Header 300×250 Mobile

दारोगा के पद पर चयनित छात्रा की कोरोना वैक्सीन लेने के एक दिन बाद मौत

खाकी वर्दी मिलने से पहली ही कफन में लिपट गयी शिवानी, परिवार में मातम

- Sponsored -

1,466

- sponsored -

- Sponsored -

होनहार बेटी की मौत पर भड़के ग्रामीण, सड़क पर उतरकर काटा बवाल

मुजफ्फरपुर-पूसा मार्ग पर चार घंटे तक बाधित रहा आवागमन

मुजफ्फरपुर (voice4bihar news)। मुरौल प्रखंड के जहांगीरपुर गांव की जिस बेटी शिवानी ने बीपीएससी की परीक्षा में सफलता पाकर दारोगा के पद पर सेलेक्शन पाया था, वह खाकी वर्दी पहनने से पहले ही मौत के आगोश में समा गयी। शनिवार को कोरोना वैक्सीन लेने के कुछ घंटे बाद तबीयत बिगड़ी और रविवार को अचानक उसकी मौत हो गई। बेटी को खाकी वर्दी में देखने का सपना पाले उसके परिवार व गांव के लोगों ने कफन में लपेटकर अंतिम विदाई दी।

पुलिस को झेलना पड़ा ग्रामीणों का आक्रोश

शिवानी की मौत की खबर फैलते ही पूरे गांव में कोहराम मच गया। वहीं कोरोना वैक्सीन से गांव की होनहार बेटी की हुई मौत की खबर से ग्रामीणों का आक्रोश भड़क उठा। आक्रोशित ग्रामीणों ने मुजफ्फरपुर-पूसा मार्ग को जाम कर खूब बवाल काटा। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची, लेकिन पुलिस को भारी आक्रोश झेलना पड़ा।

आक्रोशित ग्रामीणों ने शव उठाने से पुलिस को रोका

विज्ञापन

ग्रामीणों ने कोरोना वैक्सीन से शिवानी की मौत होने की बात कहते हुए पुलिस को शिवानी का शव उठाने से रोक दिया। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने ग्रामीणों को समझा बुझाकर सड़क जाम समाप्त कराया। ग्रामीणों के बवाल के कारण लगभग चार घंटे तक मुजफ्फरपुर- पूसा मार्ग पर यातायात पूरी तरह ठप रहा। लोगों को शांत कराकर पुलिस ने शिवानी के शव को पोस्टमार्टम के लिए एसकेएमसीएच भेज दिया। उधर पुलिस का कहना है कि परिजनों के बयान पर इस मामले में प्राथमिकी दर्ज कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

शिवानी की मौत के विरोध में पूसा-मुजफ्फरपुर मार्ग को जाम करते ग्रामीण।

परिजनों का आरोप-कोरोना वैक्सीन लेने के कारण ही गयी जान

उधर, जहांगीरपुर गांव की होनहार बेटी की मौत से आहत ग्रामीणों ने बताया कि शिवानी के दारोगा पद के लिए चयनित होने की आई खबर के बाद अभी तो घर में खुशियों का ही माहौल था कि ये अनहोनी हो गई। जहांगीरपुर की शिवानी इलाके की आन-बान-शान थी। कड़ी मेहनत और लगन से गांव की इस बेटी ने परिवार वालों का सिर ऊंचा किया था। पिछले ही दिनों वह बिहार पुलिस में दारोगा पद के लिए सेलेक्ट हुई थी। परिजनों का आरोप है कि वैक्सीन लेने से ही शिवानी की मौत हुई है।

पिता ने कहा-वैक्सीन लेने के बाद आया बुखार, दवा लेने पर भी नहीं उतरा

शिवानी के पिता उमेश साह ने बताया कि फाइनल रिजल्ट आने के बाद घर में खुशी का माहौल था। लेकिन, यह किसी को नहीं मालूम था कि दारोगा की वर्दी पहनने से पहले ही शिवानी दुनिया छोड़ कर चली जाएगी। उन्होंने बताया कि एक दिन पहले शनिवार को ही उसने कोरोना की वैक्सीन ली थी। उसके बाद शिवानी को काफी तेज बुखार आया। उसने रात में बुखार उतारने के लिए दवा भी ली थी, लेकिन बुखार कम नहीं हुआ। रविवार को अचानक ही उसकी मौत हो गई।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored