Header 300×250 Mobile

दुर्गावती जलाशय का राजगीर के तर्ज पर होगा विकास

कैमूरांचल घाटी के हर बूंद पानी का होगा संरक्षण

- Sponsored -

368

- sponsored -

- Sponsored -

  1. VIPs के ठहरने के लिए दुर्गावती में बनेगा सर्किट हाउस
  2. जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव ने तलाशीं पर्यटन की संभावनाएं

अभिषेक कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar desk)। रोहतास जिला अंतर्गत दुर्गावती जलाशय की मनोरम छटा को पर्यटन के अनुकूल बनाने तथा जल संरक्षण की कवायद तेज हो गई है। कैमूरांचल घाटी की नदियों में बरसात के समय तेज बहाव के कारण भारी मात्रा में पानी मैदानी क्षेत्रों में प्रलयंकारी बाढ़ की स्थिति पैदा कर देती है। घाटियों में डैम चेक डैम बनाकर सभी नदियों के बूंद बूंद पानी का संरक्षण करने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान के तहत जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव चेतन प्रसाद रोहतास जिला के दुर्गावती जलाशय परियोजना सहित मांझर कुंड से निकलने वाली गांव नदी के कई स्थलों का निरीक्षण किया।

इको टूरिज्म के तौर पर होगा विकास

दुर्गावती जलाशय के निरीक्षण के दौरान ईको टूरिज्म विकसित करने में आ रही समस्याओं व ग्रामीण क्षेत्रों की सिंचाई व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए निर्माणाधीन वैतरणी सहित कई तकनीकी कार्यों का अवलोकन किया। अवलोकन के दौरान संवेदक सहित विभागीय अधिकारियों को कई निर्देश भी प्रधान सचिव श्री प्रसाद ने दिए। इसके साथ ही सिंचाई सुविधा विकसित करने के बीच बाधक बन रहे अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध विधि सम्मत कार्रवाई का निर्देश भी प्रधान सचिव ने जारी किया।

दुर्गावती जलाशय का जायजा लेने पहुंचे अधिकारी।

दुर्गावती में बनेगा सरकारी गेस्ट हाउस

विज्ञापन

अधिकारियों के विश्राम एवं बैठक करने लायक गेस्ट हाउस का निर्माण रोहतास जिला प्रशासन और वन विभाग के संयुक्त प्रयास से दुर्गावती जलाशय के आसपास गेस्ट हाउस का निर्माण कराया जाएगा। अभी गेस्ट हाउस निर्माण का प्राक्कलन तैयार नहीं किया गया है लेकिन प्रशासनिक अधिकारियों के बीच रणनीति बननी शुरू हो गई है। जल्द ही प्राक्कलन तैयार कर निविदा प्रक्रिया शुरू की जाएगी।

माना जा रहा है कि भविष्य में राजगीर की तर्ज पर दुर्गावती परियोजना के आसपास के इलाकों को विकसित किया जाएगा। नव पदस्थापित जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार से जिले वासियों को काफी उम्मीद है। माना जा रहा है कि दुर्गावती जलाशय परियोजना के आसपास ईकोटूरिज्म विकसित होने के साथ ही इलाके में रोजगार सहित आम लोगों की चहल कदमी बढ़ेगी जो रोहतास के राजस्व को बढ़ाने का कार्य करेगा।

दुर्गावती जलाशय के पास पर्यटन की संभावना तलाशने पहुंचे जल संसाधन विभाग के प्रधान सचिव चेतन प्रसाद।

लोजपा प्रत्याशी ने विधानसभा में बनाया था मुद्दा

बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के चुनाव प्रचार कार्य के दौरान लोक जनशक्ति पार्टी के चेनारी विधानसभा प्रत्याशी चंद्रशेखर पासवान ने दुर्गावती जलाशय परियोजना को राजगीर की तर्ज पर विकसित करने का मुद्दा मीडिया कर्मियों को दिए बयान में उठाया था। साथ ही टूरिज्म विकसित करने और मोती की खेती को बढ़ावा देते हुए इलाके के बेरोजगार नौजवानों को रोजगार की सुविधा मुहैया कराने की नीति भी मीडिया के माध्यम से चंद्रशेखर पासवान ने साझा की थी। बहरहाल देखना दिलचस्प होगा कि अधिवक्ता चंद्रशेखर पासवान द्वारा चुनावी मुद्दे के रूप में साझा की गई नीति इलाके के लिए कितना कारगर साबित होती है। और जिला प्रशासन ईकोटूरिज्म विकसित करने की दिशा में प्रयास कब तक सफल साबित होता है।

प्रधान सचिव के साथ मौजूद था अधिकारियों का काफिला

निरीक्षण के दौरान प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद के साथ जिलाधिकारी धर्मेंद्र कुमार डीएफओ प्रदुमन गौरव, इंजीनियर अशोक कुमार, हेड क्वार्टर इंजीनियर रविंद्र कुमार, मुख्य अभियंता ओमप्रकाश सिंह, अधीक्षण अभियंता राजेश रंजन, कार्यपालक अभियंता अफताब आलम, सहायक अभियंता किशोर कुमार पासवान, जूनियर इंजीनियर कमलेश रेशमी सहित कई अधिकारियों का काफिला मौजूद था।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored