Header 300×250 Mobile

रोहतास में अब अपराधियों के जमानतदारों का होगा वेरिफिकेशन

रोहतास में फरार आरोपियों की कुर्की जब्ती की कार्रवाई होगी तेज

- Sponsored -

414

- sponsored -

- Sponsored -

  • गंभीर अपराधों में पकड़े गए लोगों का जमानत आसान नहीं होगा

अभिषेक कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar desk)। रोहतास में अब अपराधियों के जमानतदारों का भी वेरिफिकेशन करेगी पुलिस। पुलिस के इस कदम से गंभीर अपराधों में पकड़े गए लोगों का जमानत आसान नहीं होगा। यह निर्देश रोहतास SP आशीष भारती ने सभी थानाध्यक्षों सहित पुलिस के अन्य वरिष्ठ अधिकारियों के साथ  क्राइम मीटिंग में दिया। रोहतास SP ने इस गोष्ठी में जिले में अपराध को बेहतर ढंग से नियंत्रित करने का पाठ पढ़ाया। साथ ही बेहतर पुलिसिंग के कारण जिले के क्राइम ग्राफ में आई गिरावट पर संतोष भी जताया। क्राइम मीटिंग में जिले के विभिन्न थानों में दर्ज आपराधिक मामलों की समीक्षा के दौरान फरार व वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी व कुर्की जब्ति की कार्रवाई में तेजी लाने का निर्देश दिया।

बैठक में बताया गया कि जिले में जनवरी में 453 फरार आरोपित और शराब तस्कर गिरफ्तार किए गए हैं। जघन्य अपराध कांडों के वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी के बाद मिली जमानत के मामले में जमानतदार और उनके जमानत में प्रयुक्त कागजातों का सत्यापन संबंधित थानाध्यक्ष न्यायिक कार्य में प्रतिनियुक्त पुलिस पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए करेंगे। ऐसा फरमान रोहतास एसपी ने जारी किया है। विदित हो कि फर्जी दस्तावेजों के आधार पर कुख्यात अपराधियों के जमानत पर रिहा होने के कई मामले बिहार में उजागर हो चुके हैं। जमानतदारों का वेरिफिकेशन होने से लोग ऐसा करने से बचेंगे।

जनवरी में दर्ज किये गये 610 कांड

पुलिस कप्तान द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार रोहतास जिले के थानों में 610 कांड जनवरी माह में दर्ज किए गए जबकि लगभग 800 कांडों का निष्पादन किया गया। प्रतिमाह प्रतिवेदित कांडों की तुलना में 25 प्रतिशत अधिक कांडों के निष्पादन का लक्ष्य रखा गया है। इस माह लक्ष्य से अधिक कांडों का निष्पादन किया गया है। विगत जनवरी महीने में हत्या के 12 कांड दर्ज किये गए थे परंतु इस बार में बेहतर पुलिसिंग के कारण मात्र दो हत्या के कांड दर्ज किए गए। बैठक में मौजूद सभी एसएचओ को लंबित कांडों के लक्ष्य पूरा करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए पुलिस कप्तान ने थानाध्यक्षों को बधाई भी दी।

थानाध्यक्ष सहित एसडीपीओ भी करेंगे गश्त

बैंकों के अंदर बाहर और व्यावसायिक प्रतिष्ठानों, मार्केट शहरी क्षेत्र में नियमित जांच करते हुए संदिग्धों से पूछताछ करने के अलावा थाना क्षेत्र में महिला कॉलेज, बालिका विद्यालय व स्कूलों के आसपास भी नियमित गश्ती विशेषकर पैदल गश्ती सुनिश्चित करने और संबंधित एसडीपीओ भी इसकी समीक्षा करने सहित गश्ती करने का निर्देश दिया गया है।

स्थाई वारंटियों पर भी है नजर

कुर्की जब्ती के बावजूद पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ने वाले अपराधियों को स्थाई वारंटियों की सूची में रखने का कानूनी प्रावधान है। ऐसे में रोहतास एसपी आशीष भारती ने आज की हुई क्राइम मीटिंग में सभी थानाध्यक्षों को निर्देश दिया है कि न्यायालय द्वारा जारी स्थाई वारंट के आलोक में छापेमारी और धर पकड़ अभियान जारी रखें। इससे जघन्य अपराधों के वांछित अपराधियों द्वारा कांड के सूचक और गवाहों को धमकी दिए जाने के मामलों में गिरावट आने की संभावना है जिससे न्यायिक प्रक्रिया में आने वाली बाधाओं को दूर करने की दिशा में बेहतर पुलिसिंग सफल होगा।

विज्ञापन

धार्मिक आयोजनों सहित चुनाव को लेकर कसी कमर

बेहतर पुलिसिंग के लिए भविष्य की रणनीति भी आज की क्राइम मीटिंग में तैयार की गई। सरस्वती पूजा, होली, रामनवमी, पैक्स चुनाव, पंचायत चुनाव इतियादी के मद्देनजर निरोधात्मक कार्यवाही करने हेतु पुलिस कप्तान ने सभी थानाध्यक्षों को निर्देशित किया। साथ ही पुलिस कप्तान ने बताया कि जिले में सभी तरह के धार्मिक जुलूस, यज्ञ जुलूस, मंदिरों में होने वाले भजन कीर्तन सहित सांस्कृतिक आयोजनों पर नजर रखने का विशेष निर्देश थानाध्यक्षों और चौकीदारों को दिया गया है। थानाध्यक्ष अपने स्तर से चौकीदारों को विशेष निर्देश देकर फीडबैक लेंगे। जवाबदेही थानाध्यक्ष पर सुनिश्चित की गई है।

शराब तस्कर सहित अवैध कारोबारियों पर कसेगी नकेल

जिले में मिल रही शराब तस्करी की सूचना के आलोक में एंटी लिकर टास्क फोर्स का गठन किया जा चुका है जो शराब तस्करों की हर गतिविधि को नजर में रखते हुए लगातार छापामारी कर रही है। पुलिस कप्तान द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार शराब समेत अन्य अवैध कारोबार की रोकथाम को उस क्षेत्र की मैपिंग करा कर कार्रवाई की जा रही है। 7700 लीटर से ज्यादा शराब जब्त की गयी है। शराब के मामलों में वांछित और फरार अपराधियों की गिरफ्तारी सहित शराब बरामदगी अभियान को जारी रखने का निर्देश सभी थानाध्यक्षों को आज की क्राइम मीटिंग में दिया गया है।

यह भी पढ़ें : RPF पोस्ट सासाराम को मिले तीन बड़े पुरस्कार

थानों के कंप्यूटराइजेशन में तेजी लाने का निर्देश

सीसीटीएनएस से जिले के 28 थानों को जोड़ा जा चुका है। अन्य 10 थानों के लिए प्रस्ताव भेजा गया है। पुलिस कप्तान ने आश्वस्त किया है कि जल्द ही प्रस्तावित थाने भी सीसीटीएनएस से जुड़ जाएंगे। पुलिस अधिकारियों को इसके लिए निश्चित तौर पर प्रशिक्षण लेने का निर्देश दिया गया। जल्द ही सीसीटीएनएस से प्राथमिकी समेत थाने के सभी दस्तावेज कंप्यूटरीकृत हो जाएंगे।

इससे अपराध से जुड़े पुराने डेटाबेस को आधार मान बेहतर पुलिसिंग के लिए अग्रेतर कार्रवाई के लिए पुलिस पुराने रिकॉर्ड का अध्ययन कर सकेगी। जेल में बंद अपराधियों सहित जमानत पर रिहा हो चुके अपराधियों का डाटाबेस भी कंप्यूटरीकृत होगा जिससे बड़े अपराध की घटना होने के बाद जमानत पर रिहा अपराधियों की सूची के आधार पर कांडों में संलिप्त अपराधियों की शिनाख्त में पुलिस को काफी सहूलियत होगी।

वर्दी धारियों की समस्याओं का भी होगा समाधान

जिले में पदस्थापित पुलिसकर्मियों सहित पुलिस पदाधिकारियों के सर्विस से जुड़े मामलों के त्वरित निष्पादन का निर्देश भी पुलिस सभा में पुलिस कप्तान ने दिया। इसके लिए संबंधित अधिकारियों को भी विधि सम्मत निर्देश दिए गए हैं। एसपी आशीष भारती के मुताबिक पुलिसकर्मियों की नौकरी से जुड़ी समस्याओं के समाधान की जिम्मेवारी भी बेहतर तरीके से निभाने का हरसंभव प्रयास जिले में जारी है ताकि किसी भी पुलिसकर्मी के बीच असंतोष का भाव न रहे।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored