Header 300×250 Mobile

मॉब लिंचिंग : युवक को चोर बताकर पीट – पीट कर हत्या

ग्रामीणों ने कहा- चोरी करने आया था , इस लिए रस्सी से बांधकर पीटा

- Sponsored -

629

- Sponsored -

- sponsored -

मृतक के परिजनों ने कहा – सड़क को लेकर था विवाद , साजिशन मॉब लिंचिंग

एसडीपीओ ने कहा- कानून को हाथ में लेने वालों पर होगी कार्रवाई

अररिया (voice4bihar news)। बिहार के अररिया जिले में मॉब लिंचिंग की घटना सामने आई है, जहां उग्र भीड़ ने एक युवक को रस्सी से बांध बेरहमी से पीटकर हत्या कर दी। ग्रामीण इस युवक को चोर बता रहे हैं तो मृतक के परिजन साजिशन हत्या करार दे रहे हैं। यह वारदात जिले के जोकीहाट थाना अंतर्गत चकई गांव में हुई है। युवक की पहचान उसी गांव के शोएब के रूप में हुई है। घटनास्थल की तस्वीरें काफी दर्दनाक है।

बताया जाता है कि युवक को पकड़ने के बाद ग्रामीणों ने पहले इसके पैर को रस्सी से बांध दिया। इसके बाद तब तक उसकी बेरहमी से पिटाई की गयी , जब तक निढाल नहीं हो गया। बाद में गांव के ही कुछ लोगों की पहल पर इसे रेफरल अस्पताल पहुंचाया गया , लेकिन तब तक देर हो चुकी थी । संभवतः अस्पताल पहुंचने से पहले की उसकी मौत हो चुकी थी।

विज्ञापन

मॉब लिंचिंग में मारे गए युवक का शव देखते पुलिसकर्मी।
मॉब लिंचिंग में मारे गए युवक का शव देखते पुलिसकर्मी।

रेफरल अस्पताल में शव पहुंचा गए ग्रामीण : चौकीदार

युवक घटना के बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल अररिया भेज दिया है । वहीं मृतक युवक शोएब के पिता का कहना है कि गांव में सड़क बनाने को लेकर पूर्व से विवाद था । इसी वजह से गांव वालों ने घटना को अंजाम दिया है । मृतक के पिता का कहना है कि शोएब गांव में दूध लेने गया हुआ था । गांव के चौकीदार ने बताया कि जिस गांव में घटना घटी उसी गांव के लोगों ने शव को जोकीहाट रेफरल अस्पताल पहुंचाया।

प्रथम दृष्टया चोरी का मामला प्रतीत हो रहा : पुलिस

इस पूरे मामले में एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने बताया कि प्रथम दृष्टया प्रतीत होता है कि वह चोरी करने गांव में गया था , उसी में घटना को अंजाम दिया गया। एसडीपीओ ने बताया कि मृतक के परिजनों से संपर्क किया जा रहा है । कानून को अपने हाथ में लेने वालों पर कार्रवाई की जाएगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored