Header 300×250 Mobile

कटिहार के निवर्तमान मेयर की हत्या में नामजद मां-बेटी समेत चार गिरफ्तार

भाजपा विधायक के भतीजे का भी एफआईआर में नाम, राजनीतिक सरगर्मी बढ़ी

- Sponsored -

430

- sponsored -

- Sponsored -

घटनास्थल से चार बाइक, चार मोबाइल, पिस्टल, देशी कट्टा, छह जिन्दा गोली, एक मैगजीन व दो खोखा बरामद

कटिहार (voie4bihar news)। बृहस्पतिवार की रात कटिहार नगर निगम के निवर्तमान मेयर शिवराज पासवान उर्फ शिवा पासवान की हत्या में दो महिलाओं समेत चार लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। वहीं इस हत्याकांड में कोढ़ा से भाजपा विधायक कविता पासवान के भतीजे को नामजद करने से राजनीतिक सरगर्मी तेज हो गई है। बीती रात नगर थाना क्षेत्र के संतोषी मंदिर के समीप अज्ञात लोगों ने शिवराज पासवान को उस वक्त गोली मारी थी, जब वे मंदिर में दर्शन के लिए पहुंचे थे। मेयर की मौत से आक्रोशित समर्थकों ने रात में भारी हंगामा किया था।

मेयर हत्याकांड में मृतक के छोटे भाई छोटू पासवान के फर्द बयान पर बृहस्पतिवार की देर रात दो महिलाओं सहित 12 लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज की गयी है। नगर थाना कांड संख्या 416/21 में IPC की धारा 307, 302, 120 बी 34 एवं 27 आर्म्स एक्ट के साथ साथ 3/2/5 ए, एसटी-एससी एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ है। कटिहार पुलिस ने शुक्रवार को प्राथमिकी अभियुक्तों में से चार को गिरफ्तार कर लिया है, इसमें शुभम पासवान, पिंटू पासवान पिता लक्षमण पासवान, कुमकुम देवी पति कृष्णा श्रीवास्तव एवं मनीषा श्रीवास्तव पिता कृष्णा श्रीवास्वत शामिल हैं।

पूछताछ के लिए 5-7 लोग हिरासत में लिये गए

इनके अलावा 5-7 अन्य लोगों को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। इधर मामले की गंभीरता को देखते हुए मामले की जांच के लिए आईजी पूर्णिया सुरेश कुमार चौधरी स्वयं कटिहार पहुंचे। उन्होंने मृतक के परिजनों से भी मामले की जानकारी ली और जल्द ही मामले का उद्भेदन करने का आश्वासन दिया। आईजी ने कटिहार एसपी को निर्देश दिया कि अपराधियों को जल्द गिरफ्तार करें।

संबंधित खबर : कटिहार के निवर्तमान मेयर शिवराज पासवान को गोलियों से भून डाला

हत्याकांड की वजह स्पष्ट नहीं, तीन एंगल पर हो रही जांच

कटिहार पुलिस ने भले ही मेयर हत्याकांड में चार आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है लेकिन यह केस अभी कई एंगल के बीच फंसा हुआ है। इस केस में अब तक तीन एंगल उभर कर सामने आए हैं, जिनमें प्रोपर्टी डीलिंग से जुड़े विवाद, एक परिवार में पंचायती के दौरान हुई नोकझोंक तथा राजनीतिक वर्चस्व की जंग शामिल है। यही कारण है कि कटिहार पुलिस मेयर हत्याकांड की जांच कई बिन्दुओं पर कर रही है।

मेयर हत्याकांड की जांच करते पुलिस के आला अधिकारी।

विज्ञापन

विधायक के भतीजे के साथ प्रोपर्टी डीलिंग को लेकर कई बार हो चुका था टकराव

बताया जा रहा है कि कोढ़ा विधानसभा क्षेत्र की विधायक कविता पासवान के भतीजे नीरज पासवान और मेयर शिवा पासवान प्रोपर्टी डीलर के काम संलिप्त थे। इन दोनों के बीच प्रतिस्पर्धा चल रही थी, जिस कारण कई जगहों पर दोनों के बीच टकराव भी हो चुका है। इसके साथ ही नीरज पासवान के परिजन और मेयर शिवा पासवान के परिजनों के बीच राजनीतिक वर्चस्व को लेकर प्रतिद्वंद्विता भी रहा है। इसलिए एफआईआर में भी नीरज पासवान का नाम दर्ज हुआ है। पुलिस इस दोनों बिंदुओं को केंद्र में रखकर जांच कर रही है।

दो परिवारों के बीच पंचायती के दौरान निर्णय देना भी महंगा पड़ा!

सूत्रों की मानें तो मेयर शिवा पासवान की हत्या में नामजद अभियुक्तों में ऐसे भी शख्स शामिल हैं, जिनकी पंचायती के दौरान मेयर को बुलाया गया था। बताया जाता है कि दो परिवारों के आपसी विवाद का निपटारा करने के लिए चार दिन पूर्व एक पंचायती में मेयर शिवा पासवान गये थे। पंचायती में शिवा ने एक पक्ष को डांट फटकार भी लगाई थी। जिस कारण पंचायती में ही शिवा पासवान के साथ नोकझोंक हुई थी। इस मामले को लेकर शिवा पासवान के परिजन ने दूसरे पक्ष के साथ मारपीट भी की थी। मेयर के परिजन को यह भी आशंका है कि इसी विवाद में एक साजिश के तहत शिवा की हत्या कर दी गई।

एक महिला का फोन आने पर बिना सेक्युरिटी के ही घर से निकल गए थे मेयर

इस हत्याकांड को सुलझाने में पुलिस के सामने कई सवाल अब भी चुनौती बने हुए हैं। सूत्रों की मानें तो हत्या के ठीक पहले किसी एक महिला का फोन आने पर शिवा पासवान बिना किसी सुरक्षा के अपने घर से निकल पड़े थे। सवाल यह है कि आखिर फोन करने वाली महिला कौन है? अगर उस महिला के फोन पर शिवा पासवान बाहर निकले तो क्या इस सुनियोजित घटना को अंजाम देने में उस महिला की भी भागीदारी है? इस सवाल के तह में जाने के लिए मेयर के फोन के सीडीआर को भी खंगाला जा रहा है।

संबंधित खबर : मनीषा ने ही निवर्तमान मेयर को फोन पर बुलाया, बाहर घात लगाए अपराधियों ने शिवा पर बरसाई गोली

घटना की रात से ही जारी है पुलिस की छापेमारी

पुलिस अधीक्षक विकास कुमार के निर्देश पर पुलिस ने घटना की रात से ही ताबड़तोड़ छापेमारी करते हुए चार नामजदों को गिरफ्तार कर लिया है। थानाध्यक्ष राघवेन्द्र कुमार ने बताया कि अभियुक्त अभियुक्तों में कृष्णा श्रीवास्तव की पत्नी कुमकुम देवी व पुत्री मनीषा श्रीवास्तव के अलावा पिंटू पासवान व शुभम पासवान शामिल हैं। इसके साथ ही घटना स्थल के नजदीक रेलवे लाईन से चार बाइक, चार मोबाइल, एक ऑटोमेटिक पिस्टल, एक देशी कट्टा, छह जिन्दा कारतूस, दो खोखा एवं एक मैगजीन बरामद की गयी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored