Header 300×250 Mobile

रोहतास में बड़े लुटेरा गिरोह का पर्दाफाश, मुख्य सरगना सहित पांच गिरफ्तार

दो ट्रैक्टर, दो मोटरसाइकिल एक देसी कट्टा एवं एक मोबाइल बरामद

- Sponsored -

338

- sponsored -

- Sponsored -

अभिषेक कुमार सुमन के साथ बजरंगी कुमार की रिपोर्ट

सासाराम (voice4bihar news)। रोहतास जिले के सबसे बड़े लुटेरा गिरोह का भंडाफोड़ हुआ है। पुलिस ने बड़ी कार्रवाई करते हुए अपराधियों के विरुद्ध जिले में विशेष छापेमारी अभियान चलाकर विभिन्न थाना क्षेत्रों में लूट व चोरी कांड का उद्भेदन करते हुए पांच अपराधियों की गिरफ्तारी की है। इस लुटेरे गिरोह के पास से लूटी गई दो ट्रैक्टर व दो मोटरसाइकिल भी बरामद की गयी है। इसके साथ ही एक देसी कट्टा सहित एक मोबाइल भी जब्त की गयी है। लंबे समय से पुलिस का सिरदर्द बने इस गिरोह के खिलाफ रोहतास जिले में एक दर्जन से ज्यादा लूट के मामले दर्ज हैं।

झारखंड से जुड़ा हुआ है लुटेरा गिरोह का तार

पुलिस का कहना है कि इस गिरोह का तार झारखंड एवं बिहार के औरंगाबाद जिले से जुड़ा हुआ है। यह गिरोह रोहतास जिला के विभिन्न थाना क्षेत्रों से लूटी गयी एवं चोरी की गई ट्रैक्टर को झारखंड के विभिन्न जिलों एवं बिहार के औरंगाबाद जिले में सप्लाई करने का काम करता है। इसका खुलासा गिरफ्तार अपराधियों ने खुद ही किया है। यह गिरोह बड़े वाहन से लेकर मोटरसाइकिल व मोबाइल लूटने में भी गुरेज नहीं करता था। गिरोह को बेनकाब करने के लिए सासाराम मुफस्सिल थाना अध्यक्ष रिजवान अहमद खान, राजपुर थाना अध्यक्ष उमेश कुमार, भानस ओपी अध्यक्ष उपेंद्र कुमार आदि ने पुलिस बल के साथ छापेमारी की।

रोहतास जिला के विभिन्न थानों में दर्जनों मामले हैं दर्ज

बताया जाता है कि लुटेरे गिरोह के विरुद्ध रोहतास जिला के विभिन्न थानों में लगभग एक दर्जन से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इसी क्रम में सासाराम मुफस्सिल थाना कांड संख्या 157/22 में शामिल अपराध कर्मियों का सुराग मिलने पर पुलिस ने उनके ठिकानों का पता लगाकर छापेमारी की। इस कांड में संलिप्त अपराधी नोखा थाना के डुमरा निवासी ईनर सिंह का पुत्र लड्डू और संतोष चंद्रवंशी एवं औरंगाबाद के रफीगंज थाना अंतर्गत बलीगांवा निवासी बैद्यनाथ महतो के पुत्र रंजीत मेहता उर्फ़ रंजीत कुमार और सासाराम मुफस्सिल थाना क्षेत्र के मेदनीपुर निवासी अयोध्या सिंह के पुत्र आदित्य कुमार को पकड़ा गया।

कड़ाई से की गयी पूछताछ में लुटेरों ने जुर्म कबूल कर लिया। इनकी निशानदेही पर कांड संख्या 150/22 एवं कांड संख्या 157/22 में लूटी गई दो ट्रैक्टर को भी बरामद किया गया। इसी प्रकार राजपुर थाना कांड संख्या 103/22 दर्ज मामले में लूटी गई दो मोटरसाइकिल की बरामदगी एवं अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए कई ठिकाने पर दबिश दी गयी, जिसमें कांड में शामिल एक अपराधी को गिरफ्तार किया गया। पकड़ा गया बदमाश नोखा थाना क्षेत्र के जगरनाथ टोला निवासी राम इकबाल चौधरी का पुत्र रवि चौधरी बताया जा रहा है। इसके पास से लूटी गई मोटरसाइकिल भी बरामद की गयी है।

विज्ञापन

राजपुर में लूटी गयी थी बाइक, भानस में मोबाइल फोन

8 अगस्त 2022 को राजपुर थाना क्षेत्र से एक मोटरसाइकिल लूटी गयी थी। इस संबंध में राजपुर थाना में कांड संख्या 103/22 दर्ज है। इसी प्रकार भानस ओपी अंतर्गत 11 अगस्त को अज्ञात अपराधियों ने दो मोबाइल लूट लिये। जिसमें भानस ओपी कांड संख्या 189/22 दर्ज किया गया। इसी कांड में लूटी गई मोबाइल की बरामदगी व अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए अपराधियों के ठिकानों पर छापेमारी की गयी। जिसमें गिरफ्तार अपराधी नोखा थाना क्षेत्र के डांगरा टोला निवासी राजाराम चौधरी के पुत्र रंजीत चौधरी उर्फ मिसिर को गिरफ्तार किया गया। उसके साथ में एक नाबालिक को भी गिरफ्तार किया गया। इस कांड में लूटी गई एक मोबाइल एवं घटना में प्रयुक्त देसी कट्टा सहित एक मोटरसाइकिल बरामद किया गया है। इन अपराधियों ने सारे दर्ज मामलों में अपनी-अपनी संलिप्तता स्वीकार की है।

लड्डू एवं आदित्यमल हैं गिरोह के मुख्य सरगना

इस गिरोह का मुख्य सरगना सासाराम मुफस्सिल थाना अंतर्गत मेदनीपुर निवासी आदित्यमल एवं नोखा थाना अंतर्गत डुमरा निवासी लड्डू को बताया जा रहा है। इन दोनों अपराधियों के द्वारा रोहतास जिला के विभिन्न थाना क्षेत्रों से लूटी गई एवं चोरी की गई ट्रैक्टरों का खरीद बिक्री करने के लिए बिहार का औरंगाबाद एवं झारखंड के विभिन्न जिलों में खरीद बिक्री किया जाता है।

गिरफ्तार अपराधियों का लंबा आपराधिक इतिहास

रवि चौधरी पर आईपीसी की धारा 392 के तहत सासाराम मुफस्सिल में कांड संख्या 157/ 22 दर्ज है। इसके अलावा धारा 395 के तहत राजपुर थाना कांड संख्या 103/22 का नामजद आरोपी है। इसी तरह रंजीत चौधरी उर्फ मिसिर के खिलाफ आईपीसी की धारा 397414 एवं 25 (1_b)a 25/35 आर्म्स एक्ट के तहत भानस ओपी कांड संख्या 289/22 दर्ज है। लड्डू उर्फ संतोष चौधरी के खिलाफ आईपीसी की धारा 379 के तहत सासाराम मुफस्सिल थाना कांड संख्या 150/22 दर्ज है। इसके अलावा सासाराम मुफस्सिल थाना कांड संख्या 157/22 में धारा 392 के तहत केस दर्ज है। राजपुर थाना कांड संख्या 103/22 में आईपीसी की धारा 395 एवं भानस थाना कांड संख्या 289/22 में धारा 25(1_b)a 26/35 आर्म्स एक्ट के तहत केस दर्ज है।

गिरोह के सरगना आदित्यमल का अपराधिक इतिहास

पुलिस सूत्रों के अनुसार मेदनीपुर निवासी आदित्यमल के खिलाफ कई संगीन मामले दर्ज हैं। सासाराम मुफस्सिल थाना कांड संख्या 150/22 में धारा 379 के तहत केस दर्ज है। वहीं मुफस्सिल थाना कांड संख्या 157/22 में धारा 392 के तहत बीते अप्रैल माह में केस दर्ज हुआ था। इसके अलावा मुफस्सिल थाना कांड संख्या 85/20 में धारा 25/26/35 आर्म्स एक्ट का मामला एवं कांड संख्या 162/18 में आईपीसी की धारा 366 के तहत मुजरिम है। साथ ही रोहतास थाना कांड संख्या 185/19 में आईपीसी की धारा 364/ 385/ 386 के तहत केस दर्ज किया गया है।

- Sponsored -

- Sponsored -

- Sponsored -

ADVERTISMENT