Header 300×250 Mobile

26 जिलों में हो रही कोविड जांच में गड़बड़ी की पड़ताल

अब तक जमुई्र, शेखपुरा, शिवहर और अररिया में सामने आई गड़बड़ी

- Sponsored -

276

- sponsored -

- Sponsored -

पटना (voice4bihar Desk)। प्रधान स्वास्थ्य सचिव प्रत्यय अमृत का कहना है कि कोविड जांच में गड़बड़ी की पड़ताल 26 जिलों में कराई जा रही है। विभाग ने इसके लिए 10 टीमें बनाई है जो अलग-अलग जिलों में जाकर रैंडम जांच कर रही है। उन्होंने जमुई के बरहट और सिकंदरा में हुई गड़बड़ी की पुष्टि करते हुए कहा कि जमुई और शेखपुरा के जिलाधिकारी को जांच कर पूरी रिपोर्ट देने को कहा गया है।

श्री अमृत के अनुसार, विभाग की जांच में अररिया के फारबिसगंज में भी कुछ मामले सामने आए हैं। सिविल सर्जन से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया है। जमुई के सिविल सर्जन और प्रतिरक्षण पदाधिकारी समेत चार को पहले ही सस्पेंड कर दिया गया है। प्रत्यय अमृत ने कहा कि अररिया के फारबिसगंज में जांच कराई गई है । 2-4 प्रखंडों में रैडम जांच में 0000 मोबाइल नंबर वाले कई केस मिले हैं। कई जगह एएनएम और आईटीकर्मी का नंबर मिला है। मेडिकल ऑफिसर और सिविल सर्जन से स्पष्टीकरण मांगा गया है।

विज्ञापन

शिवहर के पुरनहिया में 40 मामले ऐसे मिले हैं। 100 की रैडम जाच में तीन का नंबर ऑफ मिला है। एक नम्बर परिवार के ही सदस्य का मिला है। जमुई जैसी स्थिति यहां नहीं है। आगे जहां भी जांच में गड़बड़ी सामने आएगी, वहां कार्रवाई करेंगे। उन्होंने कहा कि जून-जुलाई में हमारी क्षमता एक हजार टेस्टिंग की भी नहीं थी। एंटीजन किट आने के बाद टेस्टिंग में तेजी आई। बीच में चुनाव और त्यौहारों के बावजूद टेस्टिंग में कोई ढिलाई नहीं हुई।

इस मामले के राज्यसभा में उठाये जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसका जवाब विभाग की ओर से भेज दिया गया है। उन्होंने कहा कि इस पूरे काम में हमारे स्वास्थ्यकर्मियों ने जान की बाजी लगाई है। एक अधिकारी या कर्मी की गड़बड़ी की वजह से सबके काम पर दाग नहीं लगना चाहिए।

इस बीच शुक्रवार की शाम दिल्ली से लौटे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से पटना एयरपोर्ट पर इस मामले में पूछे जाने पर कहा था कि उन्हें आज ही इसका पता चला है। सरकार इस पर तत्काल कार्रवाई कर रही है। पूरी रिपोर्ट केंद्र सरकार को भी भेजी गई है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के पास शुरू से हर चीज का डाटा है। किस दिन कितनी जांच हुई। लेकिन, ऐसी कोई बात हुई कि बिना जांच किये किसी के बारे में लिख दिया गया है तो यह गलत है। ऐसे लोगों पर कार्रवाई होगी।

 

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored