Header 300×250 Mobile

बीडीसी मेम्बर बनी भाजपा नेता की पत्नी का जाति प्रमाणपत्र निकला फर्जी, बढ़ सकती हैं मुश्किलें

नवनिर्वाचित बीडीसी रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र पर विवाद में आया नया मोड़

- Sponsored -

953

- sponsored -

- Sponsored -

रूपा का प्रमाण पत्र तत्काल प्रभाव से रद्द लेकिन नहीं दर्ज हुआ जालसाजी का मुकदमा

प्रशासन की मंशा पर उठे सवाल, निर्वाचन की वैधता को लेकर डीएम के निर्णय पर टिकीं निगाहें

अभिषेक कुमार सुमन  के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट
सासाराम (voice4bihar news)। सासाराम प्रखंड के नहौना पंचायत से बीडीसी पद पर निर्वाचित रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र फर्जी होने के लगे आरोप ने नया मोड़ ले लिया है। साथ ही इस बाबत Voice4bihar news की एक्सक्लुसिव खबर पर प्रशासन की मुहर भी लग गई है।प्रशासनिक जांच में प्रमाण पत्र को फर्जी घोषित कर दिया गया है। जाति प्रमाणपत्र को नोखा अंचलाधिकारी ने फर्जी घोषित किया है। हालांकि दोष साबित होने के बाद भी फर्जीवाड़ा का मुकदमा दर्ज नहीं होना भी सवालों के घेरे में है।

क्या कहा है अंचलाधिकारी ने?

नोखा अंचलाधिकारी ने 04 जनवरी 2022 को ही सासाराम प्रखंड विकास पदाधिकारी को प्रेषित पत्र संख्या 01 मुख्य/22 के द्वारा विविध वाद संख्या 01/2021-22 संधारित कर सुनवाई की थी।  अंचलाधिकारी ने रूपा कुमारी, पिता-यदुनंदन राम, माता-पुतुल देवी, ग्राम-डुमरा, पोस्ट-श्रीखिंडा के नाम दिनांक 14/09/21 को निर्गत जाति प्रमाणपत्र बीसीसीसीओ/2021/4739539 को गलत करार देते हुए  दिनांक 14/09/21 के प्रभाव से हीं रद्द करने का आदेश जारी किया है।

रूपा कुमारी के जाति प्रमाण पत्र मामले में फर्जीवाड़ा उजागर होने के पश्चात हरकत में आए प्रशासनिक अधिकारी द्वारा हुए पत्राचार के बाद अंतिम परिणाम के तौर पर जाति प्रमाण पत्र तत्काल प्रभाव से रद्द किया जा चुका है। ऐसे में भाजपा नेता सनी देओल चंद्रवंशी की बीडीसी पत्नी रूपा कुमारी के निर्वाचन पर तलवार लटकना लाजमी है।

फर्जी जाति प्रमाणपत्र के सहारे बीडीसी बनी भाजपा नेता की पत्नी!

फर्जीवाड़ा के दोषियों पर नहीं दर्ज हुई प्राथमिकी, अंचलाधिकारी की कार्यशैली पर सवाल

जाति प्रमाणपत्र के फर्जी साबित होने के बाद उक्त फर्जी जाति प्रमाणपत्र को तत्काल प्रभाव से रद्दीकरण के आदेश के बावजूद आवेदिका के विरूद्ध अब तक नोखा अंचलाधिकारी द्वारा जालसाजी का मुकदमा दर्ज नहीं किया जाना नोखा अंचलाधिकारी की कार्यशैली पर सवाल खडा करता है।

विज्ञापन

फोन पर जानकारी साझा करने से अंचलाधिकारी का इनकार

बहरहाल इस बात नोखा अंचलाधिकारी का पक्ष जानने के लिए सरकारी मोबाईल नम्बर 8544412825 पर संवाददाता बजरंगी कुमार ने बात की तो नोखा अंचलाधिकारी द्वारा दूरभाषिक वार्तालाप में इस मामले पर कोई भी प्रतिक्रिया देने से साफ इंकार कर दिया गया और मुलाकात के बाद बैठ कर जानकारी साझा करने की बात अंचलाधिकारी ने संवाददाता से कही।

वहीं दूसरी ओर इस बाबत पूछे जाने पर सदर बीडीओ रोज़ी रानी ने पूरे मामले की जानकारी निर्वाचन शाखा को प्रेषित करते हुए निर्वाचन आयोग से निर्गत निर्देश के आलोक में कारवाई की बात कहीं है अब तक कोई निर्देश नहीं मिलने का दावा सदर बीडीओ श्रीमती रानी ने किया है ।

दिसम्बर में गरमाया था मामला

सासाराम प्रखंड के नहौना पंचायत से बीडीसी पद पर निर्वाचित रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र पर फर्जी होने का आरोप दिसम्बर में लगा था आरोप लगते हीं जिला मुख्यालय के सियासी पारे में उबाल आ गया था । नहौना पंचायत की बीडीसी रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र को फर्जी बताते हुए जांच की मांग उठी थी यह मांग नहौना पंचायत के बिसुनपुरा निवासी सद्दाम हुसैन ने जिलाधिकारी सहित कई वरीय अधिकारियों को लिखित आवेदन पत्र देकर उठाया था। नहौना की बीडीसी रूपा कुमारी भाजपा नेता सन्नी देओल चंद्रवंशी की पत्नी हैं। मामले की सत्यता उजागर होते हीं आवेदक के हौसले बुलंद होते दिख रहे हैं ।

झारखंड में मायका नोखा से जारी हुआ था प्रमाण पत्र

अधिकारियों को लिखित आवेदन देकर नहौना पंचायत की बीडीसी रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र पर सवाल खडा करने वाले आवेदक सद्दाम हुसैन के मुताबिक सन्नी देओल चंद्रवंशी की पत्नी रूपा कुमारी का मायका झारखंड के खेलारी गांव अंर्तगत गली नम्बर 05 में है जबकि बीडीसी के प्रत्याशी के तौर पर नोखा प्रखंड के डुमरा(श्रीखिंडा) गांव को मायका बताते हुए निर्गत जाति प्रमाणपत्र बीसीसीसीओ/2021/4739539 का प्रयोग किया गया है ।

अब लगे आरोप की पुष्टि होने के बाद सियासत में नयी सरगर्मी आ चुकी है । नोखा अंचलाधिकारी द्वारा रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र को फर्जी बताते हुए निर्गत तिथि से हीं रद्द करार दिया गया है जो आवेदक के पक्ष को मजबूती प्रदान करता है और निश्चित तौर पर

भाजपा नेता पति ने आरोप को कहा था बेबुनियाद
नहौना पंचायत की बीडीसी रूपा कुमारी के जाति प्रमाणपत्र पर फर्जी होने के आरोप के बाबत दूरभाषिक वार्तालाप में हमारे संवाददाता बजरंगी कुमार से बातचीत के दौरान रूपा कुमारी के पति सनी देओल चंद्रवंशी ने पूरे मामले को बेबुनियाद और निराधार बताया था।

सन्नी देओल चंद्रवंशी भाजपा युवा मोर्चा के महामंत्री हैं खुद यह बात स्वीकार करते हुए मामले को बेबुनियाद बताया था। अब चूंकि आरोप पूर्णतः साबित होने के बाद जाति प्रमाणपत्र रद्द हो चुका है तो मामले में सन्नी दिओल चंद्रवंशी का मतंब्य कोई मायने नहीं रखता।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored