Header 300×250 Mobile

फर्जी वाहन पास बनाकर लॉकडाउन में दौड़ा रहे थे गाड़ियां

डेहरी में पुलिस प्रशासन का छापा, फर्जीवाड़ा करने वाले पांच गिरफ्तार

- Sponsored -

344

- Sponsored -

- sponsored -

डेहरी थाना चौक व सुभाष नगर में बनाये जा रहे थे फर्जी वाहन पास

रोहतास से बजरंगी कुमार सुमन की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। कोरोना काल लॉकडाउन के दौरान सरकारी सेवा में लगे वाहनों को परमिट देने तथा आपात यात्रा को सुगम बनाने के मकसद से जारी किये जाने वाला वाहन पास भी अब फर्जीवाड़ा करने वालों की नजर से नहीं बच पाया। जिलाधिकारी या उनके अधीनस्थ एसडीओ रैंक के अफसर के हस्ताक्षर से जारी होने वाले वाहन पास को फर्जी तरीके से बनाये जाने का खुलासा रोहतास जिले में हुआ है।

विज्ञापन

लॉकडाउन में सड़कों पर सरपट गाड़ी दौड़ाने के लिए सरकारी पास की अनिवार्यता को देखते हुए आपदा को अवसर बनाने वालों ने काली कमाई का जरिया बना लिया। इसका खुलासा रोहतास जिले के डेहरी पुलिस प्रशासन ने किया है। इस दौरान फर्जी वाहन पास बनाने वाले एक कार्यालय को चिह्नित करते हुए पुलिस ने बड़ी कार्रवाई की है।

फर्जीवाड़ा की सूचना पर डेहरी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, एएसपी सुनील कुमार एवं अनुमंडल दंडाधिकारी डेहरी के नेतृत्व में डेहरी थाना चौक पर एक कंप्यूटर सेंटर दुकान एवं सुभाष नगर में स्थित दो कंप्यूटर सेंटर दुकान पर छापेमारी की गयी। सभी दुकानदार आपदा को अवसर बनाते हुए फर्जी वाहन पास जारी करने का धंधा धड़ल्ले से कर रहे थे। ये लोग रुपये लेकर फर्जी वाहन पास बना रहे थे।

छापेमारी के दौराना कुल 5 लोगों की गिरफ्तारी हुई है एवं तीन लैपटॉप जब्त किये गए हैं। डेहरी नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज की गयी है। पुलिस ने पूछताछ के बाद सभी गिरफ्तार ब्यक्तियों को जेल भेज दिया है।

यह भी पढ़ें : 5 हजार रुपये वाले ऑक्सीजन के वसूलते थे 30-35 हजार रुपये

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT