Header 300×250 Mobile

नीतू नवगीत ने लॉन्च की सरस्वती वंदना, सोशल मीडिया पर छाई मगही भाषा की महक

सरस्वती माता के भक्तों की जुबान पर इस गीत के बोल खूब चढ़े

- Sponsored -

257

- sponsored -

- Sponsored -

  • मां सरस्वती के आशीष व लगातार साधना से ही हमें विद्या, ज्ञान और कला के क्षेत्र में उन्नति प्राप्त होती है : नवगीत

पटना (voice4bihar desk)। सुप्रसिद्ध लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने बसंत पंचमी के दिन मगही में सरस्वती वंदना गीत सोशल मीडिया पर लॉन्च किया। इस गीत को मगही के प्रसिद्ध गीतकार और नाटककार स्व. सतीश कुमार मिश्र ने लिखा है जो कि उनके काव्य संग्रह दुभ्भी में संकलित है ।

विज्ञापन

अक्षर के मेहंदी नामक इस गीत का संगीत अनिल कुमार गुप्ता ने तैयार किया । लोक गायिका नीतू कुमारी नवगीत ने कहा कि मां सरस्वती संगीत, साहित्य और संस्कृति की देवी हैं । उनके एक हाथ में वीणा है तो दूसरे हाथ में पुस्तक है । उनके आशीष और लगातार साधना से ही हमें विद्या, ज्ञान और कला के क्षेत्र में उन्नति प्राप्त होती है ।

अपने भोजपुरी लोकगीतों की वजह से लोगों के दिलों पर छाई नीतू कुमारी नवगीत का यह गीत भी सोशल मीडिया पर खूब पसंद किया गया। चूंकि मौका भी वसंत पंचमी का है, ऐसे में सरस्वती माता के भक्तों की जुबान पर इस गीत के बोल खूब चढ़े।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT