Header 300×250 Mobile

आठ स्मैक कारोबारी चढ़े पुलिस के हत्थे, भारी मात्रा में स्मैक बरामद

वाहन जांच के दौरान पकड़े गए नशे के सौदागरों की निशानदेही पर छापा

- Sponsored -

321

- Sponsored -

- sponsored -

अररिया के मीरा सिनेमा हॉल के पास स्मैक बेचते छह गिरफ्तार

अररिया (voice4bihar news)। जिला मुख्यालय में नगर थानाध्यक्ष सुनील कुमार के नेतृत्व में टीम ने शुक्रवार देर शाम नशीला पदार्थ स्मैक के साथ आठ युवकों को गिरफ्तार किया है। सीमांचल में तेजी से पांव पसार रहे नशे के कारोबार के खिलाफ यह पुलिस की बड़ी सफलता मानी जा रही है। पकड़े गए नशे के सौदागरों के पास से 16 ग्राम स्मैक भी बरामद हुआ है।

सदर एसडीपीओ पुष्कर कुमार ने नगर थाना में एक प्रेस वार्ता कर बताया कि कुछ दिनों से स्मैक को लेकर हमारी पुलिस टीम नजर रख रही थी। इसी क्रम में शुक्रवार की दोपहर वाहन जांच के दौरान शक के आधार पर एक स्कूटी संख्या बीआर 38 एम 4600 को रोका गया। इस पर सवार दो युवकों की तलाशी ली गई तो उनके पास से स्मैक बरामद हुए। पूछताछ के दौरान दोनों ने बताया कि मीरा सिनेमा हाल के पास कुछ और लोग मौजूद हैं, जो स्मैक बेचने का काम करते हैं।

इस सूचना के आधार पर नगरथानाध्यक्ष सुनील कुमार, अवर निरीक्षक बिजेंद्र सिंह व टाइगर मोबाइल की टीम ने पहुंच कर छह स्मैक कारोबारियों को पकड़ लिया। इसके पास से 16 ग्राम स्मैक बरामद किये गए। इन सबो के पास से दो बाइक संख्या बीआर 38 4914 व दूसरा बिना नंबर का साथ ही तीन मोबाइल भी बरामद किये गये।

पकड़े गए नशे के सौदागरों में नगर थाना क्षेत्र के रहिका टोला वार्ड 17 निवासी आयुष सिंह पिता बबन सिंह, प्रियांशु आर्यन पिता बिहारी पोद्दार, मीरा टॉकिज वार्ड संख्या 18 नीवासी बादल कुमार मल्लिक व सूरज कुमार मल्लिक पिता स्व सदानंद मल्लिक, आजादनगर वार्ड संख्या 18 निवसी मोविन आलम पिता मंजूर आलम, इस्तमा टोला वार्ड संख्या 04 नीवासी मो जशिम पिता मिओ काशिम, इस्लामनगर वार्ड संख्या 26 नीवासी आदिल पिता शाहिद व आजादनगर वार्ड संख्या 19 निवासी रितिक कुमार राय पिता रमेश कुमार राय शामिल हैं।

विज्ञापन

गिरफ्तार धंधेबाजों के पास से बरामद स्मैक।
गिरफ्तार धंधेबाजों के पास से बरामद स्मैक।

भारत से नेपाल तक जुड़े हैं स्मैक सप्लाई के तार

सीमांचल क्षेत्र में तेजी से फैलता नशे का कारोबार नेपाल तक पांव पसार रहा है। इससे पूर्व भी जोगबनी के खजुरवारी से 172 ग्राम ब्राउन शुगर के साथ दो लोगों को डीएसपी श्रीकांत सिंह के नेतृत्व में कई थानों की पुलिस ने छापेमारी कर पकड़ा था। हालांकि महीनों बीत जाने के बाद भी मुख्य कारोबारी तक पुलिस के हाथ नहीं पहुंच सके। जबकि सीमा पार से लेकर जोगबनी के इस्लामपुर सहित अन्य इलाकों के कारोबारी ड्रग्स के साथ गिरफ्तार होते रहे हैं। नशे के कारोबार के जाल को तोड़ने में जिला पुलिस पूरी तरह से फेल नजर आती है जबकि इससे पूर्व भी अररिया जिले के दर्जनों ब्यक्ति नेपाल पुलिस के हत्थे चढ़ चुके हैं।

जोगबनी के मटीयरवा से ब्राउन शुगर के साथ धरे गए थे तीन बदमाश

पिछले दिनों मटियरवा से ब्राउन शुगर के साथ तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था। ये धंधेबाज भारत-नेपाल के बीच खुली सीमा से पैदल ही नेपाल में प्रवेश कर रहे थे। इनमें मटियरवा के 27 वर्षीय लदिफूल मियां के पास से 13 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद किया गया था। वहीं जोगबनी के वार्ड संख्या 9 के 32 वर्षीय सुरजेश कुमार राय व 13 वर्षीय मो आशिक के पास से 5 ग्राम ब्राउन शुगर बरामद हुआ था। अब सवाल यह उठता है कि अब तक नेपाल सीमा में जितने भी ड्रग्स सप्लायर के कैरियर (ड्रग्स पहुंचाने वाला) की गिरफ्तारी हुई है, उनके मुख्य सप्लायर तक पुलिस के हाथ कब तक पहुंचेंगे?

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT