Header 300×250 Mobile

नवादा अन्तर्राज्यीय चेकपोस्ट पर पकड़ा गया 33 लाख का गांजा, दो ड्रग्स माफिया गिरफ्तार

पिकअप वैन के तहखाने में छुपाकर रखा गया था 66 पैकेट में 330 किलोग्राम गांजा

- Sponsored -

367

- Sponsored -

- sponsored -

रांची से पटना आ रही थी गांजा की खेप, पटना सिटी के दीदारगंज में होना था अनलोड

नवादा (voice4bihar news)। बिहार में शराबबंदी लागू होने के बाद से गांजा की तस्करी बढ़ी है। इस दौरान गांजा की खेप के साथ कई तस्कर पकड़े गए हैं। इस कड़ी में मंगलवार को बिहार- झारखंड की सीमा पर नवादा जिले के रजौली में अवस्थित समेकित जांच चौकी पर शराब की बड़ी खेप पकड़ी गई है। जांच चौकी पर एक पिकअप वैन की तलाशी के दौरान 66 पैकेट में बंधा 330 किलो गांजा बरामद किया गया। ड्रग्स के बाजार में इसकी कीमत करीब 33 लाख रुपए आंकी गई है।

विज्ञापन

पुलिस ने गांजा समेत वाहन को जब्त करते हुए दो गांजा माफियाओं को गिरफ्तार भी किया गया है। पकड़े गए तस्करों का नाम दीपक कुमार व वीरेंद्र सिंह बताया गया है।उत्पाद निरीक्षक रामप्रीत कुमार ने बताया कि वाहन जांच के दौरान रांची से पटना जा रहे पिकअप वैन को रोक कर तलाशी ली गई। वाहन में बने तहखाने में 66 पैकेट में बंधे 330 किलो गांजा बरामद किया गया। वाहन में सवार अवैध गांजा कारोबारी दीपक कुमार व वीरेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया गया।

पूछताछ के दौरान दोनों माफियाओं ने बताया कि रांची से गांजा पटना का दीदारगंज ले जा रहे थे, जहां से अन्य जिलों में पैकेट वितरित किये जाते। बड़ी मात्रा में गांजा की बरामदगी को उत्पाद विभाग के अधिकारी एक बड़ी सफलता मान रहे हैं। नारकोटिक्स ड्रग एक्ट के तहत दोनों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। दोनों ने गांजा तस्करी के कई मामलों का भी खुलासा किया है, जिससे कई लोग पुलिस की गिरफ्त में आ जाएंगे। गिरफ्तार दीपक पटना के तथा दूसरा झारखण्ड के गोड्डा का रहनेवाला बताया गया है।

यह भी देखें : जीटी रोड पर फिर पकड़ी गयी गांजा की बड़ी खेप, 2 करोड़ का गांजा जब्त

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT