Header 300×250 Mobile

खुले में शौच के लिए जाना विवाहिता को पड़ा भारी, मनचलों ने किया गैंगरेप

औरंगाबाद में दो मनचलों ने झाड़ी में खींचकर किया सामूहिक दुष्कर्म

- Sponsored -

1,124

- sponsored -

- Sponsored -

घर से बाहर थे पति व सास, रातभर दर्द से कराहती रही पीड़ित महिला

सूचना मिलते ही फौरन एक्शन में आई पुलिस, दोनों को किया गिरफ्तार

औरंगाबाद (Voice4bihar news)। बिहार के औरंगाबाद जिले के गोह प्रखंड क्षेत्र में एक विवाहिता के साथ दो मनचलों ने गैंगरेप को अंजाम दिया है। वारदात उस वक्त हुई, जब वह शौच के लिए गांव से बाहर बधार में गयी थी। शाम के वक्त घात लगाए मनचलों ने विवाहिता का झाड़ी में खींचकर बारी-बारी से बलात्कार किया। शरीर व रुह पर जख्म लिए यह महिला वहां कराहती रही और मनचले युवक वहां से भाग निकले। दोनों उसी गांव के रहने वाले हैं।

दरअसल, खुले में शौच रोकने के लिए चले अभियान के दौरान सरकार की प्रमुख चिंताओं में महिला सुरक्षा भी शामिल था, लेकिन खुले में शौच मुक्त (ODF) इलाकों में भी यह कुप्रथा रुकने का नाम नहीं ले रही। प्रशासन की ढिलाई के साथ ही लोगों ने फिर खुले में शौच को अपना अधिकार माल लिया है, जिसका खामियाजा महिलाओं व युवतियों को छेड़खानी व बलात्कार जैसी घटनाओं के रूप में भुगतना पड़ रहा है। औरंगाबाद में गैंगरेप की वारदात ने एक बार फिर सोंचने पर विवश किया है।

विज्ञापन

घटना के संबंध में बताया जाता है कि बीते बृहस्पतिवार को शाम में करीब 7.30 बजे विवाहिता शौच करने अपने गांव के उत्तर दिशा की ओर गयी थी, जहां उसे अकेला पाकर पहले से घात लगाये बैठे दो मनचलों ने उसे दबोच लिया। मनचले उसका मुंह दबा कर एक झाड़ीनुमा खेत में खींच ले गये और दोनों ने बारी – बारी से उसके साथ मुंह काला किया। इसके बाद दोनों फरार हो गए। महिला के कराहने की आवाज सुनकर ग्रामीण जब मौके पर पहुंचे तो देखा कि झाड़ी में पड़ी विवाहिता गांव की ही रहनेवाली है। ग्रामीणों ने मानवता का परिचय देते हुए उसे घर पहुंचा दिया।

घर पहुंचकर भी विवाहिता की पीड़ा कम नहीं हुई। चूंकि उस रात महिला का पति बारात में सेवा कार्य करने के लिए गया था जबकि उसकी सास एक रिश्तेदार के यहां शादी समारोह में शामिल होने गयी थी। ऐस में पीड़िता पूरी रात दर्द को गैंगरेप के दर्द को सहती रही। शुक्रवार की सुबह जब पीड़िता की सास घर आई तो उसने रो-रोकर पूरा हाल बताया। इसके बाद सास अपनी बहू को साथ लेकर उपहारा थाने में शिकायत करने के लिए पहुंची। पीड़िता ने पुलिस को दोनों दुष्कर्मियों का नाम बताया और कार्रवाई की मांग की।

पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर भारतीय दंड विधान की धारा 341 , 323 , 376 बी , 506 एवं 34 के तहत उपहारा थाना कांड संख्या -32 / 22 दर्ज किया। प्राथमिकी में गांव के ही दिनेश कुमार एवं अशोक कुमार को नामजद आरोपी बनाया गया है। दाउदनगर के अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी ऋषि राज ने बताया कि मामले के त्वरित अनुसंधान और कार्रवाई के लिए पुलिस अधीक्षक कांतेश कुमार मिश्रा के निर्देश पर उनके नेतृत्व में अपहारा धानाध्यक्ष उपहारा मनोज कुमार तिवारी के साथ एक स्पेशल टीम का गठन किया गया।

एसटीएफ ने फौरन एक्शन लिया और टीम ने त्वरित कार्रवाई करते हुए 12 घंटे के अंदर दोनों दुष्कर्मियों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने पूछताछ के बाद दोनों को जेल भेज दिया है। पुलिस ने मेडिकल जांच कराने के लिए पीड़िता को औरंगाबाद सदर अस्पताल लाया है। मेडिकल जांच के बाद धारा 164 के तहत पीड़िता का दाउदनगर की अदालत में बयान दर्ज कराया जाएगा।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored