Header 300×250 Mobile

महिला एवं युवाओं को सीएम नीतीश की बड़ी सौगात, उद्योग लगाने के लिए 10 लाख रुपये देगी बिहार सरकार

राज्य में उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री ने शुरू कीं दो योजनाएं

- Sponsored -

785

- Sponsored -

- sponsored -

उद्योग स्थापित होने के बाद सिर्फ 05 लाख रुपये लौटाने होंगे

महिलाओं को नहीं देना होगा ब्याज, युवाओं पर लगेगा एक प्रतिशत सूद

पटना (voice4bihar news)। बिहार में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को दो महत्वाकांक्षी योजनाओं का शुभारंभ किया। राज्य की महिलाओं व युवाओं को बड़ी सौगात देते हुए मुख्यमंत्री ने 10 लाख रुपये तक की आर्थिक सहायता करने का ऐलान किया है। खास बात यह है कि इस रकम में आधी राशि यानि 5 लाख रुपये अनुदान के रूप में होगी, जबकि शेष 5 लाख रुपये उद्योग की स्थापना के बाद लौटाने होंगे। महिलाओं के लिए यह रकम भी ब्याज मुक्त होगी।

उद्योग विभाग ने लॉन्च किया नया पोर्टल, नव उद्यमियों को होगी सहूलियत

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से ‘मुख्यमंत्री महिला उद्यमी योजना’ तथा ‘मुख्यमंत्री युवा उद्यमी योजना’ का शुभारंभ किया। इसके साथ ही उद्योग विभाग की ओर से तैयार किये गये नये पोर्टल www.udyami.bihar.gov.in का भी लोकार्पण किया। इन योजनाओं से महिलाओं एवं युवाओं में उद्यमिता विकास एवं स्वरोजगार को और बढ़ावा मिलेगा।

सोशल कैटेगरी का बंधन नहीं, सभी वर्गों को मिलेगा लाभ

उल्लेखनीय है कि राज्य में उद्योग को बढ़ावा देने के लिए पहले भी दो योजनाएं चल रही हैं। आज शुरू हुईं दोनों योजनाओं को इसी प्रयास का विस्तार माना जा रहा है। खास बात यह है कि नयी उद्यमी योजनाओं का स्वरूप व्यापक होगा। राज्य के सभी वर्ग के युवाओं को उद्यमिता की ओर उन्मुख करने के मकसद से लागू इन योजनाओं में सोशल कैटेगरी का कोई बंधन नहीं है।इसमें सभी वर्ग की महिलाएं व युवा उद्यमिता के क्षेत्र में आगे आएंगे।

विज्ञापन

वर्ष 2018 में हुई थी उद्यमी योजना की शुरुआत

गौरतलब है कि वर्ष 2018 में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति उद्यमी योजना की शुरुआत की गई थी जिसका मकसद एससी/एसटी वर्ग के युवाओं को उद्योग लगाने व स्वरोजगार के लिए प्रेरित करना था। इसके दो वर्ष बाद जननायक कर्पूरी ठाकुर की जयंती पर इसी पहल को विस्तार देते हुए एक नयी योजना शुरू की गयी। ‘मुख्यमंत्री अति पिछड़ा उद्यमी योजना’ के तहत सरकार ने ओबीसी एनेक्चर-1 के युवाओं को उद्यम शुरू करने के लिए प्रोत्साहित किया।

महिला उद्यमियों को मिलेगा ब्याज मुक्त लोन

महिला उद्यमी योजना के तहत उद्योग लगाने के लिए अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि जिसमें अधिकतम 5 लाख रुपये अनुदान के रुप में तथा शेष 5 लाख रुपये ब्याज मुक्त ऋण के रुप मे उपलब्ध कराया जायेगा । युवा उद्यमी योजना के तहत उद्योग लगाने के अधिकतम 10 लाख रुपये की राशि जिसमें अधिकतम 5 लाख रुपये अनुदान के रुप में तथा शेष 5 लाख रुपये ऋण के रुप में 1 प्रतिशत ब्याज पर उपलब्ध कराया जायेगा। इन योजनाओं के लिए दी जाने वाली राशि अब दो टर्म में ही उपलब्ध करायी जायेगी।

यह भी देखें : बिहार में इस साल के अंत तक पूरा हो जाएगा कोरोना का टीकाकरण

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored