Header 300×250 Mobile

बिहार के सबसे बड़े अफसर को कोरोना ने निगला, मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की मौत

अफसरों पर कोरोना का कहर, राज्य में सचिव स्तर के तीन अफसरों की जा चुकी जान

- Sponsored -

280

- Sponsored -

- sponsored -

कैमूर के जिला कल्याण पदाधिकारी व नालंदा की जिला शिक्षा पदाधिकारी की भी हो चुकी है मौत

प्रखंड विकास पदाधिकारी के तौर पर कार्यरत तीन अफसर भी गंवा चुके हैं जान

पटना (Voice4bihar news)। एक दिन पहले ही उद्योग विभाग के निदेशक को गंवाने के बाद बिहार ने शुक्रवार को अपने सबसे बड़े ओहदेदार अफसर को गंवा दिया। राज्य के मुख्य सचिव अरुण कुमार सिंह की शुक्रवार को कोरोना से मौत हो गई। उन्होंने राजधानी के एक बड़े निजी अस्पताल पारस एचएमआरआई में आज आज दोपहर बाद अंतिम सांस ली। 15 अप्रैल को कोरोना पॉजिटिव होने के बाद से वे इलाज के लिए यहां भर्ती थे। राज्य सरकार ने अपने मुख्य सचिव के निधन की पुष्टि कर दी है।

भारतीय प्रशासनिक सेवा के 1985 बैच के अधिकारी अरुण कुमार सिंह को 27 फरवरी 2021 को ही बिहार का मुख्य सचिव बनाया गया था इससे पहले अरुण कुमार सिंह बिहार के विकास आयुक्त की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। अरुण कुमार सिंह इसी वर्ष 31 अगस्त को रिटायर्ड होने वाले थे। लेकिन उससे पहले ही कोरोना ने उनकी जिंदगी छीन ली। उनके निधन पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद, नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव, पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी सहित अनेक नेताओं ने शोक जताया है।

विज्ञापन

उल्लेखनीय है कि अरुण सिंह बिहार के पश्चिम चंपारण के रहने वाले थे। मुख्य सचिव बनने से पहले वे विकास आयुक्त के अलावा बिहार लोक प्रशासन एवं ग्रामीण विकास संस्थान के महानिदेशक का पद भी संभाल रहे थे। अरुण सिंह काफी सालों तक जल संसाधन विभाग की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं। इसके अलावा पथ निर्माण विभाग और सूचना एवं प्रौद्योगिकी विभाग में भी सचिव रह चुके थे।

बिहार में बेकाबू होते कोरोना संक्रमण ने अब तक कई महत्वपूर्ण हस्तियों की जान ले ली है। सत्ताधारी जदयू विधायक व पूर्व मंत्री मेवालाल के निधन के बाद, विधान सभा अध्यक्ष विजय कुमार सिंह की कोरोना से मौत हो चुकी है। उद्योग विभाग के निदेशक पंकज कुमार सिंह समेत दो आईएएस अफसरों की जान भी कोरोना से जा चुकी है। इसके अलावा कैमूर के जिला कल्याण पदाधिकारी, नालंदा के जिला शिक्षा पदाधिकारी, सीवान, समस्तीपुर व मोतिहारी में तीन बीडीओ की मौत भी कोरोना से हो चुकी है।

read also : नहीं रहे आजतक चैनल के वरिष्ठ पत्रकार रोहित सरदाना

इधर सरकार ने कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर बिहार विधानसभा को 15 मई तक बंद कर दिया है। बिहार विधान सभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने बताया कि सभा सचिवालय के कर्मियों तथा उनके परिजनों में अप्रत्याशित रूप से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है । पिछले दिनों एक सदस्य सहित सभा सचिवालय के कर्मियों एवं उनके परिजनों का निधन हो चुका है ।

कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रामण की चेन को तोड़ने के लिए बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने 3 मई से 15 मई, 2021तक अति महत्वपूर्ण कार्यों के निष्पादन को छोड़कर सचिवालय को बंद करने का आदेश दिया है । इस दौरान संसदीय समितियों की बैठकें भी स्थगित रहेंगी। दूसरी ओर मुख्य सचिव के निधन की खबर आते ही नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सोशल मीडिया के माध्यम से शोक जताया है। उन्होंने कहा- बिहार सरकार के मुख्य सचिव अरूण कुमार सिंह जी की कोरोना संक्रमण के कारण हुई असामयिक मौत पर मर्माहत हूं। कुछ कहने को शब्द नहीं।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored