Header 300×250 Mobile

बादल छाए रहेंगे पर अब बारिश कम होगी

मनिहारी में हुई सबसे अधिक 250 मिमी बारिश, रविवार से बढ़ने लगेगा पूरे सूबे का तापमान

- Sponsored -

390

- Sponsored -

- sponsored -

पटना (voice4bihar desk)। एक जून तक के पूर्वानुमान में मौसम विभाग का कहना है इस दौरान आसमान में बादल छाए रहेंगे, लेकिन पिछले दो दिनों के मुकाबले में बारिश बहुत कम होगी। शनिवार को हल्की बारिश होगी हालांकि दिन भर बादल छाये रहेंगे जिसके कारण मौसम खुशनुमा बना रहेगा। मौसम विभाग के अनुसार, शनिवार को न्यूनतम तापमान 20 डिग्री और अधिकतम तापमान 29 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहेगा। हालांकि शनिवार के बाद तापमान बढ़ना शुरू होगा और एक जून को यह बढ़कर 35 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच जायेगा।

पिछले 24 घंटे में पूरे बिहार में कहीं हल्की तो कहीं भारी बारिश हुई। मनिहारी (कटिहार) में सबसे अधिक 250 मिली मीटर बारिश हुई। पटना जिले में औसत 26.90 मिमी बारिश हुई। पटना जिले में फतुहा में सर्वाधिक 78.8, बाढ़ में 68.2, दुल्हिनबाजार 42.2, अथमलगोला में 39.8, खुशरूपुर में 39.4, बख्तियारपुर में 37.8, दनियावां में 36.4, पंडारक 36 मोकामा 33, घोसवरी 32 और पटना सदर में 24.8 मिमी बारिश हुई। मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में कहा है कि शनिवार को प्रदेश के अधिकांश जिलों में कुछ स्थानों पर गरज के साथ वर्षा हो सकती है।

विज्ञापन

राजधानी पटना से सटे फतुहा के एक मोहल्ले का हाल।

इधर, डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के ग्रामीण कृषि मौसम सेवा, एवं भारत मौसम विज्ञान विभाग के सहयोग से जारी 2 जून तक के मौसम पूर्वानुमान के अनुसार यास चक्रवात के कारण बिहार तथा पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर बने कम दबाव के क्षेत्र के प्रभाव से उत्तर बिहार के जिलों में लगातार मध्यम से भारी वर्षा का दौर जारी है और इसके अगले 24 घंटो तक यानि 29 मई दोपहर तक जारी रहने की सम्भावना है। इसके बाद वर्षा में थोड़ी कमी आ सकती है।

वहीं 30 मई तक अनेक स्थानों पर हल्की वर्षा होने की सम्भावना है। इसके बाद मौसम के शुष्क रहने का अनुमान है। इस अवधि में अधिकतम तापमान 27-30 डिग्री सेल्सियस जबकि न्यूनतम तापमान 20-22 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रह सकता है। सापेक्ष आर्द्रता सुबह में 80 से 90 प्रतिशत तथा दोपहर में 60 से 70 प्रतिशत रहने की संभावना है। पूर्वानुमानित अवधि में औसतन 12 से 22 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से मुख्यतः पुरवा हवा चलने का अनुमान है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored