Header 300×250 Mobile

नेपाल में छुपा है अंतराष्ट्रीय ड्रग माफिया अली पुन्जानी, दुनिया के कई देशों की पुलिस तलाश रही

भारतीय मूल के केन्याई नागरिक का दुनिया भर में फैला है ड्रग्स तस्करी का साम्राज्य

- Sponsored -

633

- Sponsored -

- sponsored -

अमेरिका समेत कई देशों का मोस्ट वांटेड है अली पुन्जानी, केन्या में रहकर चलाता है ड्रग्स का कारोबार

भारत के मोस्ट वांटेड दाउद इब्राहिम का भी सहयोगी है पुन्जानी, विक्की गोस्वामी के साथ पार्टनरशिप

नेपाल से लौटकर राजेश कुमार शर्मा की रिपोर्ट

Voice4bihar news. जिस ड्रग माफिया को दुनिया के तमाम देशों की पुलिस सरगर्मी से तलाश रही है, वह इन दिनों भारत के निकटतम पड़ोसी देश नेपाल में छुपा बैठा है। ड्रग्स तस्करी की दुनिया में एक परिचित कुख्यात नाम है- अली पुन्जानी। भारतीय मूल के केन्याई नागरिक पुन्जानी इस वजह से कुख्यात है कि वह केन्या में रहकर विश्व के हरेक देश में ड्रग्स तस्करी का रैकेट चलाता है। इस आरोप में कई देशों की पुलिस ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है, लेकिन हैरत की बात यह है कि पुन्जानी अभी नेपाल में है और नेपाल पुलिस बेखबर है।

5 अगस्त को नेपाल पहुंचा अली पुन्जानी, होटल एम्बेस्डर में रुका था

भारतीय मूल का केन्याई नागरिक पुन्जानी अभी 5 अगस्त से नेपाल में है। इस खबर ने एक बार फिर से नेपाल के अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्‌डा पर व्याप्त सुरक्षा खामियों को उजागर किया है। सवाल यह भी है कि दुनिया के मोस्ट वांटेड अपराधी को सुरक्षित नेपाल कैसे घुसने दिया गया। अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्‌डा स्थित अध्यागमन कार्यालय से मिले विवरण के आधार पर अंतरराष्ट्रीय समाचार संस्था आसियान इंटरनेशनल जर्नलिस्ट कॉउंसिल (AIJC) ने चौंकाने वाले खुलासे किये हैं।

AIJC की रिपोर्ट के अनुसार बीते 5 अगस्त को अली पुन्जानी नेपाल पहुंचा है और शनिवार 18 सितम्बर तक काठमांडू से वापस नहीं होने का रिकार्ड है। एयरपोर्ट में दर्ज विवरण के अनुसार अली पुन्जानी के साथ पासपोर्ट संख्या CK 21766 है जिसमें उनका स्थायी पता केन्या का मोम्बासा है। वहीं इस पासपोर्ट में इनका नाम अली बदरुद्दीन भाई पुन्जानी दर्ज है। AIJC के स्रोत के अनुसार कुछ दिनों तक वह लाजिम्पाट के होटल एम्बेस्डर में रुका था।

अमेरिका समेत कई देशों का मोस्ट वांटेड है अली पुन्जानी

पुन्जानी के खिलाफ अमेरिका में भी ड्रग्स तस्करी के दर्जनों मामले दर्ज हैं। यह अमेरिका के भी वांटेड सूची में है। बताया जाता है कि इसके विरुद्ध 6 वर्ष पूर्व भारी मात्रा में हेरोइन बरामद होने के बाद वारंट जारी किया था। केन्या में संगठित रूप से आपराधिक गिरोह का संचालन कर रहे पुन्जानी का प्रमुख धंधा ड्रग्स का कारोबार है।

इंटरनेशनल ड्रग्स माफिया ने नेपाली युवती से किया है विवाह

अली पुन्जानी अभी किस मकसद से नेपाल आया है, इसकी पुख्ता जानकारी नहीं है, लेकिन नेपाल से इसके रिश्ते जगजाहिर हैं। पुन्जानी ने एक नेपाली युवती सुस्मिता कार्की के साथ विवाह किया है। सूत्र बताते हैं कि वह इन दिनों सुस्मिता के साथ ही नेपाल आया है। बता दें कि केन्या पुलिस ने इस कुख्यात ड्रग्स माफिया के मोम्बासा स्थित घर में 13 अगस्त 2019 में छापेमारी की थी। इस दौरान सुष्मिता कार्की के साथ अन्य तीन लोगों की गिरफ्तारी हुई थी, जिसमें नेपाली युवक शिव बस्याल व भारतीय नागरिक राम मनोज भी शामिल थे। बताया जाता है कि शिव और मनोज वहां घरेलू काम के लिए रखे गए थे।

पुन्जानी की गिरफ्तारी के लिए दबाव बना रहा अमेरिका

विज्ञापन

अब अमेरिका की अदालत में इसके विरुद्ध मामला दर्ज हो चुका है। अमेरिका में ड्रग्स की तस्करी में इसकी संलग्नता की पुष्टि होने के बाद ड्रग इन्फोर्समेन्ट एडमिनिस्ट्रेशन ने पुन्जानी के विरुद्ध 25 जुलाई 2019 को न्यूयॉर्क के साउदर्न डिस्ट्रिक्ट अदालत में मामला दर्ज कराया है। इसके बाद से ही पुन्जानी को अमेरिका के सुपुर्द करने के लिए दबाव बनाया जा रहा है। हालांकि केन्या पुलिस पर अमेरिकी दबाव के बाद भी केन्या पुलिस ने सहयोग नहीं किया है।

भारत की बढ़ी चिंताएं, दाउद इब्राहिम का सहयोगी है पुन्जानी

अंतरराष्ट्रीय संचार संस्था AIJC के अनुसार ड्रग्स माफिया अली पुन्जानी का सम्बंध कुख्यात दाउद इब्राहिम के साथ है। दाउद के पूर्व सहयोगी भिकी गोस्वामी के साथ मिलकर पुन्जानी लंबे वक्त से ड्रग्स तस्करी के कारोबार को संचालित कर रहा है।

अधिकारी का तर्क नेपाल में अपराध का नहीं है इतिहास

दूसरी ओर नेपाल पुलिस ने अली पुन्जानी के नेपाल आने की सामान्य सूचना मिलने की बात कही है। ड्रग्स माफिया के बारे में पूछे जाने पर नेपाल नारकोटिक्स ब्यूरो के एसएसपी हृदय थापा ने कहा कि पुन्जानी के नेपाल आने की सामान्य सूचना मिली है, लेकिन नेपाल में अपराध करने का कोई प्रमाण नहीं मिला है जिससे कोई कार्रवाई करने में असमर्थ हैं।

नेपाल में ड्रग्स के खिलाफ अभियान के बीच अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स माफिया को प्रश्रय देने पर उठ रहे सवाल।
नेपाल में ड्रग्स के खिलाफ अभियान के बीच अंतर्राष्ट्रीय ड्रग्स माफिया को प्रश्रय देने पर उठ रहे सवाल।

नेपाल से लड़कियों की तस्करी का भी आरोप

तीन वर्ष पूर्व केन्या के एक डान्स बार में पुलिस की छापेमारी में सात नेपाली लड़कियां बरामद की गई थी। एक अप्रवासी केन्या नेपाली नागरिक की मानें तो पुन्जानी सहित विभिन्न माफिया समूह के द्वारा चलाये जा रहे डान्स बार में नेपाली युवतियों को तस्करी के माध्यम से पहुंचाया जाता है।

अली पुन्जानी की तीसरी पत्नी है नेपाल की सुष्मिता कार्की

काठमांडू की सुष्मिता कार्की पुन्जानी की तीसरी पत्नी है। 26 वर्षीया सुष्मिता कार्की दो वर्ष पूर्व ड्रग्स तस्करी में केन्या में गिरफ्तार हुई थी। बाद में जमानत पर रिहा हुई थी। ऐसे में पुन्जानी का ससुराल नेपाल में है। बता दें कि हाल में विदेशी नागरिक को अनअराइवल वीजा नहीं मिलने के कारण केन्या के नैरोबी स्थित नेपाली कन्सुलेट से वीजा लेकर पुन्जानी नेपाल आया है।

पुन्जानी क्यों आया नेपाल ? 

सूत्र बताते हैं कि पुन्जानी पहली बार नेपाल नहीं आया है। नेपाल में गुन्डागर्दी तथा अवैध धंधे में संलिप्त कुछ लोगों से इसका पुराना सम्पर्क बताया जा रहा है। इन्ही आपराधिक गिरोह के सरगना के साथ मिलकर नेपाल में डिस्को, कैसिनो खोलने को लेकर नेपाल आने की बात कही जा रही है। सूत्रों के अनुसार अन्य अवैध धन्धे को संचालित करने की भी योजना है। हालांकि नेपाल पुलिस इस बात से इत्तेफाक नहीं रखती।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored