों की काउंसलिंग होगी। क्योंकि राज्य भर से बीएड प्रवेश परीक्षा में 112146 परीक्षार्थी सफल हुए हैं। इसकी तुलना में कुल सीटों की संख्या करीब एक तिहाई है। काउंसिलिंग से लेकर नामांकन तक की प्रक्रिया में अभ्यर्थियों को कोई दिक्कत न हो इसके लिए ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय की ओर से पूरी व्यवस्था की गई है। विश्वविद्यालय ने काउंसिलिंग की प्रक्रिया के बारे में भी विस्तार से जानकारी दी है।

इसे भी पढ़ें : समस्तीपुर के प्रीतम कुमार बने स्टेट टॉपर, छात्राओं में पटना की राखी कुमारी प्रथम

कैसे पूरी होगी काउंसिलिंग की प्रक्रिया?

1. सफल अभ्यर्थियों के रजिस्ट्रेशन के लिए अभ्यर्थी पहले आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग इन करें।
2. रिजल्ट, रैंक के साथ अन्य पेपरों को सत्यापित कर लें।
3. नामांकन के लिए विश्वविद्यालयों का चयन करें। चयनित विश्वविद्यालयों में से अधिकतम 12 महाविद्यालयों का चयन कर सकेंगे।
4. सफल चयन के बाद महाविद्यालयों को वरीयता क्रम दें। चुने गये महाविद्यालयों की पुन: जांच कर लें।
5. इन सभी प्रक्रिया पूरी करने के बाद ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का शुल्क जमा करें।
6. शुल्क सफलता पूर्वक जमा होने पर उस पेज का फाइनल प्रिंट आउट जरूर ले लें।

 स्वचालित सीट आवंटन प्रक्रिया, महाविद्यालय आवंटन और नामांकन शुल्क : –

7. अभ्यर्थी वेबसाइट पर लॉगइन करेंगे तथा आवंटित महाविद्यालय के लिए स्वीकृति देंगे।
8. आवंटित महाविद्यालय स्वीकृति के बाद 3000 रुपये (Non-Refundable) अंश शुल्क ऑनलाइन जमा करेंगे।
9. शुल्क सफलतापूर्वक जमा करने पर उस पेज का जरूर प्रिंट आउट लें।

आवंटित महाविद्यालय में दस्तावेज सत्यापन एवं नामांकन प्रक्रिया :-

10. आवंटित महाविद्यालय में छात्र अपने अकादमिक एवं अन्य वांछित दस्तावेज लेकर सत्यापन करवाएंगे।
11. दस्तावेज सत्यापन के बाद महाविद्यालय उन्हें नामांकन रशीद देगा।
12. कोर्स की शेष शुल्क महाविद्यालय निर्देशानुसार जमा करना होगा और नामांकन प्रक्रिया पूरी होगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT