Header 300×250 Mobile

कोलकाता- दिल्ली नेशनल हाईवे पर गांजा की बड़ी खेप के साथ कार जब्त

पुलिस ने खदेड़ा तो वाहन छोड़कर भाग निकला कार चालक

- Sponsored -

309

- sponsored -

- Sponsored -

बलेनो की डिक्की और सीट के नीचे रखा था 146 किलो गांजा

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। एनएच-2 पर कोलकाता से वाराणसी की ओर जाने वाली लाइन में चलाए जा रहे वाहन जांच अभियान के दौरान एक कार से 146 किलोग्राम गांजा पकड़ा गया है। रोहतास पुलिस कप्तान आशीष भारती को मिली गुप्त सूचना के आलोक में दरिगांव पुलिस ने शनिवार को यह कार्रवाई की है। यह कार डेहरी ऑन सोन की तरफ से आ रही थी। महरनियां कैम्प के पास कार को पकड़ा गया, लेकिन चालक भागने में सफल रहा।

रोहतास पुलिस कप्तान ने बताया है कि पुलिस को मिले इनपुट के आधार पर वहां चेकिंग अभियान चलाया जा रहा था, जहां गांजा लोडेड बलेनो कार पहुंचते ही तेज रफ्तार से भागने लगी लेकिन पुलिस ने तत्परता से उसे पीछा कर दबोच लिया। इस दौरान बलेनो का चालक भागने में सफल रहा। कार की विधिवत तलाशी के दौरान डिक्की में एवं पीछे वाले सीट से गंजा के 10 बड़े बंडल एवं पांच छोटे बंडल बरामद किये गए। जब्त गांजा का कुल वजन 146 किलोग्राम है।

गांजा तस्करी का नेटवर्क तलाशने के लिए एसआईटी गठित

विज्ञापन

गांजा के साथ-साथ बलेनो कार भी पुलिस ने जप्त कर प्राथमिकी दर्ज करते हुए अग्रेतर कारवाई शुरू कर दी है। गांजा सप्लाई के नेटवर्क को खंगालते हुए कार मालिक सहित गांजा तस्कर की गिरफ्तारी के लिए एसआईटी गठन की बात पुलिस कप्तान आशीष भारती ने कही है।

दो दिन पूर्व नटवार से मिली थी गांजे की खेप, पकड़े गए थे तीन तस्कर

रोहतास जिले में 2 दिनों के भीतर दूसरी बार गांजा की खेप पकड़ी गयी है। पिछले दिनों बिक्रमगंज के नटवार में 14.7 किलो गांजा के साथ महिला सहित तीन तस्करों की गिरफ्तारी हुई थी। दरअसल, रोहतास के पुलिस अधीक्षक आशीष भारती को मिली सूचना के आधार पर पुलिस टीम का गठन किया गया था। टीम ने नटवर थाना अंतर्गत सरांव बाजार में गंजा तस्करी के ठिकानों की घेराबंदी कर छापेमारी की थी। इस दौरान 150 ग्राम गांजा के साथ सराव निवासी स्वर्गीय राम गति सिंह के पुत्र राम बचन सिंह को गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तार रामबचन सिंह से कड़ी पूछताछ के दौरान अन्य लोगों की संलिप्तता उजागर हुई जिसकी निशानदेही पर दो अन्य तस्कर को भी गिरफ्तार किया गया। जो नटवार बाजार निवासी बनारसी गोस्वामी का पुत्र राजेंद्र गोस्वामी एवं राजेंद्र गोस्वामी की पत्नी गुड़िया देवी बताई गयी है। इन दोनों के पास से 13 केजी 200 ग्राम गांजा बरामद किया गया था। थानाध्यक्ष द्वारा कड़ी पूछताछ के दौरान बड़े सप्लायरों से गांजा खरीद कर आसपास के इलाकों में सप्लाई की बात तस्करों ने स्वीकार की थी।

पुलिस ने इस मामले में धारा 20/22 एनडीपीएस एक्ट के अनुसार कांड संख्या 49/22 दर्ज करते हुए तस्करों को जेल भेजा था। नटवार के बाद सासाराम हाईवे पर गांजा बरामदगी ने स्पष्टकर दिया है कि जिले में गांजा का कारोबार चरम पर है। इसके पूर्व नोखा करगहर करवंदिया और अदमापुर से पुलिस ने भारी मात्रा में गांजा बरामदगी की है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored