Header 300×250 Mobile

तीन लोगों को मौत की नींद सुला गया नेपाल का जंगली हाथी, इलाके में कोहराम, देखें वीडियो…

ग्रामीण क्षेत्रों में व्यापक नुकसान पहुंचाने के बाद नेपाल लौटा जंगली हाथी

- Sponsored -

431

- Sponsored -

- sponsored -

देर रात को वापस नेपाल पहुंचने की सूचना पर लोगों ने ली राहत की सांस

जोगबनी (voice4bihar news)। नेपाल के जंगली इलाके से भारत के सीमावर्ती इलाके में घुस आये जंगली हाथी ने दो बच्चों समेत तीन लोगों को मौत की नींद सुला दी। भारत-नेपाल सीमा पर स्थित अररिया जिला अंतर्गत नरपतगंज प्रखंड क्षेत्र के मानिकपुर पंचायत में गुरुवार को नेपाल से पहुंचे जंगली हाथी ने व्यापक तबाही मचाई। इससे सीमा इलाके में दहशत का माहौल कायम हो गया। भारत की सीमा से लगे खेत-खलिहान में हाथी दिखने की सूचना जैसे ही गांव वालों को लगी, यह खबर जंगल मे आग की तरह फैल गई।

सूचना मिलने पर पहुंची वन विभाग व एसएसबी की टीम

नेपाल से भारत में आये जंगली हाथी की खबर स्थानीय थाना व फुलकाहा स्थित एसएसबी कैंप को दी गयी। फुलकाहा थाना अध्यक्ष हरेश तिवारी एवं एसएसबी कैंप प्रभारी एसआई दुर्गेश पांडे ने मौके पर पहुंच कर भीड़ को खाली करवाया। वहीं सूचना मिलने के साथ ही अररिया, बथनाहा से वन विभाग की टीम भी इलाके में पहुंच गयी।

विज्ञापन

वन विभाग की टीम हाथी को भारतीय इलाके से निकालने का प्रयास देर रात तक करती रही। इसी दरम्यान नरपतगंज प्रखंड के मानिकपुर पंचायत वार्ड संख्या 15 के निवासी राजू महतो के 10 वर्षीय पुत्र को जंगली हाथी ने अपनी चपेट में लेकर मार डाला। इसके बाद चकोरवा में खेत में काम कर रहे एक व्यक्ति को पटक कर मौत की नींद सुला दी।

जंगली हाथी को भगाने के लिए पूरी रात प्रशासनिक स्तर पर रही हलचल

बेकाबू होकर मानवीय बस्ती में लगातार नुकसान पहुंचा रहे जंगली हाथी को भगाने के लिए तीन थानों की पुलिस तथा वन विभाग की टीम के साथ अनुमंडल पदाधिकारी सुरेंद्र कुमार अलबेला, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी रामपुकार सिंह भी मौके पर डटे रहे। अधिकारी खुद भी हाथी को भारत से निकालने के लिए लगे हुए थे। काफी मशक्कत के बाद हाथी ने जोगबनी के रास्ते से निकल कर नेपाल सीमा में प्रवेश किया, तब जाकर अधिकारियों ने राहत की सांस ली।

नेपाल सीमा में घुसने के बाद भी हाथी का तांडव जारी

देर रात नेपाल सीमा में प्रवेश किये हाथी शुक्रवार की सुबह सुनवर्षी नगरपालिका के कुरेली में हाथी दिखने के बाद लोगों में भगाने के लिए व सेल्फी लेने की जैसे ही भीड़ लगी वही सेल्फी लेने के क्रम में हरिचन्द्रगढ़ी के 21 वर्षीय मनोहर मिया को हाथी के द्वारा कुचलने की बात मोरंग पुलिस प्रवक्ता मान बहादुर राई ने कही है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT