Header 300×250 Mobile

जेल में रची गई राजद नेता की हत्या की साजिश, शार्प शूटर ने मारी गोली

राजद नेता विजेंद्र सिंह यादव हत्याकांड की जांच के दौरान मिले संकेत

- Sponsored -

1,314

- Sponsored -

- sponsored -

कामेश्वर यादव की हत्या के आरोप में जेल में बंद हैं विजेंद्र का हत्यारोपी

विजेंद्र यादव हत्याकांड के तीन नामजद आरोपी सासाराम जेल में हैं कैद

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (Voice4bihar news)। रोहतास जिले के करगहर थाना क्षेत्र अंतर्गत करगहर-फुली पथ पर हुई राजद नेता विजेंद्र सिंह यादव की हत्या जेल में बंद अपराधियों के इशारे पर हुई थी। पुलिस जांच में प्रारंभिक तौर पर मिले तथ्य इसी बात की ओर इशारा करते हैं। हालांकि पुलिस ने जांच पूरी होने तक इस बात की पुष्टि करने से इनकार किया है। बताते चलें कि विगत 4 सितम्बर 2022 की अहले सुबह जिले के कद्दावर राजनेता पूर्व प्रमुख विजेंद्र यादव की बाइक सवार अपराधियों ने गोली मार हत्या कर दी थी। विजेंद्र सिंह यादव वर्तमान में करगहर पंचायत के पैक्स अध्यक्ष भी थे।

विजेंद्र की हत्या की खबर पूरे जिले सहित अगल बगल के जिलों में आग की तरह फैल गई। सियासी गलियारे से लेकर स्थानीय समर्थकों तक का जमावड़ा मृतक के आवास पर लग गया। विजेंद्र सिंह यादव का परिवार जिले में रसूखदार सियासी परिवार माना जाता है। वे खुद ही कई अहम पदों पर आसीन हो चुके थे और उनकी पत्नी इंदू देवी भी जिला परिषद सदस्य रह चुकी हैं। घटना के बाद जाप सुप्रीमो पप्पू यादव पूर्व केंद्रीय मंत्री कांति सिंह सहित कई लोगों ने मृतक के परिवार से मुलाकात की है।

करगहर में मारे गए राजद नेता विजेंद्र यादव के समर्थकों से बात करते एसपी आशीष भारती।

राजद समर्थकों ने किया प्रदर्शन

विजेंद्र यादव की हत्या के बाद रविवार को समर्थकों ने शव को स्थानीय थाना के सामने रख जोरदार प्रदर्शन किया था। प्रदर्शन में सरकार और प्रशासन के विरुद्ध कोई नारेबाजी नहीं हुई। इस दौरान हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने के साथ ही विजेंद्र यादव का लाईसेंसी हथियार उनके परिजनों के नाम करते हुए नये लाईसेंस जारी करने सहित आवास की सुरक्षा की मांग कर रहे थे। प्रशासनिक अधिकारियों के आश्वासन पर शव को पोस्टमार्टम के लिए घंटो मशक्कत के बाद भेजा गया।

मौका-ए-वारदात पर पहुंचे एसपी

विज्ञापन

घटना की सूचना के बाद थाना मुख्यालय की सुरक्षा बढ़ाने के साथ-साथ तकनीकी स्तर से जांच करने का निर्देश पुलिस कप्तान आशीष भारती ने मौका ए वारदात पर पहुंच कर दिया साथ हीं श्वान दस्ते सहित आईटी टीम को मोबाइल डाटा डंप करने के लिए लगाया गया। पूरे मामले की मॉनिटरिंग स्वयं पुलिस कप्तान कर रहे हैं। मामले में प्राथमिकी दर्ज होने के साथ ही पुलिसिया कार्रवाई तेज की जा चुकी है।

हत्याकांड का लाइनर गिरफ्तार, वारदात के वक्त बना रहा था वीडियो

मौका ए वारदात से थाना क्षेत्र के सुसना गांव निवासी केदार पाठक के पुत्र दीपक पाठक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। जेल भेजे जाने की पुष्टि पुलिस कप्तान ने कर दी है। चर्चा है कि गिरफ्तार दीपक पाठक मोबाइल से विडियो फोटो ले रहा था। पुलिस सूत्रों के मुताबिक दीपक विजेन्द्र यादव हत्याकांड में लाईनर की भूमिका में संलिप्त है।

मृतक के पुत्र किशू से संवेदना प्रकट करते जाप सुप्रीमो पप्पू यादव।

पांच नामजद सहित अन्य अज्ञात के विरुद्ध पत्नी ने दर्ज करायी प्राथमिकी

पूर्व जिला परिषद सदस्य इंदु देवी ने अपने पति पूर्व प्रमुख विजेंद्र यादव हत्याकांड मामले में शिवपुर निवासी स्वर्गीय शिवप्रसाद दूबे के पुत्र रामप्रवेश दुबे उर्फ सुपन दूबे, उमेश दूबे उर्फ दीपू दुबे, राजेश दूबे, रमेश दूबे उर्फ गुड्डू दूबे सहित थाना क्षेत्र के सुसना गांव निवासी केदार पाठक के पुत्र दीपक पाठक को नामजद अभियुक्त बनाते हुए अन्य अज्ञात के विरुद्ध करगहर थाना कांड संख्या 339/22 दर्ज करायी है।

सासाराम मंडलकारा से जुड़ रहे हत्याकांड के तार

प्रमुख विजेंद्र हत्याकांड मामले के अनुसंधान में पुलिस को प्रथम दृष्टया इस हत्याकांड की साजिश जेल में रचे जाने की जानकारी मिली है। वर्ष 2019 में हुए कामेश्वर यादव हत्याकांड मामले में बिजेंद्र हत्याकांड के नामजद आरोपियों में तीन रामप्रवेश दुबे उर्फ सुपन दूबे, उमेश दूबे उर्फ दीपू दुबे, राजेश दूबे, फिलहाल मंडल कारा सासाराम में बंद है।

पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक पूरे मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। बहरहाल नामजद अभियुक्तों के अलावे अन्य अपराधियों की भूमिका पर भी पुलिस जांच कर रही है। हत्याकांड में शूटर की भूमिका निभाने वाले को अब तक पुलिस चिन्हित नहीं कर पायी है। पुलिस कप्तान आशीष भारती के मुताबिक सभी बिंदुओं पर जांच संवेदनशीलता के साथ जारी है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored