Header 300×250 Mobile

जंगली हाथी ने दो लोगों को मौत के घाट उतारा, मची अफरातफरी

- Sponsored -

228

- sponsored -

- Sponsored -

  • नवादा के नारदीगंज व हिसुआ थाना क्षेत्र में बरपाया कहर
  • हाथी को काबू करने के लिए गया से बुलाए गए वनकर्मी

नवादा (voice4bihar desk)। नवादा जिले में गुरुवार की सुबह जंगल से भटककर गांव की ओर आये हाथी ने दो अलग-अलग स्थानों पर दो लोगों को मौत के घाट उतार दिया। जिले के नारदीगंज थाना इलाके में सुबह बभनौली गांव में बिनोद चौहान और हिसुआ थाना इलाके के सकरा गांव के रिटायर्ड शिक्षक आनंदी सिंह को कुचलकर मार डाला। इस घटना से आसपास के गांवों में अफरातफरी मच गयी।

सिरदला के जंगल में इसी हाथी ने तोड़ी थी शराब की भटि्ठयां

बताया गया कि हाथी को नवादा जिले के उग्रवाद प्रभावित सिरदला थाना इलाके के जंगलों में एक दिन पूर्व भी देखा गया था। यह इलाका झारखंड के जंगलों से मिलता है। एक दिन पहले ही सिरदला के जंगलों में हाथी ने कई महुआ शराब की भटि्ठयों को तोड़ा था तब जंगल से लोग भाग खड़े हुए थे। किसी तरह उनकी जान बच सकी लेकिन हाथी का कहर अगले दिन सुबह बरपा तो दो लोगों की जान चली गयी।

विज्ञापन

स्थानीय लोगों के अनुसार इस बीच बीती रात हाथी नारदीगंज थाना इलाके के बभनौली गांव में देखा गया। सुबह में बिनोद चौहान को मार डाला। उसके बाद सकरा गांव की ओर गया। वहां रिटायर्ड शिक्षक आनंदी सिंह को कुचलकर मार डाला। दो लोगों की हत्या से इलाके में अफरा तफरी मची है।

यह भी पढ़ें : 3 जिंदगियों का शिकार कर चुकी आदमखोर बाघिन ट्रैकुलाइजर गन से हुई शांत

पहले भी क्षेत्र में होता रहा है हाथियों का आतंक

हाथी के उत्पात की सूचना वन विभाग को दी गई है। इसे काबू में करने के लिए गया से वनकर्मियों की टीम को बुलाया गया है। सूचना के आलोक में पहुंची पुलिस शव बरामद करने में जुट गयी है । बता दें इसके पूर्व वर्ष 2010 में रजौली के जंगलों व पहाड़ी क्षेत्रों में पहुंचे हाथी ने एक को मौत के घाट उतार दिया था । जबकि रजौली एसडीओ आवास में तोड़फोड़ करने के बाद जंगल वापस लौट गया था ।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored