Header 300×250 Mobile

बिहार की 12 पंचायती राज संस्थाओं को मिला पंचायत पुरस्कार

देश भर के चार लाख लोगों को मिला अपनी संपत्ति का स्वामित्व कार्ड

- Sponsored -

285

- sponsored -

- Sponsored -

पंचायती राज दिवस पर ऐलान, संपत्ति स्वामित्व योजना पूरे देश में होगी लागू

पटना/मुजफ्फरपुर (voice4bihar news)। राष्ट्रीय पंचायत राज दिवस के अवसर पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पंचायती राज मंत्रालय की ओर से दिए जाने वाले पांच प्रकार के पंचायत पुरस्कार से नवाजा। इस अवसर पर विभिन्न क्षेत्रों में बेहतर काम करने वाले बारह राज्यों की 313 पंचायतों को पंचायत पुरस्कार से सम्मानित भी किया गया। इस कार्यक्रम को देश के सभी जिला मुख्यालयों के एनआईसी भवन में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदर्शित किया गया। मुजफ्फरपुर समाहरणालय के एनआईसी भवन में भी इस कार्यक्रम का वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के द्वारा प्रसारण किया गया। इस कार्यक्रम में राज्य के राजस्व व भूमि सुधार मंत्री रामसूरत कुमार उपस्थित थे।

कार्यक्रम के बारे में रामसूरत कुमार ने बताया कि शनिवार को प्रधानमंत्री ने दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार, नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार, बाल हितैषी ग्राम पंचायत पुरस्कार, ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार की शुरुआत के साथ ही ई पंचायत के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली देश की कुल 313 पंचायतों तथा 12 राज्यों को पुरस्कृत किया। वीडियो कॉफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित इस कार्यक्रम की अध्यक्षता केंद्रीय मंत्री पंचायत राज मंत्रालय कृषि एवं किसान कल्याण, ग्रामीण विकास एवं खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने की। इसमें देश के कई राज्यों के मुख्यमंत्री, ग्रामीण विकास मंत्री, पंचायती राज मंत्री, राजस्व एवं भूमि सुधार मंत्री उपस्थित थे।

संपत्ति स्वामित्व योजना के तहत बांटे गए ई-स्वामित्व कार्ड

विज्ञापन

24 अप्रैल 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू की गयी संपत्ति स्वामित्व योजना के एक साल पूरे होने पर आज देश के कुल चार लाख से अधिक लाभुकों को डिजिटल माध्यम से ई-स्वामित्व कार्ड निर्गत किया गया। इस योजना के अंतर्गत लोगों को उनकी संपत्ति व आवासों के स्वामित्व से संबंधित प्रमाण पत्र निर्गत किया जाना है। आज पंचायती राज दिवस पर ई स्वामित्व कार्ड वितरण के साथ ही इस योजना को वर्ष के अंत तक पूरे देश में इसे लागू करने का लक्ष्य रखा गया है।

बिहार की 7 ग्राम पंचायतें, 4 पंचायत समितियों व 1 जिला परिषद को मिला पंचायत पुरस्कार

सीतामढ़ी जिले की ग्राम पंचायत बघाड़ी को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम सभा पुरस्कार ये नवाजा गया। यह पुरस्कार ग्राम सभाओं के माध्यम से गांवों की सामाजिक और आर्थिक संरचना में सुधार से संबंधी उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली ग्राम पंचायतों को दिया जाता है।
रोहतास जिले की बिसैनी कला पंचायत को पंचायत डेवलपमेंट प्लान अवार्ड मिला। जबकि नालंदा जिले की कोसियावा पंचायत को चाइल्ड फ्रैंडली ग्राम पंचायत अवार्ड दिया गया। प्रत्येक राज्य से एक ही ग्राम पंचायत का चयन बेस्ट चाइल्ड फ्रेंडली पुरस्कार के लिए किया जाता है।

पंडित दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तीकरण पुरस्कार की श्रेणी में बिहार की एकमात्र नालंदा जिला परिषद है जबकि चार पंचायत समितियों इमामगंज (गया), गया सदर (गया), अकोढ़ीगोला (रोहतास), कुटुम्बा (औरंगाबाद) को भी इस पुरस्कार से नवाजा गया। इसके अलावा चार ग्राम पंचायतें भी इस श्रेणी में पुरस्कृत हुई हैं, जिनमें सबैत (नालंदा), असराहा (दरभंगा), मोहनपुर (समस्तीपुर) व औरांव (गया) के नाम शामिल हैं। रोहतास की अकोढ़ीगोला पंचायत समिति को यह पुरस्कार लगातार दूसरी बार मिला है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT