Header 300×250 Mobile

अब होम आइसोलेट कोरोना मरीज के घर पर लगेगा पोस्टर

रोहतास जिला प्रशासन ने कोरोना से जंग के लिए किया माइक्रोप्लान तैयार

- Sponsored -

333

- Sponsored -

- sponsored -

पंचायत स्तर पर गठित मेडिकल टीम की सक्रियता रोकेगी संक्रमण

रोहतास से बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। जिले में कोरोना मरीज के बेहतर स्वास्थ्य सुधार और संक्रमण को रोकने के लिए जिला पदाधिकारी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए स्थानीय अधिकारियों को निर्देश दिया है कि जिले में कोरोना पॉजिटिव मरीज के होम आइसोलेशन में रखे जाने की स्थिति में मरीजों के दरवाजे पर होम आइसोलेट का पोस्टर लगाया जाएगा। पोस्टर लगाने के साथ ही मरीजों के संक्रमित परिवार को मेडिकल किट उपलब्ध कराया जाएगा। यह फरमान जिला पदाधिकारी ने 27 अप्रैल की देर शाम जारी किया है।

माइक्रो प्लान तैयार कर होगी कोरोना मरीज की नियमित जांच

विज्ञापन

जिले में कोरोना संक्रमण की जांच के लिए माइक्रो प्लान तैयार करते हुए नियमित तौर पर आरटीपीसीआर और रैपिड एंटीजन किट द्वारा कोविड जांच की प्रकिया तेज की जाएगी। इसके साथ ही होम आइसोलेशन में रह रहे सभी संक्रमित व्यक्तियों के स्वास्थ्य की नियमित मानिटरिंग भी होगी। इसके लिए माइक्रो प्लान तैयार करने का निर्देश सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी को दिया गया है, जो प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित करते हुए माइक्रो प्लान का अनुपालन कराएंगे। इसके तहत जांच टीम के साथ सैनिटाइजर, मास्क, ग्लब्स, थर्मल स्कैनर, पल्स ऑक्सीमीटर सहित आवश्यक दवाइयों की उपलब्धता भी सुनिश्चित करने का फरमान जारी आदेश में दिया गया है।

पंचायत स्तर पर मेडिकल टीम का होगा गठन

माइक्रो प्लान तैयार करने के लिए जारी निर्देश में जिलाधिकारी ने स्पष्ट रूप से निर्देशित किया है कि कोरोना मरीजों की शीघ्र एवं नियमित जांच के लिए पंचायत स्तर पर मेडिकल टीम का गठन किया जाएगा। टीम पंचायतवार जांच रिपोर्ट तैयार करेगी, जिसके आलोक में पंचायतवार स्वास्थ्य जांच की मॉनिटरिंग भी होगी।

सभी पंचायत स्तर पर गठित मेडिकल टीम की मॉनिटरिंग अंचलाधिकारी और प्रखंड विकास पदाधिकारी अपने-अपने प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों से समन्वय स्थापित कर करेंगे और पूरे मामले की मॉनिटरिंग अनुमंडल स्तर पर अनुमंडलाधिकारी करेंगे। एसडीओ को निर्देश दिया गया है कि प्रतिदिन दैनिक प्रतिवेदन समर्पित करते हुए पूरे मामले की जानकारी जिलाधिकारी को देंगे। संभावना है कि पंचायत स्तर पर मेडिकल टीम गठन के पश्चात कोरोना संक्रमण जांच में तेजी आएगी और युद्ध स्तर पर मरीजों की पहचान कर संक्रमण से निपटने की रणनीति संक्रमण को रोकने में कारगर साबित होगी।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT